What is narcissist personality disorder what are its symptoms nav
स्वास्थ्य

What is narcissist personality disorder what are its symptoms nav

Narcissist Personality Disorder: ‘नार्सिसिस्ट’ मानसिक स्वास्थ्य स्थिति है जिसे नार्सिसिस्ट पर्सनैलिटी डिसऑर्डर (NPD) कहा जाता है. ये डिसऑर्डर कई तरह के पर्सनैलिटी डिसऑर्डर में से एक है. एनपीडी वाले लोगों में अपने स्वयं के महत्व का एक बड़ा हुआ भाव होता है. ऐसे लोगों में अपने पर अत्याधिक ध्यान देने की ललक और अपनी प्रशंसा की गहरी आवश्यकता, रिश्तों से परेशानी और दूसरों के लिए सहानुभूति की कमी होती है.

‘द मिरर’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार, इन लक्षणों वाले लोग अति आत्मविश्वास के साथ सामने आते हैं और यह शुरुआत में दूसरों को गुमराह कर सकते हैं. वे पहली बार में आकर्षक और करिश्माई भी दिख सकते हैं, इसलिए अपने नकारात्मक व्यवहार को तुरंत न दिखाएं, खासकर रिश्तों में.

यह भी पढ़ें- Dyspraxia: क्या है डिस्प्रेक्सिया? कहीं आप में तो नहीं हैं इसके लक्षण?

तारीफ के भूखे
नार्सिसिस्ट पर्सनैलिटी डिसऑर्डर वाले लोग अक्सर ऐसे लोगों से घिरे रहना पसंद करते हैं जो उनकी ईगो (अहम) को संतुष्ट करते हों. वे लोगों से तारीफ पाने के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

एक नार्सिसिस्ट के लक्षण
मेडिसिन हेल्थ के अनुसार, जिस किसी का भी एनपीडी के तहत इलाज किया जाता है, उसके लिए उसमें इन 9 में से पांच लक्षण होना जरूरी है. मतलब ये कि अगर ये पांच लक्षण हैं तो आपको एनपीडी के इलाज की जरूरत है.

– आत्म-महत्व (self-importance) की एक भव्य भावना

– असीमित सफलता, शक्ति, प्रतिभा, सौंदर्य, या आदर्श प्रेम की कल्पनाओं में व्यस्त रहना

– विश्वास है कि वह “विशेष” और अद्वितीय है और केवल अन्य विशेष या उच्च-स्थिति वाले लोगों या संस्थानों द्वारा ही समझा जा सकता है या उसे उनसे ही जुड़ना चाहिए.

– जिन्हें अत्याधिक प्रशंसा की आवश्यकता है.

– जिनमें अधिकार की भावना है

– जो पारस्परिक रूप से शोषक है – दूसरों का लाभ उठाता है

–  जिनमें सहानुभूति की कमी है

– जो दूसरों से ईर्ष्या करता है या मानता है कि दूसरे उससे ईर्ष्या करते हैं

– जो हमेशा ढीठ, घमंडी व्यवहार और ऐंठ दिखाते हैं

यह भी पढ़ें- अल्‍जाइमर की सटीक भविष्‍यवाणी करेगा डीप लर्निंग बेस्ड मॉडल

अमेरिकन एकेडमी मेडिकल सेंटर मेयो (Mayo) क्लिनिक के अनुसार एनपीडी वाले लोग किसी भी प्रकार की आलोचना के साथ भारी संघर्ष कर सकते हैं, जिसके कारण उनका व्यवहार कुछ इस तरह का होता है-

– स्पेशल ट्रीटमेंट न मिलने पर अधीर या क्रोधित हो जाना.
– क्रोध या अवमानना के साथ प्रतिक्रिया देना और खुद को श्रेष्ठ दिखाने के लिए दूसरे व्यक्ति को छोटा  करने की कोशिश करना.
– भावनाओं और व्यवहार को नियंत्रित करने में कठिनाई होती है.
– तनाव से निपटने और परिवर्तन के अनुकूल होने में प्रमुख समस्याओं का अनुभव करना.
– उदास और मूडी महसूस करना क्योंकि वे पूर्णता से कम हो जाते हैं.
– असुरक्षा, शर्म, भेद्यता (vulnerability) और अपमान की गुप्त भावनाएं रखना.

नार्सिसिस्ट पर्सनैलिटी डिसऑर्डर उनकी डेली लाइफ में विभिन्न क्षेत्रों में समस्याएं पैदा कर सकता है, जिसमें उनके रिश्ते, काम, शिक्षा और यहां तक ​​कि उनके फाइनेंस भी शामिल हैं. जो लोग इससे पीड़ित होते हैं, वे जीवन में दुखी और अधूरे रहते हैं. इससे डिप्रेशन, टेंशन और आत्महत्या जैसे विचार आ सकते हैं. इसलिए यदि आप में या आपके आसपास किसी भी व्यक्ति में नार्सिसिस्ट पर्सनैलिटी डिसऑर्डर के लक्षण मिलते हैं, तो उन्हें डॉक्टर की मदद की जरूरत है. ताकि डॉक्टर उनके जीवन को अधिक सुखद पहलू प्रदान करने के लिए काउंसलिंग, थेरेपी या ट्रीटमेंट के माध्यम से मदद की पेशकश कर सकें.

नार्सिसिस्ट पर्सनैलिटी डिसऑर्डर की स्थिति का कोई ज्ञात कारण नहीं है लेकिन मेयो क्लिनिक वेबसाइट पर दिए गए कारणों के अनुसार इसे निम्नलिखित से जोड़ा जा सकता है:

– फैमिली एन्वायरमेंट: माता-पिता के साथ रिश्तों का बेमेल होना या तो ज्यादा अटैचमेंट.
– आलोचना वाला होना, जो बच्चे के अनुभव से खराब रूप से जुड़ा हुआ है.
– जेनेटिक: विरासत में मिली विशेषताएं.
– तंत्रिका जीव विज्ञान (Neurobiology): मस्तिष्क, व्यवहार और सोच के बीच संबंध.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *