Health news obesity in women physical and mental effects in hindi pra
स्वास्थ्य

Health news obesity in women physical and mental effects in hindi pra

Obesity And Women Health : पुरुषों की तुलना में मोटापे (obesity) की समस्‍या महिलाओं (women health) में अधिक देखने को मिलती है.  मोटापा आमतौर पर चलने फिरने की कमी, असक्रिय लाइफ स्‍टाइल, अनहेल्‍दी फूड हैबिट, हार्मोनल बदलाव आदि के कारण हो सकता है. मोटापे के कारण महिलाओं में कई शारीरिक (Physical) और मानसिक (Mental) समस्याएं हो सकती हैं. मोटापे की वजह से डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल और हार्ट हेल्थ प्रभावित हो सकती है. जबकि नॉर्मल लाइफ में उन्‍हें चलने, फिरने, उठने, बैठने और अपने दैनिक कामों में भी परेशानी आ सकती है. यही नहीं, वजन के अनियंत्रित होने से मन और दिमाग पर भी इसका बुरा असर पड़ता है. अधिक मोटापे से महिलाओं में अनिद्रा, तनाव और चिंता जैसी मानसिक समस्याएं देखने को मिलती हैं. साथ ही कई महिलाएं बॉडी शेमिंग की वजह से अपना आत्मविश्वास खो देती हैं.

यूएस वुमंस हेल्‍थ के मुताबिक, सिर्फ मोटापे की वजह से लाखों महिलाएं जानलेवा बीमारियों की शिकार हो जाती हैं और जान से हाथ धो बैठती हैं. मोटापे की वजह से हार्ट स्‍ट्रोक, हार्ट अटैक, कैंसर, प्रेग्‍नेंसी प्रॉब्‍लम, हाई कोलेस्‍ट्रॉल जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं.  इसलिए जरूरी है कि महिलाएं एक्टिव लाइफ लीड करें. आइए जानते हैं कि मोटापे की वजह से महिलाओं को किन शारीरिक और मानसिक समस्याओं से दो-चार होना पड़ सकता है.

महिलाओं में मोटापे से होने वाली समस्याएं

हार्ट संबंधी समस्याएं

दरअसल वजन बढ़ने के कारण कोलेस्ट्रॉल बढ़ सकता है और हाई बीपी के कारण हार्ट अटैक की समस्या भी हो सकती है. इससे शरीर में कई और परेशानियां भी हो सकती हैं और आप जल्दी बीमार पड़ सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : कच्चा बादाम खाने से लिवर और किडनी को हो सकता है नुकसान, जरा सम्‍हल कर करें इसका सेवन

 डायबिटीज

मोटापे के कारण ब्लड में ग्लूकोज का लेवल बढ़ जाता है जिससे टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ता है. यह आपके शरीर के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित कर सकता है.

हाई ब्लड प्रेशर

वजन बढ़ने से महिलाओं में हाई ब्‍लड प्रेशर का खतरा बढ़ जाता है और ब्लड सर्कुलेशन के लिए हार्ट पर अधिक दबाव पड़ने से हार्ट और रक्त वाहिकाओं दोनों को नुकसान पहुंच सकता है और ब्रेन हैमरेज का खतरा भी हो सकता है.

डिप्रेशन

ज्यादातर किशोरावस्था में लड़कियों में देखा जाता है कि मोटापा बढ़ने से उनमें बॉडी शेमिंग जैसी फीलिंग्‍स आ जाती है और धीरे-धीरे वे चिंता और डिप्रेशन में चली जाती हैं.

ये भी पढ़ें: Cholesterol Controlling Fruits: कोलेस्ट्रॉल को करना है कंट्रोल तो डाइट में शामिल करें ये 5 फल

फैटी लीवर प्रॉब्‍लम

फैटी लीवर में आपके लीवर में फैट बनने लगता है और आपको कई अन्य बीमारियां हो सकती हैं. यह ऑयली फूड, कैलोरी और फ्रूक्टोज के कारण भी हो सकता है. मोटापा और डायबिटीज फैटी लीवर के मुख्य कारणों में से एक है.

किडनी प्रॉब्‍लम

मोटापे के कारण किडनी में भी परेशानी हो सकती है. इससे ब्‍लड फिल्टर करने में परेशानी आती है और डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी बढ़ सकती है.

अनिद्रा की समस्या

महिलाओं को कई बार रात में अच्छे से नींद नहीं आती. इसकी वजह बढ़े वजन और पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं.

मूड स्‍वींग

मोटापे के कारण आपके शरीर में कुछ हार्मोनल बदलाव भी आ सकते हैं जिसके कारण मूड स्विंग हो सकता है. कभी-कभी मूड स्विंग होने पर महिलाएं बहुत ज्यादा खाना खाने लगती हैं, जिससे आपकी समस्या और बढ़ सकती है.

मोटापा दूर करने के उपाय

– अधिक से अधिक हरी सब्जियां, फल, प्रोटीनयुक्त आहार और मोटे अनाज का सेवन करें.

– अधिक मात्रा में पानी पीने की कोशिश करें ताकि शरीर हाइड्रेट रहे.

-रोज सुबह-शाम एक्सरसाइज करने की कोशिश करें.

-सोने और उठने का एक नियमित समय तय करें और उसे फॉलो करें.

-रात में कैफीन के सेवन से बचें.

-सुबह में हल्का नाश्ता करने की कोशिश करें.

-जंक फूड और ऑयली खाने से दूर रहें.

Tags: Health, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.