Mental health if your love one have depression symptoms help them from these ways
स्वास्थ्य

Mental health if your love one have depression symptoms help them from these ways

Tips to identify depressed people: डिप्रेशन (depression) या अवसाद सामान्य मानसिक बीमारी है जिसका सामना अधिकांश लोगों को कभी न कभी करना पड़ता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक दुनिया भर में करीब 5 प्रतिशत वयस्क आबादी किसी न किसी रूप में डिप्रेशन की चपेट में हैं. जब व्यक्ति ज्यादा समय तक तनाव (Stress) में रहता है, तो वह अवसादग्रस्त होने लगता है. इसमें व्यक्ति बहुत ज्यादा चिंतित रहने लगता है. यह एक कठिन मानसिक समस्या है. इसमें व्यक्ति की सकारात्मकता खत्म होने लगती है और किसी काम में मन नहीं लगता है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक विश्व में लगभग 28 करोड़ लोग सक्रिय रूप से डिप्रेशन के शिकार हैं. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में डिप्रेशन की समस्या ज्यादा होती है. इसके साथ ही वयस्कों के मुकाबले बुजुर्गों में डिप्रेशन ज्यादा होता है. हालांकि द स्टेट ऑफ द वर्ल्ड चिल्ड्रेन 2021 ऑन माय माइंड की रिपोर्ट यह भी बताती है कि भारत में 15 से 24 वर्ष के 41 फीसद बच्चों व किशोरों ने मानसिक बीमारी के लिए मदद लेने की बात स्वीकार की. यानी डिप्रेशन से बच्चे भी अछूते नहीं है.

डिप्रेशन की गंभीर समस्या में व्यक्ति आत्महत्या भी कर सकता है. इसलिए समय रहते सतर्क होने की जरूरत है. यदि आपके दोस्त भी इस समस्या से परेशान रहते हैं, तो हेल्थलाइन की खबर में कुछ टिप्स बताएं गए हैं. इन टिप्स की मदद से आप उनकी पहचान कर सकते हैं और समय रहते उनकी मदद कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंःदिल की सेहत को दुरुस्त रखने के साथ ही अल्जाइमर से भी बचाते हैं काले चावल

इस तरह अपनों में डिप्रेशन के लक्षणों को पहचानें
हमेशा चिंताग्रस्त रहता हो, उदास रहता होऔर बातों-बातों में आंसू निकल आता हो.
निराशावादी बातें ज्यादा करता हो, भविष्य को लेकर होपलेस हो गया हो.
हमेशा खालीपन और अपराधबोध से ग्रसित रहता हो.
एकसाथ समय बिताने में दिलचस्पी नहीं दिखाता हो और संवाद स्थापित करने से भी कतराता हो.
बहुत आसानी से अपसेट हो जाता हो और इरीटेट हो जाता हो.
एनर्जी का अभाव दिखे, बहुत धीरे-धीरे चलें, और बेकार लगे.
किसी चीज का ख्याल नहीं रखता हो. हर चीज को अस्त व्यस्त कर रखा हो.
अपनी उपस्थिति को लेकर कोई दिलचस्पी नहीं दिखाता हो.
स्लीपिंग पैटर्न में गड़बड़ी. या तो बहुत ज्यादा सोना या सोना ही नहीं.
सामान्य गतिविधियों के प्रति कोई दिलचस्पी नहीं दिखाना.
किसी चीज पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाना.
या तो बहुत खाना या बहुत कम खाना.
अक्सर मौत और आत्महत्या की बात करना.

इसे भी पढ़ेंः Health benefits of fenugreek: सर्दी में स्किन और डाइजेशन के लिए बेहद फायदेमंद है मेथी

इस तरह करें मदद
ऐसे दोस्त से बात करें. उन्हें सांत्वना दें. उनके सामने सकारात्मक बातें करें.
उन्हें हर चीज में मदद करने की कोशिश करें ताकि उनका काम आसान हो.
उन्हें डॉक्टर के पास ले जाएं और थेरेपी में मदद करें.
उनके पास ज्यादा समय बिताकर उन्हें भावनात्मक मदद करें.
उनके कामों में सहायता कर उनकी मदद कर सकते हैं. इससे डिप्रेशन कम हो सकता है.
डिप्रेशन में जी रहे लोगों को अपने पास आने की दावत दें.
हमेशा उनके संपर्क में रहें.

Tags: Depression, Health, Lifestyle, Mental health



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.