World Hypertension Day 2022: हाई ब्लड प्रेशर के इन 6 संकेतों और लक्षणों को भूलकर भी ना करें इग्नोर
स्वास्थ्य

World Hypertension Day 2022: हाई ब्लड प्रेशर के इन 6 संकेतों और लक्षणों को भूलकर भी ना करें इग्नोर

Symptoms of High Blood Pressure: आज के दिन पूरी दुनिया में ‘विश्व हाइपरटेंशन दिवस 2022’ मनाया जाता है. हाइपरटेंशन के बारे में सबसे खतरनाक बात ये होती है कि इसके होने पर भी जल्दी पता नहीं चलता है कि कोई व्यक्ति हाइपरटेंशन (Hypertension) से ग्रस्त है. वास्तव में, लगभग एक तिहाई लोगों को पता नहीं चलता कि उन्हें उच्च रक्तचाप की समस्या है, इसलिए भी इसे एक ‘साइलेंट किलर’ के रूप में जाना जाता है, इसके लक्षण जल्दी नज़र नहीं आते हैं. जो लक्षण नजर आते हैं, जैसे थकान, काम का दबाव उसे आम समस्या लोग समझ बैठते हैं. ऐसे में रेगुलर चेकअप करवाकर ही आप जान सकते हैं कि आपका ब्लड प्रेशर बहुत अधिक है या बहुत कम. ब्लड प्रेशर की जांच आप घर पर भी कर सकते हैं. ब्लड प्रेशर की समस्या को नज़रअंदाज करना कई बार हार्ट अटैक, स्ट्रोक, हार्ट फेलियर, याद्दाश्त में कमी, डिमेंशिया आदि का भी कारण बन सकता है. आइए जानते हैं उच्च रक्तचाप के कुछ शुरुआती संकेतों और लक्षणों के बारे में यहां.

इसे भी पढ़ें: World Hypertension Day 2022: किशोरों में हाइपरटेंशन के कारण और आयुर्वेद के अनुसार बचाव के उपाय

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण
वेबएमडी में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, यदि आपका रक्तचाप बहुत अधिक है, तो नीचे बताए गए इन लक्षणों पर आपको ध्यान देने की जरूरत है:
-बहुत तेज सिरदर्द
-नाक से खून बहना
-थकान या भ्रम होना
-आंखों से संबंधित समस्या
-सीने में दर्द होना
-सांस लेने में दिक्क्त
-दिल की अनियमित धड़कन
-पेशाब में खून आना
-छाती, गर्दन या कान में तेज दर्द होना

कुछ अन्य लक्षणों को लोग कभी-कभी उच्च रक्तचाप के लक्षण समझते हैं, लेकिन वे होते नहीं हैं:
-चक्कर आना
-घबराहट
-पसीना आना
-नींद न आना
-आंखों में खून के धब्बे
-चेहरा लाल होना

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी में हाई ब्लड प्रेशर मां-शिशु के लिए है जोखिम भरा, जानें, गर्भावस्था में हाइपरटेंशन के लक्षण

डॉक्टर से कब मिलें
यदि आपको ऊपर बताए गए कोई भी लक्षण लगातार नजर आते हैं, तो डॉक्टर से एक बार जरूर मिलना चाहिए. कई बार हाई ब्लड प्रेशर होने पर सिरदर्द या नाक से खून नहीं बहता है, लेकिन ऐसा हाइपरटेंसिव क्राइसिस में हो सकता है. इसमें ब्लड प्रेशर 180/20 से ऊपर होता है. हाइपरटेंसिव क्राइसिस में हार्ट अटैक या स्ट्रोक का जोखिम होता है या फिर अन्य गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं. यदि ब्लड प्रेशर बहुत अधिक ऊपर चला जाए और ऊपर बताए गए लक्षण भी नजर आएं, तो आराम करने के बाद फिर से बीपी की जांच करें. यदि बीपी जांच करने की मशीन में फिर भी अधिक आए, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं.

हाई ब्लड प्रेशर से संबंधित निम्न लक्षणों को यूं समझें

नाक से खून बहना – हिंदुस्तानटाइम्स डॉट कॉम में छपी एक खबर के अनुसार, नाक से खून आना कई बार साइनसाइटिस, लगातार नाक बहने या फिर उच्च रक्तचाप के कारण हो सकता है. यदि आपको भी ये समस्याएं नजर आएं, तो डॉक्टर के पास जाएं.

लगातार सिरदर्द होना – लगातार सिरदर्द होना भी अच्छा संकेत नहीं है. यह समस्या बेहद कॉमन है, लेकिन हाई बीपी में भी कई बार सिरदर्द हो सकता है. ऐसे में लगातार सिरदर्द हो, तो इलाज कराएं.

थकान महसूस होना – कई बार ऑफिस या फिर घर के किसी भी काम को पूरा करने में दिक्कत महसूस होती है. संभवत: यह हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है. यदि आप बिना शारीरिक मेहतन किए हुए बिना भी थका हुआ महसूस करते हैं, तो ब्लड प्रेशर की जांच करें या फिर डॉक्टर से मिलें.

सांस लेने में परेशानी महसूस करना- जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है, उन्हे कई बार सांस लेने में भी तकलीफ़ हो सकती है. हाइपरटेंशन का यह प्रमुख लक्षण होता है.

आंखों से संबंधित समस्या- अनियंत्रित ब्लड प्रेशर होने पर आंखों की सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है. यदि हाइपरटेंशन का इलाज ना किया जाए, तो इसके कारण धुंधला दिखाई दे सकता है.

सीने में दर्द होना- हाई ब्लड प्रेशर के लक्षणों में सीने में दर्द, भारीपन आदि महसूस करना भी शामिल है. अगर आपको भी ऐसा महसूस हो, तो इलाज कराएं.

इसके अलावा, अधिक पसीना आना, चिंता या तनाव की स्थिति बने रहना, बेचैनी महसूस करना, नींद आने की समस्या, चिड़चिड़ापन या चक्कर आना, घबराहट महसूस करना आदि लक्षणों को भी गंभीरता से लें और डॉक्टर से संपर्क करें.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.