जामुन ही नहीं इसके बीज के भी हैं ढेरो फायदे, जानेंगे तो कभी नहीं फेंकेंगे
स्वास्थ्य

Uses and Benefits of Jamun Seeds and Jamun Seed’s Powder | जामुन ही नहीं इसके बीज के भी हैं ढेरो फायदे, जानेंगे तो कभी नहीं फेंकेंगे

नई दिल्‍ली: गर्मी और बारिश में मिलने वाला फल जामुन (Jamun) खाने में जितना अच्‍छा लगता है, सेहत के लिए भी उतना ही लाभकारी है. लेकिन केवल जामुन ही नहीं इसका बीज भी उतना ही फायदेमंद है. हरे रंग के ये बीज हल्‍के कठोर होते हैं. इसके ज्‍यादा सख्‍त न होने के कारण और इसके फायदों को देखते हुए कई लोग जामुन को इसकी गुठली समेत खाते हैं. 

ये भी पढ़ें: ये हैं वो Rich Protein Food जिनके फायदे देख इस क्रिकेटर ने छोड़ दिया था नॉनवेज

जामुन के बीज (Jamun Seeds) डायबिटीज से लेकर कब्‍ज, पाचन और पेट की कई समस्‍याओं से भी राहत देते हैं.  अब जामुन के बीज के कई फायदों (Benefits of Jamun Seeds) के बारे में जानते हैं.  

– जामुन डायबिटीज में तो फायदा देती ही है, इसके बीज भी अपने एंटी-डायबिटिक गुण के कारण बहुत फायदेमंद है. एक वैज्ञानिक रिसर्च में पाया गया है कि जामुन के बीज से बने सप्लीमेंट टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों में ब्लड शुगर को नियंत्रित करने का काम कर सकते हैं. जिन लोगों को डायबिटीज नहीं है, उनमें इस बीमारी के होने के जोखिम को भी कम कर सकते हैं.  

– जिन लोगों को गैस्ट्रिक समस्या है उन्‍हें जामुन के बीज से निकलने वाले अर्क का सेवन करना चाहिए. इससे उन्‍हें राहत मिल सकती है. 

– कब्ज की समस्या से बचने के लिए जामुन का बीज खाएं. इसमें पाया जाने वाला क्रूड फाइबर कब्‍ज से राहत देगा. 

– बढ़े हुए रक्तचाप को कम करने में भी जामुन की गुठली प्रभावी है. एक वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, जामुन के बीज में एलेजिक एसिड (Ellagic Acid) होता है. शोध के मुताबिक इस प्रकार एलेजिक एसिड के प्रयोग से ब्लड प्रेशर लगभग 36% तक कम हो सकता है.

– पाचन की समस्‍या कई लोगों को होती है. इसके लिए भी गुठली का क्रूड फाइबर (Crude Fiber) पाचन क्रिया को बेहतर करने में बहुत उपयुक्त माना जाता है.

– जामुन के बीजों में कैल्शियम होता है, जो दांतों और मसूड़ों को स्‍वस्‍थ और मजबूत बनाता है. वहीं विटामिन-सी की कमी से मसूड़ों में सूजन और खून निकलने की समस्या से भी बीज में पाए जाने वाले विटामिन-सी के जरिए राहत पाई जा सकती है. 

– पीरियड्स के दौरान दर्द से निजात पाने के लिए बीज का पाउडर खाएं. जामुन के बीज में पाया जाने वाला जिंक पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करने में मदद कर सकता है.

– उल्टी होने की स्थिति में जामुन के बीज के पाउडर को पानी में मिलाकर पीने से राहत मिलती है. 

– त्वचा के लिए भी जामुन की गुठली के कई फायदे हैं. इसकी एंटीऑक्सीडेंट क्रिया फ्री रेडिकल्स को खत्म कर त्वचा को बचाने का काम करती है. अगर फ्री रेडिकल्स को न रोका जाए, तो इससे स्किन का कैंसर और फोटो एजिंग की समस्या हो सकती है.

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *