News18 हिंदी - Hindi News
स्वास्थ्य

YOGA SESSION: शरीर में रक्‍त संचार को बेहतर रखने के लिए करें कपालभाति, जानें इसे करने का सही तरीका

Yoga Session With Savita Yadav: कपालभाति दरअसल फोर्सफुली एक्‍हेलेशन क्रिया है जो पूरे शरीर में रक्‍त संचार को बेहतर करने में मदद करता है. बॉडी में अगर कहीं नर्व दब रही है या कहीं रक्‍त के संचार में गड़बड़ है तो आप कपालभाति की मदद से इसे ठीक कर सकते हैं. लेकिन इसे करते वक्‍त काफी सावधानियां भी बरतने की जरूरत होती है. अगर आपको पेट से जुड़ी कोई समस्‍या है तो इसे ना करें. यही नहीं, प्रेगनेंसी में भी कपालभाति (Kapalbhati) नहीं करनी चाहिए. अगर आप हार्ट पेशनेंट हैं तो डॉक्‍टर की सलाह पर धीमी गति से ही इसे करें. अगर आप कोविड से रिकवर कर रहे हैं और आपका लंग्‍स कमजोर है तो भी इसे करते वक्‍त बहुत अधिक सावधानियां बरतने की जरूरत है.

इन बातों को रखें ख्‍याल
-पहला नियम है कि कपालभाति का अगर आप अच्‍छा प्रभाव चाहते हैं तो आप इसे पद्मासन की मुद्रा में करें. लेकिन अगर आप पद्मासन नहीं लगा पाते हैं तो अर्ध पद्मासन में बैठकर इसे कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- Yoga Session: सूर्य नमस्कार से पहले करें जंपिंग जैक्स, सेहत को होगा फायदा

-दूसरा नियम है कि आपकी कमर गर्दन सीधी होनी चाहिए. अगर आप चेयर पर बैठकर इसे कर रहे हैं तो कमर को सीधा कर ही इसे करें.
-कपालभाति फोर्सफुली एक्‍हेलेशन है जिसमें तेजी से नाक से हवा को बाहर निकालने का अभ्‍यास किया जाता है.
-बहुत लोग पेट पर प्रेशर लगाकर इसे करते हैं तो ये गलत तरीका है. आपको केवल नाक से तेजी से वायू को लय में निकालना है. इस विडियो को आप यहां दिए गए लिंक पर देख सकते हैं.

कपालभाति कैसे करें
पहला चक्र 2 मिनट का करना है. इसे करने के लिए आप पद्मासन में बैठें और नाक से वायू को तेजी से बाहर निकालें. 2 मिनट पूरा होने पर गहरी सांस लें और रिलैक्‍स करें.

यह भी पढ़ें- YOGA SESSION: कैसे करें सूर्य नमस्कार? जानें सही तरीका और फायदे

दूसरा चक्र करने के लिए गहरी सांस लें और छोड़ें फिर गहरी सांस लें और फोर्स फुली कपालभाति करें. पूरा अभ्‍यास आप विडियो लिंक पर देख सकते हैं.

Tags: Benefits of yoga, Health, Lifestyle, Yoga

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.