Room Heater Side Effects Disadvantages Winter Health Problems pra
स्वास्थ्य

Room Heater Side Effects Disadvantages Winter Health Problems pra

Room Heater Side Effects : दिसंबर और जनवरी में पड़ने वाली भीषण ठंड (Winter) से बचने के लिए अधिकतर घरों में रूम हीटर (Room Heater) का प्रयोग शुरू हो चुका है. कई लोग ठंड से बचने के लिए हीटर का प्रयोग दिन रात करते हैं और हीटर के बिना उनका गुजारा नहीं चलता. ऐसे में अगर आप भी हीटर का भरपूर इस्‍तेमाल करते हैं तो आपको इसके नुकसान (Side Effects) और इससे जुड़ी सावधानियों को बरतने के बारे में भी पहले से ही जानना बहुत जरूरी है. दरअसल बाजार में कई तरह के हीटर मिलते हैं और उनके काम करने का तरीका भी अलग अलग होता है. आयरन रॉड वाले हीटर से लेकर गर्म हवा फेंकने वाले ब्लोअर या ऑयल हीटर, ये सभी अलग-अलग तरीके से काम करते हैं. लेकिन इन सभी हीटर का काम कमरे में मौजूद हवा को गर्म करना होता है. यही नहीं, हवा को गर्म करने के साथ हीटर उसे ड्राई भी बनाता है जिसकी वजह से हमारी सेहत (Health Problems) को कई तरह से नुकसान हो सकता है.

हीटर चलाने से हो सकती हैं ये समस्याएं

1.कंजक्टिवाइटिस (Conjunctivitis)

हमारी आंखें शरीर का सबसे संवेदनशील अंग हैं इसलिए आंखों को खास देखभाल की जरूरत पड़ती है. आंखों को हेल्‍दी रहने के लिए उनका हर वक्‍त गीला रहना बहुत जरूरी होता है. लेकिन जब घर में अधिक देर तक हीटर चलता है तो हवा में रूखेपन के कारण आंखें भी सूखने लगती हैं. जिससे न सिर्फ आंखों में इरिटेशन होता है बल्कि संक्रमण की भी संभावना हो सकती है. ऐसे में बार- बार आंखों को हाथ से छूने पर कंजक्टिवाइटिस की समस्‍या हो सकती है.

इसे भी पढ़ें : कोरोना से हो रही मौत को कम करने में मास्‍क बहुत प्रभावशाली, स्‍टडी में किया दावा

2.स्किन इंफेक्शन (Skin Infection)

हवा से नमी गायब होने से त्वचा से नमी गायब होने लगती है और त्वचा को रूखा बना देती है. अगर आपकी त्वचा पहले से शुष्क या सेंसिटिव है तो आपको पपड़ी पड़ने की शिकायत भी हो सकती है. त्वचा फटने पर इन्फेक्शन होने का जोखिम बढ़ जाता है.

3.अस्थमा (Asthma)

अगर आपको अस्थमा, रेस्पिरेटरी एलर्जी या सांस सम्बंधी कोई भी बीमारी है तो आपको हीटर का प्रयोग अधिक देर तक लगातार नहीं करना चाहिए. हीटर न सिर्फ हवा को ड्राई करता है बल्कि कई हीटर हानिकारक गैस भी निकालते हैं. ड्राई हवा गले को सुखा देती है और यह खांसी का कारण बनता है.  सूखी हवा नाक और विंड पाइप में इरिटेशन, फेफड़ो में ड्राईनेस और खुजली का कारण बनती है.

हीटर के प्रयोग से पहले रखें इन बातों का ख्‍याल

-अगर आप हीटर खरीद रहे हैं तो बेहतर होगा कि आप ऑयल हीटर लें. ये हवा को बराबर तापमान से गर्म करता है.

-कभी भी रात भर हीटर ना चलाएं. अगर आपको हीटर चलाना ही है तो सोने से 1 से 2 घण्टे पहले चलाकर रूम गर्म कर लें और सोने से पहले बन्द कर दें.

-हीटर के पास एक बर्तन या कटोरी में पानी भरकर रख दें. इससे हवा में नमी बनाए रखने में मदद मिलती है और हवा में ड्राइनेस कम होगा.

इसे भी पढ़ेंः  मलेरिया की एक और दवा हुई कोरोना के खिलाफ प्रभावी, स्टडी में उत्साहजनक परिणाम

-अपनी स्किन को अच्छी तरह मॉइस्चराइज करें. आंखों में समस्‍या है तो तुरंत डॉक्टर की राय लें.

-अस्थमा या हार्ट संबंधी समस्‍या हो तो कम से कम हीटर का प्रयोग करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health benefit, Lifestyle, Winter

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.