Home Remedies for Bruises: त्वचा पर बार-बार पड़ने वाले नीले रंग के निशान को दूर कर देंगे ये 4 घरेलू नुस्खे
स्वास्थ्य

Home Remedies for Bruises: त्वचा पर बार-बार पड़ने वाले नीले रंग के निशान को दूर कर देंगे ये 4 घरेलू नुस्खे

Home Remedies for Bruises: आपने अक्सर गौर किया होगा कि आपके पैरों, जांघों या फिर हाथों पर नीले रंग के निशान नजर आने लगते हैं. इन्हें छूने या दबाने पर कई बार हल्का दर्द भी होता है. दरअसल, यह नील का निशान (Bruises) या त्वचा मलिनकिरण ( Skin Discoloration) तब होता है, जब त्वचा के नीचे की रक्त वाहिकाएं (Blood vessels) टूट या फट जाती हैं और आसपास के ऊतकों (Tissue) में ब्लड का रिसाव होने लगता है. यह खून (Blood) त्वचा की सतह के पास जमा हो जाता है, जिसके कारण काला/नीला निशान नजर आने लगता है. यह बहुत आम समस्या है, जो किसी को भी हो सकता है. कई बार बच्चों में भी यह समस्या देखने को मिलती है. इन्हें कुछ घरेलू उपयों (Neel ke nishan ke gharelu upay) को आजमाकर इसमें होने वाले दर्द, सूजन को कम कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: Cyanosis: त्वचा पर नीले धब्‍बे को हल्‍के में न लें, भविष्य में बढ़ा सकता है खतरा

नील के निशान को दूर करने के उपाय

बर्फ से करें सिकाई
यदि आपके शरीर पर कहीं भी नीले रंग का निशान नजर आ रहा है और उसमें हल्का दर्द है, तो इसे बर्फ से सेकें. इसके लिए कुछ बर्फ के टुकड़ों को एक कपड़े में बांध लें और समस्या जहां है, वहां पर थोड़ी-थोड़ी देर के लिए रखें. ऐसा दिन में तीन बार 15 मिनट तक करें. आइस पैक को त्वचा पर सर्कुलर मोशन में घुमाते रहें, ताकि दर्द ना बढ़े और ना ठंड के कारण नसे जमें नहीं. आइस पैक से सूजन कम होता है.

इसे भी पढ़ें: जानें: आपके शरीर में इन जगहों पर तिल का क्या होता है मतलब…?

हॉट वाटर बैग से करें सिकाई
आप नीले निशान को गर्म पानी से भी सेंक सकते हैं. इसके लिए वाटर बैग में गर्म पानी डालें और जिस जगह पर नीला निशान बन गया है, वहां रखें. आप गर्म पानी में तौलिया डुबोकर और पानी निचोड़कर भी सिकाई कर सकते हैं. दिन में दो से तीन बार इस घरेलू उपचार को आजमा सकते हैं. गर्म पानी से सेकने पर समस्या वाले भाग में ब्लड का फ्लो बढ़ता है, जिससे ठीक होने की प्रक्रिया (Healing process) में तेजी आती है.

एसेंशियल ऑयल से करें मालिश
नील निशान के दर्द को कम करने के लिए आप एसेंशियल ऑयल से उस जगह पर हल्के हाथों से मसाज कर सकते हैं. इसके लिए लैवेंडर या टी ट्री ऑयल ले सकते हैं. लैवेंडर ऑयल में एनैलजेसिक और हीलिंग प्रॉपर्टीज होती हैं, जो सूजन, दर्द दूर करती हैं. वहीं, टी ट्री ऑयल त्वचा के अंदरूनी परत में पहुंचकर हीलिंग प्रक्रिया को तेज करक देते हैं.

इसे भी पढ़ें: चेहरे के 8 वो लक्षण जिन्हें देखकर पता लगा सकते हैं बीमारी

सेब का सिरका से दूर करें नील निशान
आधा कप गर्म पानी में सेब का सिरका या व्हाइट सिरका की कुछ बूंदें डालें. इस पानी से नीले निशानों पर मसाज करें. कॉटन को इस पानी में डुबाकर भी इस निशान पर रख सकते हैं. इससे ब्लड फ्लो के साथ ही हीलिंग की प्रक्रिया भी तेज होती है. जब आप यह मिश्रण चोट वाली जगह पर लगाते हैं, तो त्वचा के नीचे जमे हुए रक्त का संचार होने लगता है और खून के धब्बे पड़ना बंद हो जाते हैं.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.