मधुमेह के रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद है कटहल का आटा, एक्सपर्ट्स ने बताया डाइट में शामिल करने का तरीका
स्वास्थ्य

Jackfruit flour is very beneficial for diabetic patients kathal ke aate ke fayde brmp | मधुमेह के रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद है कटहल का आटा, एक्सपर्ट्स ने बताया डाइट में शामिल करने का तरीका

नई दिल्ली: अगर आप शुगर पेशेंट हैं तो ये खबर आपके काम आ सकती है. आज हम आपके लिए कटहल के आटे के फायदे लेकर आए हैं. कटहल का आटा मधुमेह के रोगियों के लिए बेहद लाभकारी है. सबसे पहले जान लेते हैं कि आखिर मधुमेह क्या बीमारी है. हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि जब हमारे शरीर में पैक्रियाज (अग्नाश्य) इंसुलिन का उत्पादन करना बंद कम कर देता है या बंद कर देता है तब हमारे ब्लड में ग्लूकोज का स्तर बढ़ने लगता है. अगर इस स्तर को कंट्रोल ना किया जाए तो हम शुगर के रोगी बन जाते हैं.

जाने माने आयुर्वेद डॉक्टर अबरार मुल्तानी कहते हैं कि मधुमेह रोगियों को मीठे भोजन से तो परहेज करना ही चाहिए, साथ ही उन फूड आइटम्स से दूरी बनाएं, जिन्हें खाने से अचानक से ब्लड शुगर बढ़ जाता है. 

शोध में किया गया ये दावा 

आयुर्वेद डॉक्टर अबरार मुल्तानी ने बताया कि हाल में अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक कटहल के आटे का इस्तेमाल करने से मधुमेह रोगियों को लाभ हो सकता है. इस रिसर्च में डायबिटीज टाइप 2 के 40 मरीजों को 3 महीनों तक लगातार करीब 30 ग्राम कटहल का आटा खिलाया गया. शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष में पाया कि इसके सेवन से लोगों के रक्त शर्करा का स्तर बेहतर हुआ है.

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन में प्रकाशित शोध को लेकर एक्सपर्ट्स मानते हैं कि कटहल के आटे में पाए जाने वाले तत्व के प्रभाव से मरीजों के शरीर में HbA1c ग्लाइकोसिलेटेड हीमोग्लोबिन, FBG-फास्टिंग ब्लड ग्लूकोज और PPG-पोस्टप्रेंडियल ग्लूकोज का स्तर कम होता है. 

कटहल के आटे के फायदे
इंटरनेशनल जर्नल ऑफ डायबिटीज में छपी एक रिसर्च के अनुसार कटहल में कार्ब्स व कैलोरीज बेहद कम होती है. साथ ही, इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम होता है. ऊर्जा का स्रोत होने के साथ ही कटहल में फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं. ऐसे में हर तरह से ये डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी है. इससे मोटापा और बीपी कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है. 

ऐसे तैयार करें कटहल का आटा

  1. सबसे पहले कटहल के बीजों को अलग कर लें और इन्हें सुखा लें
  2. जब बीज सूख जाएं तो उनके ऊपर लगे छिलकों को हटा दें
  3. फिर इन्हें काटकर अच्छी तरह पीस लें
  4.  इसके बाद रोजाना आप 30 ग्राम के करीब इस आटे को अपने डेली इस्तेमाल होने वाले आटे के साथ मिलाकर खाएं.

ये भी पढ़ें:  Cracked Dry Heel Remedies: फटी एड़ियों की समस्या से निजात दिलाएंगे ये घरेलू उपाय, क्लिक कर जानें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *