Health News: आप भी तो नहीं खा रहे नकली बेसन? मिनटों में ऐसे करें असली-नकली की पहचान...
स्वास्थ्य

janiye nakli aur asli besan kon sa hai know here how to identify real gram flour and ake gram flour brmp | Health News: आप भी तो नहीं खा रहे नकली बेसन? मिनटों में ऐसे करें असली-नकली की पहचान…

नई दिल्ली: ज्यातार लोग बेसन की चीजें खाना पसंद करते हैं. चाहे वो बेसन की मिठाई हो या फिर नमकीन. यह खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ ही बेसन सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है. लेकिन क्या आप इस बात से बाकिफ हैं कि आप जो बेसन खा रहे हैं, वो मिलावटी (Fake) भी हो सकता है? जी हां आजकल बाजार में बिकने वाली हर चीज में मिलावट होताी है, जिसमें बेसन (Asli Or Nakli Besan) भी शामिल है. 

दरअसल, मार्केट में हर तरह के ब्रांड का बेसन मिलता है. हर कोई शुद्धता की गारंटी देता है, लेकिन घ्राहक को यह नहीं पता चल पाता कि वह जो बेसन खरीद रहा है वह शुद्ध है या मिलावटी. अगर आप भी असली और नकली बेसन की पहचान करना चाहते हैं तो ये खबर आपके काम आ सकती है. 

ऐसे की जाती है मिलावट
सबसे पहले नजर डालते हैं कि आखिर बेसन में मिलावट कैसे की जाती है. होता ये है कि असली बेसन के लिए चने की दाल इस्तेमाल होती है, लेकिन नकली बेसन तैयार करने के लिए मुनाफाखोर 25 प्रतिशत चने के आटे में 75 प्रतिशत तक सूजी, मटर दाल, चावल पाउडर, मक्के और खेसारी का आटा और कृत्रिम रंग मिला देते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो गेहूं के आटे में भी क्रत्रिम रंग मिलाकर बेसन तैयार किया जाता है.

हाइड्रोक्लोरिक एसिड की मदद से करें पहचान

  • आप नकली और असली बेसन की पहचान हाइड्रोक्लोरिक एसिड की मदद से कर सकते हैं. 
  • इसके लिए एक बोल में दो चम्मच बेसन लें और इसमें दो चम्मच पानी मिला कर पेस्ट बना लें. 
  • अब इसमें दो चम्मच हाइड्रोक्लोरिक एसिड डालें और पांच मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें. 
  • कुछ देर बाद बेसन में अगर लाल रंग दिखाई दे तो समझ जाएं कि बेसन में मिलावट की गयी है.

नींबू की मदद से ऐसे करें पहचान

  1. बेसन में मिलावट है या नहीं है ये जांचने के लिए आप दो चम्मच बेसन लें. 
  2. अब इसमें दो चम्मच नींबू का रस मिला दें. 
  3. साथ ही इसमें दो चम्मच हाइड्रोक्लोरिक एसिड भी मिला दें. 
  4. इसको कुछ देर के लिए रखा रहने दें. 
  5. कुछ देर बाद अगर बेसन लाल या भूरे रंग का नज़र आता है तो इसका मतलब है कि बेसन नकली है.

इसलिए जरूरी है असली बेसन की पहचान
मिलावटी और नकली बेसन का टेस्ट इसलिए करना जरूरी है क्योंकि यह आपकी सेहत को बिगाड़ने का काम भी कर सकता है. इसको खाने से जोड़ों का दर्द, विकलांगता और पेट की बीमारियों सहित कई और गंभीर बीमारियां भी हो सकती हैं. 

ये भी पढ़ें; बच्चों समेत इनके लिए बेहद फायदेमंद है नारियल पानी, एक्सपर्ट्स ने बताया सेवन का सही समय, जानें लाभ



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *