काम की बात! जानें किन कारणों से होती है एलर्जी और कैसे करें बचाव
स्वास्थ्य

know about the reason of allergy in body | जानें किन कारणों से होती है एलर्जी और कैसे करें बचाव

नई दिल्लीः जब कोई बाहरी चीज के खिलाफ शरीर प्रतिक्रिया करती है तो एलर्जी ( Allergy ) की समस्या ऐसे में उत्पन्न होती है. शरीर में एलर्जी कई कारणों से होती है. कुछ लोगों को फूलों से, कुछ को मिट्टी और जानवरों से एलर्जी होती है. अधिकांश तौर पर लोगों को खाने-पीने की चीजों से भी एलर्जी होती है. वहीं कुछ ऐसे लोग भी होते हैं, जिन्हें कोई धातु पहनने पर या छूने पर एलर्जी हो जाती है या फिर किसी कीड़े के डंक मारने पर एलर्जी हो सकती है. एलर्जी होने पर इसके क्या लक्षण दिखते हैं, आइए जानते हैं.

एलर्जी के सबसे सामान्य लक्षणों में से एक है त्वचा पर दाने या फुंसियों का होना या मुंह पर सूजन आ जाना, गले में खराश, सांस लेने में तकलीफ होना. अन्य लक्षणों में नाक-कान में खुजली होना, नाक बहना, नाक बंद हो जाना या फिर छींक आना, गले में खुजली या खांसी आना, आंखों में खुजली, लाली, सूजन, जलन या पानी बहना या सिर दर्द और उल्टी आना है.

जानें कैसे लगाएं एलर्जी का पता
एलर्जी की सही वजह जानने के लिए एलर्जी के डॉक्टर से अपना चेकअप करवाएं. डॉक्टर एलर्जी का पता लगाने के लिए त्वचा या रक्त की जांच करेंगे. इसमें सटीक पता चल जाएगा कि एलर्जी किस वजह से हो रही है. 

डॉक्टर एलर्जी के लक्षणों को पहचान कर इसके इलाज के लिए दवाइयां दे सकते हैं. डॉक्टर उन चीजों से परहेज करने को भी कह सकते हैं, जिनसे एलर्जी हो रही है. इसमें इस बात का ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि बिना किसी डॉक्टर की सलाह के खुद से एलर्जी की दवा नहीं लेनी चाहिए.

कई बार एलर्जी और अस्थमा ( Asthma ) के लक्षण एक जैसे उभरते हैं और मरीज खुद को अस्थमा से पीड़ित समझ बैठते हैं. जबकि अस्थमा के रोगियों को सांस लेने में परेशानी होने के अलावा रात में सोते समय खांसी आना, छाती में जकड़न महसूस होना, व्यायाम करते हुए या सीढ़ियां चढ़ते हुए सांस फूलना या ज्यादा खांसी आना, ज्यादा ठंड या गर्मी होने पर भी सांस लेने में परेशानी होना जैसे लक्षण होते हैं. 

यह भी पढ़ेंः सर्दी में ज्यादा गर्म पानी से नहाना क्या हो सकता है नुकसानदायक!

वहीं, जिन्हें एलर्जी की समस्या होती है, उन्हें अस्थमा के जैसे लक्षण तो हो सकते हैं, लेकिन अस्थमा की तुलना में काफी कम होते हैं. अस्थमा के रोगियों में अस्थमा का अटैक किसी चीज के संपर्क में आने से एलर्जी होने के कारण हो सकता है, इसलिए इसे एलर्जिक अस्थमा भी कहते हैं, लेकिन जिन्हें सिर्फ एलर्जी की समस्या है, उनमें 40 प्रतिशत तक अस्थमा होने का खतरा होता है.

एलर्जी से पूरी तरह से छुटकारा पाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक उपचारों को अपनाना ज्यादा फायदेमंद होता है. इसके लिए रोज सुबह गर्म पानी का सेवन करें और खट्टी व ठंडी चीजों से परहेज करें. रोज सुबह ताजी हवा के साथ आधे घंटे प्राणायाम करने पर बहुत ज्यादा लाभ मिलता है. इसके अलावा घर में धूल के कीट न पनपने दें. ये एलर्जी का सबसे बड़ा कारण होते हैं.

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

(नोट: कोई भी उपाय अपनाने से पहले डॉक्टर्स की सलाह जरूर लें)

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *