US में लोगों के बालों पर प्रदूषित हवा का असर, कमजोर हो रही हैं जड़ें, झड़ रहे बाल- रिपोर्ट
स्वास्थ्य

US में लोगों के बालों पर प्रदूषित हवा का असर, कमजोर हो रही हैं जड़ें, झड़ रहे बाल- रिपोर्ट

Effect of polluted air on Hair: वातावरण में लगातार बढ़ते प्रदूषण का असर केवल हमारे स्वास्थ्य पर ही नहीं, बल्कि बालों पर भी पड़ता है. इन परेशानियों में बालों को झड़ना काफी कॉमन समस्‍या है. ऐसे में अगर हम अधिक दिनों तक बाल झड़ने की परेशानी को नजरअंदाज करें तो इससे गंजेपन की समस्‍या भी हो सकती है. दैनिक भास्कर अखबार में छपी न्यूज रिपोर्ट के अनुसार, पार्टिकुलेट मैटर (PM), जिसे प्रदूषण की खबरों में आप पीएम के रूप में पढ़ते हैं, वो केवल आपकी सांसों पर ही नहीं बल्कि बालों पर भी बुरा असर डालता है. आजकल खरनाक वायु प्रदूषण जूझ रहे अमेरिका के कई लोगों में बालों से जुड़ी समस्या समाने आ रही है. अमेरिका की स्टेट ऑफ द एयर की सालना रिपोर्ट विकसित देशों में प्रदूषण की डरावनी स्थिति दिखा रही है. 22 सालों से हर साल आ रही अमेरिकन लंग एसोसिएशन (American Lungs Association) की हालिया रिपोर्ट बता रही कि अमेरिका के लोग इस बार सबसे ज्यादा प्रदूषित हवा की चपेट में हैं. करीब 13 करोड़ 70 लाख लोगों पर इसका प्रभाव पड़ रहा है, जो कि पूरी आबादी का करीब 40 प्रतिशत है.

रिपोर्ट में सामने आया है कि हर साल से ज्यादा अमेरिकी लोग इस साल खराब हवा की चपेट में आए हैं. करीब 63% से ज्यादा लोग हवा में घुले जानलेवा पीएम प्रदूषण के साथ रहने को मजबूर हैं. पिछले साल के मुकाबले प्रभावित लोगों की संख्या करीब 90 लाख ज्यादा है.

बालों पर असर
एक स्टडी के अनुसार, पीएम (पार्टिकुलेट मैटर) के संपर्क में आने से हेयर फॉलिकल सेल्स (hair follicle cells) में एक स्पेसिफिक प्रोटीन का लेवल घट जाता है. इससे बालों के विकास की क्षमता, यानी बालों को उगने की कैपेसिटी घट जाती है.  इसके अलावा एयर पॉल्यूशन की वजह से होने वाले ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बालों के रंगों पर भी असर पड़ता है और उनके टिकने (यानी उनकी लाइफ) की क्षमता भी प्रभावित होती है.

यह भी पढ़ें-
दुबले-पतले हैं तो वजन बढ़ाने के लिए रोज पिएं ये 5 फ्रूट ड्रिंक्स, सेहत से जुड़ी कई समस्‍याएं भी रहेंगी दूर

कैसे बनते हैं पार्टिकल्स
आपको बता दें कि हवा में घुले ये पार्टिकल्स धूल, राख ,कालिख, धातु से मिलकर बने होते हैं. ट्रैफिक, उद्योग के अलावा पिछले कुछ सालों में जंगलों में लगी आग से भी ऐसे पार्टिकल्स बढ़ रहे हैं. यही वजह से कि सबसे ज्यादा खराब हवा वाले 25 हजार शहर जंगल वाली आग से जुड़े हैं.

यह भी पढ़ें-
मलेरिया होने पर मरीज को क्या खिलाएं और क्या नहीं, पढ़ें यहां

कैलिफोर्निया टॉप पर
सबसे ज्यादा प्रदूषित हवा वाले राज्यों की बात करें तो इस फेहरिस्त में कैलिफोर्निया पहले नंबर पर है. वहीं अगर हम पूरे अमेरिका के सबसे खराब हवा वाले टॉप 25 शहरों की बात करें तो इसमें 11 शहर कैलिफोर्निया के शामिल है. इसके अलावा फ्रेंसो, कैलिफ, अलास्का जैसे शहरों में भी हालत खराब है. कैलिफोर्निया का लॉस एंजेल्स सबसे खराब ओजोन लेवल वाले शहरों में शामिल है. राहत इतनी ही है कि पॉल्यूशन  के लिए कुख्यात पिट्सबर्ग में एयर क्वालिटी में सुधार हुआ है.

Tags: Health, Health News, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.