Home
स्वास्थ्य

Healthiest Option For Milk : दूध ठंडा या गर्म? जानें कैसे इसे पीना है ज्यादा फायदेमंद

Healthiest Option For Milk : सुपर फूड की बात की जाए तो इसमें दूध का नाम सबसे पहले हम ले सकते हैं.  एक कम्पलीट न्यूट्रीशियस फ़ूड आइटम है जो शरीर की जरूरत के हिसाब से कैल्शियम, विटामिन डी, पोटेशियम की जरूरत को पूरा करता है.  इसके अनेकोनेक फायदे हैं. कुछ लोग इसे ठंडा (Cold Milk) पीना पसंद करते हैं तो कुछ लोग इसे गर्मागर्म (Hot Milk).  ऐसे में यह सवाल उठता है कि आखिर दूध को पीने का सही तरीका क्‍या हो सकता है.  क्‍या इन दोनों तरह के दूध में न्‍यूट्रीशनल वैल्‍यू अलग अलग हो जाते हैं या एक ही जैसे रहते हैं.  विशेषज्ञों की मानें तो इन दोनों ही तरह के कंजंप्‍शन के अपने अपने फायदे (Benefits) हैं.  दूध को ठंडा पिया जाए या गर्म, यह पूरी तरह से मौसम और समय पर निर्भर करता है.

मौसम के हिसाब से

ठंडा दूध दिन के समय या फिर गर्मी में पीना ज्यादा फायदेमंद होता है. इसके सेवन से बॉडी की गर्मी खत्‍म होती है और शरीर अंदर से ठंडा होता है.  जबकि अगर सर्दी के मौसम में रात के वक्‍त दूध पीना हो तो आप गर्म दूध का सेवन कर सकते है. गर्म दूध शरीर को गर्म रखता है और ठंड से बचाता है.

इसे भी पढ़ें : Gluten Intolerance: इन फूड्स में पाया जाता है ग्लूटेन, सेहत के लिए है बहुत नुकसानदायक

 

पाचन तंत्र के लिए क्‍या है बेहतर

दरअसल गर्म दूध को पचाना आसान होता है. गर्म दूध के सेवन से डायरिया, गैस जैसी डाइजेशन रिलेटेड प्रॉब्लम से बचा जा सकता है. दरअसल गर्म दूध में ट्रिपलोफान और मेलाटोनिन पाया जाता है और इसमें मौजूद एमिनो एसिड गर्म होने पर एक्टिव हो जाता है. जिव वजह से अगर रात में गर्म पिया जाए तो नींद अच्छी आती है. दूसरी ओर ठंडा दूध में कैल्शियम इंटेक अधिक होता है जिससे कई बार ठंडा पीने से पेट में जलन  और  एसिडिटी में आराम मिलता है. यही नहीं इसमें इलेक्‍ट्रोलाइट होने की वजह से यह बॉडी को हाइड्रेटेड रखता है. इसलिए रात के समय ठंडा दूध नहीं पीने की सलाह दी जाती है. ऐसा करने पर कफ, कोल्ड जैसी दिक्कतें आ सकती हैं.

वजन को करता है कितना प्रभावित

कुछ लोग दूध को वजन बढने का एक कारण मानते हैं जो बिलकुल गलत है. दूध में पाया जाने वाला कैल्शियम मेटाबोलिज्म बढ़ाता है जिससे की बॉडी तेज़ी से कैलोरी बर्न करती है. यही नहीं,  ठंडा दूध पीने से पेट काफी लंबे टाइम तक भरा रहता है और भूख नहीं लगती.   (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *