News18 हिंदी - Hindi News
स्वास्थ्य

World Brain Day 2022: ब्रेन स्ट्रोक के लक्षण और खतरों के बारे में नहीं जानते 78% लोग ! सर्वे में हुआ खुलासा

हाइलाइट्स

भारत के 12 शहरों में ब्रेन स्ट्रोक के बारे में जागरूकता को लेकर यह सर्वे किया गया था.
ब्रेन स्ट्रोक के ट्रीटमेंट के बारे में सर्वे में शामिल महज 10 प्रतिशत लोग ही जानते थे.

Brain Stroke Survey: दुनियाभर में 22 जुलाई को ‘वर्ल्ड ब्रेन डे’ मनाया जाता है. ब्रेन हेल्थ को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल यह खास दिन सेलिब्रेट किया जाता है. विश्व में करोड़ों लोग ब्रेन की समस्याओं से जूझ रहे हैं और भारत में भी ऐसे मामलों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है. आपको जानकर हैरानी होगी कि हाल ही में किए गए एक सर्वे में पता चला है कि 78 फीसदी लोग ब्रेन स्ट्रोक के लक्षण और खतरों के बारे में नहीं जानते. ब्रेन स्ट्रोक गंभीर आपात स्थिति होती है, जिसकी वजह से तमाम लोगों की मौत हो जाती है. इस सर्वे की चौंकाने वाली बातें जान लेते हैं.

यह भी पढ़ेंः वेट लॉस के चक्कर में सेहत से खिलवाड़ कर रहे लोग, जानें 10 बड़ी गलतफहमी

78 फीसदी लोग नहीं जानते लक्षण और खतरे

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 12 शहरों में ब्रेन स्ट्रोक के बारे में जागरूकता को लेकर यह सर्वे किया गया था. इसमें शामिल केवल 22 फीसदी लोग ब्रेन स्ट्रोक के जोखिम और लक्षणों के बारे में जानते थे, जबकि 78 प्रतिशत लोगों को इस बारे में जानकारी नहीं थी. इससे भी ज्यादा हैरानी वाली बात है कि ब्रेन स्ट्रोक के ट्रीटमेंट के बारे में महज 10 प्रतिशत लोग ही जानते थे. इस मामले में 90 फीसदी लोग जागरूक नहीं थे. यह आंकड़े काफी चिंताजनक हैं. इस सर्वे में 12 शहरों से 4742 सैंपल इकट्ठा किए गए थे. इसके आधार पर निष्कर्ष निकाला गया.

सर्वे में ये बातें भी आईं सामने

इस सर्वे में यह भी पता चला कि भारत के छोटे शहरों और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग ब्रेन स्ट्रोक को लेकर सबसे कम जागरूक हैं. चंडीगढ़, लखनऊ और पुणे में करीब 30 फ़ीसदी लोग ब्रेन स्ट्रोक शब्द को लेकर जागरूक थे. साल 2019 की लैंसेट ग्लोबल हेल्थ की रिपोर्ट में यह भी पता चला कि महिलाओं में स्ट्रोक के मामले पुरुषों की तुलना में अधिक देखने को मिलते हैं. इस सर्वे को करने वाली संस्था की चिकित्सा निदेशक के मुताबिक भारत में लगातार ब्रेन स्ट्रोक की घटनाएं बढ़ रही हैं. इस बारे में जागरूकता फैलाने की तत्काल जरूरत है. सर्वे करने वाली संस्था भी जागरूकता के लिए काम करती है.

यह भी पढ़ेंः हर दिन 30 मिनट खुलकर करें डांस और इन बीमारियों को कहें ‘गुडबाय’

Tags: Brain, Health, Lifestyle, Mental health, Trending news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.