Holi 2022: होली के रंगों से बचकर रहें अस्थमा, फेफड़ों और सांस के मरीज, लापरवाही से बढ़ सकती है मुसीबत
स्वास्थ्य

Holi 2022: होली के रंगों से बचकर रहें अस्थमा, फेफड़ों और सांस के मरीज, लापरवाही से बढ़ सकती है मुसीबत

Holi Colours and Respiratory problems: होली (Holi 2022) खुशियों का त्योहार है. इस दिन सभी के चेहरे रंग-बिरंगे गुलाल से रंगे नजर आते हैं. एक तरफ होली कुछ लोगों के लिए मौज-मस्ती भरा त्योहार है, तो किसी-किसी के लिए ये रंग बेहद ही हानिकारक साबित होते हैं. होली के कृत्रिम रंगों (Artificial Holi colours) को बनाने के लिए हानिकारक रसायनों (Chemicals) का खूब इस्तेमाल होता है. जिन लोगों को त्वचा, आंखों से संबंधित समस्याएं हैं, उन्हें इन रंगों से तो नुकसान पहुंचता ही है, साथ ही होली के ये हानिकारक कलर्स सांस संबंधित बीमारियों (Respiratory Disorders) से ग्रस्त लोगों की जान भी ले सकता है.

इसे भी पढ़ें: Holi 2022: इन 5 टिप्स की मदद से होली पर रंगों से नाखूनों को करें प्रोटेक्ट

हानिकारक होली कलर्स से होने वाली रेस्पिरेटरी संबंधित समस्याएं
शारदा हॉस्पिटल (ग्रेटर नोएडा) के प्रोफेसर, रेस्पिरेटरी मेडिसिन डॉ. देवेंद्र कुमार कहते हैं कि होली के हानिकारक रंग श्वसन संबंधी एलर्जी (respiratory allergies) का कारण बन सकती हैं. इसमें राइनाइटिस (Rhinitis) न्यूमोनाइटिस (Pneumonitis), अस्थमा संबंधित एलर्जी हो सकती हैं. राइनाइटिस एलर्जी में होली के रंगों से नाक की झिल्ली में इंफ्लेमेटरी प्रतिक्रियाएं प्रेरित होती हैं. इसमें नाक बहना, छींक आना, नाक बंद होने जैसे लक्षण नजर आ सकते हैं. न्यूमोनाइटिस तब होता है, जब रासायनिक एजेंट्स के साथ रंग नाक के जरिए अंदर चले जाते हैं. इसके लक्षणों में सीने में जमाव, सांस लेने में कठिनाई और थकान शामिल हैं. अस्थमा रोगियों को होली कलर्स से खासकर बचाकर रखना चाहिए. मार्केट में मिलने वाले केमिकल्स युक्त रंगों में छोटे पीएम 10 पार्टिकल्स होते हैं, जो वायुमार्ग (Airway) को नुकसान पहुंचा सकते हैं. इससे लोगों को सांस लेने में कठिनाई हो सकती है.

इसे भी पढ़ें : Hair Care Tips For Holi 2022: होली पर बालों में लगाएं ये तेल, नहीं होगा रंगों का असर

रेस्पिरेटरी समस्याओं से ग्रस्त लोग यूं रखें खुद को सुरक्षित

  • आप भीड़ में जाकर होली खेलने की गलती भूलकर भी ना करें.
  • अपने घर की बालकनी या छत से होली का आनंद उठाना चाहते हैं, तो डस्ट मास्क पहनें.
  • नेचुरल या हर्बल रंगों का ही इस्तेमाल करें. सूखे रंगों से ज्यादा गीले हर्बल रंग बेहतर होंगे, क्योंकि ये नाक-सांस से अंदर नहीं जाते.
  • होली के दिन शरीर पर नारियल या ऑलिव ऑयल लगाकर रहें, ताकि कोई रंग लगा भी दे, तो इसे छुड़ाना आसान होगा.
  • यदि आपको हांथों में गुलाल या लिक्विड कलर्स लगे हुए हैं, तो कुछ भी खाने से बचें. पहले हाथ को अच्छी तरह से साफ कर लें.
  • अस्थमा की समस्या है, तो अपनी दवाएं, इनहेलर को साथ में रखें, ताकि थोड़ी से भी समस्या महसूस हो तो आपको इसे हड़बड़ी में ढूंढना ना पड़े.

इसे भी पढ़ें : Holi 2022: अगर प्रेग्नेंट हैं तो होली के समय इन बातों का जरूर रखें ख्याल

Tags: Health, Health tips, Holi, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.