New drug can treat hospitalized patients of covid 19 pneumonia study nav - कोविड-19 निमोनिया के मरीजों के इलाज में कारगर है नई दवा
स्वास्थ्य

New drug can treat hospitalized patients of covid 19 pneumonia study nav – कोविड-19 निमोनिया के मरीजों के इलाज में कारगर है नई दवा

New Medicine For Covid 19 Pneumonia Patients : कई रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि कोविड से ठीक होने के बाद लोग निमोनिया से ग्रसित हो रहे हैं. कोविड निमोनिया (Covid-19 Pneumonia) के कारण मौत का आंकड़ा और भी बढ़ने लगा है. अब बर्मिंघम यूनिवर्सिटी (University of Birmingham) और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (Oxford University) की स्टडी में ये बात समाने आई है कि कोविड-19 निमोनिया के कुछ मरीजों का अस्पताल में भर्ती होने पर एक नई दवा से इलाज किया जा सकता है. रिसर्चर्स ने ‘नामिलुमैब (Namilumab)’ नाम की दवा का टेस्ट कर उसे इस बीमारी के इलाज के लिए उपयुक्त पाया है. यह एक एंटीबॉडी (Antibody) है, जिससे रूमेटाइड अर्थराइटिस (Rheumatoid arthritis) का उसकी लास्ट स्टेज में इलाज किया जाता है. आपको बता दें कि सर्दी के मौसम में निमोनिया का असर ज्यादा होने लगता है. निमोनिया (Pneumonia) सांस से संबंधित गंभीर बीमारी है जो बैक्टीरिया या वायरस के संक्रमण के कारण होती है. निमोनिया में फेफड़ों में इन्‍फेक्‍शन (Infection in Lungs) होता है.

मेडिकल जर्नल द लैंसेट रेस्पिरेट्री मेडिसिन (The Lancet Respiratory Medicine Journal)  में इस स्टडी के निष्कर्षों को प्रकाशित  किया गया है.

क्या कहते हैं जानकार
‘नामिलुमैब (Namilumab)’ खासतौर पर उन मरीजों को दिया जाता है, जो कोविड-19 निमोनिया से पीड़ित हों. इन मरीजों के खून में सूजन (inflammation) का मार्कर बहुत अधिक पाया गया, जिसे सी रिएक्टिव प्रोटीन (CRP) कहते हैं. सीआरपी तब बढ़ता है जब शरीर में सूजन बढ़ जाती है.सी रिएक्टिव प्रोटीन (C-reactive protein) में सूजन के लिए सबसे अधिक संवेदी एक्यूट चरण रिएक्टेंट होता है. एक्यूट आघात, जीवाणु इंफेक्शन, सर्जरी और नीयोप्लास्टिक प्रसार के बाद स्तर में नाटकीय रूप से वृद्धि होती है.

यह भी पढ़ें-
सर्दियों में जोड़ों के दर्द में फायदा पहुंचाता है वॉरियर पोज, हेल्दी डाइट से भी मिलती है मदद

बर्मिंघम यूनिवर्सिटी द्वारा की गई स्टडी के सह-प्रमुख डॉ बेंजामिन फिशर (Dr Benjamin Fisher) का कहना है, “हमारे शोध ने महत्वपूर्ण ‘प्रूफ-ऑफ-एविडेंस’ प्रदान किए हैं कि नामिलुमैब COVID-19 निमोनिया से पीड़ित अस्पताल में भर्ती रोगियों में सूजन को कम करता है,”

यह भी पढ़ें
विटामिन डी की कमी से लोगों में बढ़ रहा है तनाव, न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर की भी आशंका -स्टडी

किन पर हुई स्टडी
रिसर्चर्स का कहना है कि कोविड-19 के संक्रमण की गंभीरता बढ़ने से शरीर में सीआरपी का स्तर (CRP Level) भी बढ़ता है. एंटीबाडी (Antibody) ‘नामिलुमैब’ के प्रयोग से अस्पताल में भर्ती किए कोविड-19 न्यूमोनिया के मरीज में सूजन घटती है. ‘नामिलुमैब’ असल में साइटोकीन (cytokine) पर निशाना साधता है और इम्यून सेल्स से इसका डिस्चार्ज होता है. 16 साल से ज्यादा उम्र के ऐसे मरीजों पर जून 2020 से फरवरी 2021 के बीच ये प्रयोग किया गया था.

Tags: Health, Health News



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.