फ्रीजर के इस्‍तेमाल से जमेगा बाजार जैसा दही, खट्टा भी नहीं होगा
स्वास्थ्य

Make curd in this way taste will be like market | फ्रीजर के इस्‍तेमाल से जमेगा बाजार जैसा दही, खट्टा भी नहीं होगा

नई दिल्‍ली: गर्मी के दिनों में दही और छाछ सबसे ज्‍यादा खाया और‍ पिया जाता है. ये दोनों चीजें न केवल खाने की थाली का हिस्‍सा होती हैं बल्कि दही में शक्‍कर डालकर कई लोग खाते हैं. लेकिन गर्मी के दिनों में बड़ी समस्‍या होती है दूध, दही,पनीर जैसे डेयरी प्रोडक्‍ट्स (Dairy Products) को खराब होने से बचाने की. 

ये भी पढ़ें: बिना लक्षण वाले कोरोना को न करें नजरअंदाज, इस अंग को हो सकता है गंभीर नुकसान

इन चीजों को यदि सही तरीके से स्‍टोर न किया जाए तो इनका स्‍वाद बिगड़ जाता है. उस पर भी दही तो ऐसी चीज है जिसको जमाने (Curd making tips) और स्‍टोर करने के तरीके में थोड़ी सी भी गड़बड़ी इसका स्‍वाद बदल देती है. इसके अलावा गर्मी के दिनों में दही खट्टा भी जल्‍दी होता है. आइए जानते हैं कि दही को इन दिनों में सही तरीके से कैसे ट्रीट करें – 

1. सबसे पहले सही बर्तन का चुनाव करें – दही हमेशा मिट्टी या चीनी मिट्टी के बर्तन में जमाएं. मिट्टी के बर्तन में ठंडक रहती है, जो दही को ज्‍यादा देर तक खट्टा नहीं होने देती. 

2. दूध और जामन दोनों अच्‍छे हों – दही जमाने के लिए हमेशा फुल क्रीम दूध का इस्‍तेमाल करें. उबालने के बाद जब यह हल्‍का गर्म रहे तब इससे दही जमाएं. बर्तन में आधा चम्‍मच जामन डालें लेकिन ध्‍यान रहे कि जामन बहुत खट्टा न हो. इसे बर्तन में अच्‍छी तरह लगाएं. इसके बाद बर्तन में हल्‍का गरम दूध डालें. बर्तन को बिना हिलाए ढंककर रख दें. जब कुछ घंटों के बाद दही जम जाए तो उसे डेढ़ से दो घंटों के लिए फ्रीजर में रख दें. इससे बाजार जैसा थक्‍केदार दही जमेगा.   

कोशिश करें कि दही दोपहर से शाम के बीच को जमाएं ताकि वो रात तक रेडी हो जाए और अगले दिन आपको ताजा मीठा दही खाने को मिले. 
 
3. स्‍टोर करने का सही तरीका – दही को स्‍टोर करने की सही जगह फ्रिज ही है. लेकिन फ्रिज में भी दही हमेशा पीछे की तरफ रखें ताकि उसे ज्‍यादा कूलिंग मिले. इसके अलावा दही हमेशा ढंककर रखें. इससे ना तो फ्रिज में दही की महक आएगी और ना ही किसी दूसरे खाने की महक दही के स्‍वाद को खराब करेगी. 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *