Health news yoga session with savita yadav udar shakti vikasak yoga practice for constipation kee
स्वास्थ्य

Health news yoga session with savita yadav udar shakti vikasak yoga practice for constipation kee

Yoga Session With Savita Yadav: आज के समय में व्यस्त और बिगड़ी दिनचर्या के चलते लोगों में कई सारी समस्याओं ने जन्म ले लिया है. इनमें सबसे मुख्य कॉन्स्टिपेशन की समस्या है. सुबह अगर ठीक से पेट साफ नहीं होता तो पूरा दिन बर्बाद हो जाता है. कॉन्स्टिपेशन का मुख्य कारण हेल्दी फूड नहीं खाना, पानी कम पीना और शारीरिक गतिविधि या व्यायाम नहीं करना माना जाता है. अगर आप शारीरिक व्यायाम नहीं करेंगे तो आपका मेटाबॉलिज़्म ठीक तरीके से काम नहीं करेगा साथ ही आपका खाना नहीं पचेगा. कॉन्स्टिपेशन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आज न्यूज़18 के फेसबुक लाइव (Facebook Live) पर योग प्रशिक्षिका सविता यादव (Savita Yadav) ने कुछ योगाभ्यास बताएं हैं जिन्हें करने से आपको इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है.

सबसे पहले मेट लगाकर सीधे बैठ जाइए. कमर और गर्दन सीधी कर लीजिए. अब अपने दोनों हाथों को आपस में जोड़ते हुए हथेली को सामने की तरफ घुमाकर सिर के ऊपर लेकर जाएं. जितना स्ट्रेच कर सकते हैं करें. अब अपनी आंखों को बंद करें और सहज होते हुए अपनी आती जाती सांसों को देखें.

ध्यान के साथ शुरुआत करें
किसी भी योगासन की शुरुआत ध्यान के साथ करना चाहिए. इससे मन एकाग्र होता है और योगसन के अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं. अपनी आती जाती सांसों पर ध्यान केंद्रित करें. उसके बाद ओम के साथ किसी भी मंत्र का उच्चारण करें.

उदर शक्ति विकासक
सीधे खड़े हो जाएं. दोनों पैर मिलाएं और दोनों हाथों को बगल में सटाकर रखें.
अपनी नाभि पर ध्यान लगाएं. पूरी सजगता से धीरे धीरे गहरी सांस भरें. पेट को फुलाएं और कुछ सेकण्ड रूकें.
अब सांस छोड़ते हुए पेट को पिचकाएं ताकि नाभि अंदर की ओर धस जाए. इस अवस्था में दो-तीन सेकण्ड रूकें.
अब सामान्य स्थिति में आएं और सांस को भी सामान्य कर लें. अपनी शक्ति के अनुसार इसे दोहराएं.

यह भी पढ़ें – Yoga Session: शरीर को एक्टिव मोड में लाने के लिए करें ताड़ासन और सूर्य नमस्कार

ताड़ासन
सीधे खड़े हो जाइए. अब कमर और गर्दन सीधा कर लीजिए. अपने दोनों हाथों को आपस में जोड़ते हुए हथेली को सामने की तरफ घुमाकर सिर के ऊपर लेकर जाएं. जितना स्ट्रेच कर सकते हैं करें. सहज होते हुए अपनी आती जाती सांसों को देखें. अब रिलेक्स करेंगे और फिर इस प्रक्रिया को दोहराएंगे.

अब इसी आसन में रहते हुए बिना घुटने मोड़े अपने शरीर को दायीं और बायीं ओर मोड़ें. इसके बाद अपने हाथों को पंखों की तरह फैलाएं और दायें हाथ को बायीं ओर ले जाएं और बायें हाथ को दायीं ओर. इस दौरान श्वास-प्रश्वास का विशेष ध्यान रखें.

कौआ चालासन
सबसे पहले घुटनों को मोड़कर मलासन में बैठ जाएं. इस दौरान आपकी एडियां हिप्स को टच करनी चाहिए.
अब घुटनों को थोड़ा नीचे झुकाकर पंजों पर बैठें और हाथों को घुटनों पर रखें.

यह भी पढ़ें – Yoga Session: शरीर को स्वस्थ रखना है तो जरूर करें वृक्षासन और सर्वांगपुष्टि का अभ्यास, सीखें सही तरीका

अब दाएं घुटने को अंदर की तरफ जमीन पर टिकाएं
फिर बाएं पैर को उठाकर आगे की तरफ ले जाएं और जमीन पर टिकाएं
अब बाएं घुटने को जमीन पर टिकाते हुए दाएं पैर को आगे ले जाकर रखें.
इसी तरह एक ही दिशा में आगे बढ़ते रहें.
मैट की दूरी तक आगे बढ़ें और फिर अपनी जगह वापिस आ जाएं.
यह क्रिया कम से कम 5-7 बार करें.
अगर आप ऐसी जगह आसन कर रहे हैं, जहां आपके घुटनों को नीचे टिकाने में तकलीफ न हो, तो एक ही दिशा में जितना आगे बढ़ सकें, बढ़ें.
ध्यान रखें चाल हमेशा पंजों के बल ही करें.
इस आसन के दौरान आपको शरीर के निचले हिस्से में खिंचाव महसूस होगा.
यह आपके फैट को तेजी से बर्न करने में मदद करेगा. साथ ही कॉन्स्टिपेशन
हो सकता है शुरूआत में आपको बैलेंस बनाने में दिक्कत आए. इसलिए बेहतर होगा कि आप हाथों को जमीन पर टिका कर बॉडी को सपोर्ट दें.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle, Yoga

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.