Walking Meditation Benefits: चलते हुए मेडिटेशन कैसे करें, जानें दिलचस्प तरीका और फायदे
स्वास्थ्य

how to do walking meditation and its benefits janiye chalte hue dhyan kaise lagae samp | Walking Meditation Benefits: चलते हुए मेडिटेशन कैसे करें, जानें दिलचस्प तरीका और फायदे

मेडिटेशन यानी ध्यान लगाना काफी फायदेमंद है. मेडिटेशन के अनेक तरीके हैं, जो अलग-अलग लक्ष्यों के मुताबिक अपनाए जाते हैं. ऐसी ही एक तरीका वॉल्किंग मेडिटेशन यानी चलते हुए ध्यान लगाना है. ध्यान लगाने का यह तरीका बिल्कुल अलग और दिलचस्प है, जो कि कई फायदे देता है. आइए ध्यान लगाने के इस दिलचस्प तरीके के बारे में जानते हैं.

कैसे करते हैं वॉल्किंग मेडिटेशन (Walking Meditation Steps)
कैलिफोर्निया विश्वविद्यायल के द ग्रेटर गुड साइंस सेंटर के मुताबिक Kabat-Zinn के Mindfulness Based Stress Reduction (MBSR) में वॉल्किंग मेडिटेशन करते हुए धीमी गति से चलना होता है. इसमें हम चलने की प्रक्रिया पर बहुत बारीकी से ध्यान लगाते हैं. जैसे कि मुड़ना, पैर उठाना, जमीन से पैर उठना, जमीन पर पैर रखना व शरीर को आगे की तरफ ले जाना. हम रोजाना यह कार्य करते हैं, लेकिन इसके प्रति सजग नहीं होते हैं.

ये भी पढ़ें: Bad Habits: इसी वक्त छोड़ दें ये गलत आदतें, आपको बनाती हैं बहुत गुस्सैल और चिड़चिड़ा

  1. वॉल्किंग मेडिटेशन करने के लिए सबसे पहले शांत जगह चुनें और एक रास्ते या जगह का चुनाव करें. जहां कोई आपको डिस्टर्ब ना कर सके और आप 10 से 15 कदम सीधा चल सकें.
  2. अब गहरी सांस लीजिए और धीरे-धीरे 10 से 15 कदम चलिए.
  3. इसके बाद जितनी हो सके, उतनी गहरी सांस लीजिए.
  4. अब वापिस मुड़िए और शुरुआती पोजीशन तक वापिस जाइए.
  5. अब दोबारा जितनी गहरी और लंबी सांस ले सकते हैं, लीजिए.
  6. इस दौरान आपको कदमों और प्रक्रिया को धीमा रखना है और हर चीज को महसूस करना है.
  7. आपके दिमाग में जो भी विचार आएं, उन्हें आने और जाने दीजिए.
  8. इसी तरह 10 से 15 मिनट करिए.

ये भी पढ़ें: Mental Health: आखिर कुछ लोग हमेशा चिड़चिड़े क्यों रहते हैं, यहां जानें कारण

वॉल्किंग मेडिटेशन के फायदे (Benefits of Walking Meditation)

  • शरीर शांत और आरामदायक बनता है.
  • एकाग्रता बढ़ती है.
  • शारीरिक संतुलन बनता है.
  • शरीर के प्रति सजग होते हैं.
  • पाचन तंत्र बेहतर होता है.
  • ऊर्जा प्राप्त होती है.
  • तनाव कम होता है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *