स्वास्थ्य

world ors day 2021 ors is life saving from diarrhoea in infants children adults janiye ors solution ke fayde samp | World ORS day 2021: 5 साल से छोटे बच्चों के लिए वरदान है ORS, जानें वजह और घर पर बनाने का तरीका

हर साल 29 जुलाई को विश्व ओआरएस दिवस (World ORS Day 2021) मनाया जाता है, ताकि हम सभी को ओरल रीहाइड्रेशन साल्ट्स (Oral Rehydration Salts) की अहमियत का अंदाजा रहे. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि 5 साल की उम्र से छोटे बच्चों में मृत्यु होने का दूसरा सबसे बड़ा कारण डायरिया संबंधी समस्या (Diarrhoeal Diseases) है. डायरिया के कारण हुई शरीर में पानी की कमी को ओआरएस की मदद से दूर किया जा सकता है. ORS सिर्फ बच्चों के लिए ही नहीं, बल्कि वयस्कों और बुजुर्ग लोगों में भी डिहाइड्रेशन (पानी की कमी) की समस्या को दूर करता है.

ORS क्या है? (What is ORS?)
नेशनल हेल्थ पोर्टल का कहना है कि ORS की फुल फॉर्म ओरल रीहाइड्रेशन साल्ट्स है, जो कि डायरिया संबंधी समस्या को दूर करने का सबसे किफायती इलाज है. इसमें साल्ट (इलेक्ट्रोलाइट) और चीनी होती है. इन दोनों का मिश्रण शरीर में गट (पेट) से इलेक्ट्रोलाइट और पानी के अवशोषण को तेज करता है. जिससे डायरिया के कारण हो रही उल्टी और दस्त से राहत मिलती है. वहीं, यह डायरिया के कारण शरीर में पानी और साल्ट की कमी को पूरा करने में मदद करता है. भारत के नेशनल हेल्थ पोर्टल के मुताबिक, ORS के साथ Zinc की जोड़ी (ORS Jodi) एक्यूट डायरिया (Acute Diarrhoea) और डिहाइड्रेशन का सबसे प्रभावी इलाज है.

ये भी पढ़ें: World Hepatits Day Special: भारत में वैक्सीन मौजूद होने के बाद भी क्यों ज्यादा होती हैं हेपेटाइटिस से मौतें? जानें ऐसी ही कई जरूरी बातें

किस उम्र में कितना ORS घोल देना चाहिए? (ORS Doses)
आप ओआरएस के पैकेट (How to make ORS Solution) पर दिए दिशा-निर्देश के मुताबिक पानी मिलाकर निम्नलिखित मात्रा में ORS का सेवन करवाएं.

  1. 2 साल से कम उम्र के बच्चे: हर बार दस्त आने के बाद कम से कम 1/4 या 1/2 बड़ा कप (कप का आकार – 250 मिलीलीटर) ओआरएस घोल (ORS Solution) का सेवन करवाएं. हर 2 से 3 मिनट के बाद 1-2 चम्मच ओआरएस का घोल पिलाएं.
  2. 2 साल या ज्यादा उम्र के बच्चे: हर बार दस्त जाने के बाद 1/2 से 1 कप (कप का आकार – 250 मिलीलीटर) ओआरएस का घोल पिलाएं.
  3. 12 साल से बड़े बच्चे, वयस्क व बुजुर्ग: हर बार दस्त जाने के बाद 1 से 2 कप यानी 250 से 400 मिलीलीटर ओआरएस घोल का सेवन करें.

ORS घोल देने से जुड़ी सावधानी (Safety about ORS Intake)

  1. ओआरएस बनाते समय पैकेट पर दिए दिशा-निर्देश का पालन जरूर करें. उचित मात्रा में पानी मिलाएं.
  2. ओआरएस घोल बनाकर 24 घंटे से ज्यादा नहीं रखना चाहिए. क्योंकि उसमें बैक्टीरिया पनपने लग सकते हैं.
  3. ओआरएस पाउडर (ORS Powder) में गंदा पानी ना मिलाएं. आप पहले पानी को उबालें और फिर ठंडा करके ओआरएस घोल बनाएं.
  4. ORS को सिर्फ पानी में मिलाएं. इसके लिए दूध, सूप, जूस, सॉफ्ट ड्रिंक का इस्तेमाल ना करें.
  5. ओआरएस में अलग से चीनी ना मिलाएं.
  6. अगर ओआरएस घोल पीने के बाद उल्टी, चक्कर आदि आने की समस्या गंभीर होती है, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं.

ये भी पढ़ें: Endometriosis: इस बीमारी के कारण हो सकता है पीरियड्स में बहुत ज्यादा दर्द, मां बनने में आ सकती है बाधा

घर पर कैसे बनाएं ORS Solution?
नेशनल हेल्थ पोर्टल के मुताबिक घर पर ओआरएस सॉल्यूशन बनाने के लिए निम्नलिखित तरीका अपनाएं.

  • 1 लीटर साफ पानी, 6 चम्मच चीनी (करीब 30 ग्राम), आधा चम्मच नमक को मिलाकर ओआरएस सॉल्यूशन बनाएं.

ORS Solution पीने के फायदे (Benefits of ORS Solution)

  • डिहाइड्रेशन (पानी की कमी) दूर होता है.
  • डायरिया दूर करता है.
  • थकान और कमजोरी दूर होती है.
  • एक्सरसाइज के लिए ऊर्जा मिलती है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *