Health news how to take care of your self after delivery and baby blues deep
स्वास्थ्य

Health news how to take care of your self after delivery and baby blues deep

Tips to avoid baby blues  -डिलीवरी (Delivery) के कुछ दिन बाद अगर आपके व्यवहार में बहुत ज्यादा बदलाव आ गया है, तो हो सकता है कि आप ‘बेबी ब्लूज’ का शिकार हों. बहुत सारी औरतों को यह समस्या होती है. तकरीबन 80% महिलाएं प्रसव  के बाद में बेबी ब्लू (BABY BLUES) का सामना करती हैं. आप इस दौरान कुछ ऐसी चीजें महसूस कर सकती हैं जो आपके लिए एकदम अलग हो सकती हैं जैसे घबराहट, बहुत ज्यादा उदास महसूस करना, भावनात्मक होना आदि. हालांकि इससे घबराने की जरूरत नहीं है. इसके लिए यह जानना जरूरी है कि यह क्यों होता है और इसका कैसे सामना किया जाए. यहां दिए जा रहे टिप्स की मदद से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं. 

यह भी पढ़ें- अगर रात में सोते हैं कम, तो बुढ़ापे में डिमेंशिया के हो सकते हैं शिकार- रिसर्च

क्यों ऐसा होता है 

डिलीवरी के बाद में अचानक से एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रॉन दोनों कम हो जाते हैं. जो मूड स्विंग का कारण होते हैं. इस दौरान हार्मोन्स में बहुत तेजी से बदलाव होता है जो आपके मानसिक स्वास्थ्य पर असर डालता है. बेबी ब्लूज में आपको डर भी लगता है, उदासी भी रहती हैं और आप डिप्रेसन भी महसूस करती हैं.

इस दौरान क्या कर सकते हैं

‘बेबी ब्लूज’ अपने आप ठीक हो जाता है. इसके लिए किसी इलाज की जरूरत नहीं है लेकिन कुछ चीजें करके इसको थोड़ा बेहतर किया जा सकता है जैसे-

  • जितना हो सके सोने की कोशिश करें.
  • पार्टनर और परिवार के लोगों से मदद लें और उनको बताएं कि आपको क्या महसूस हो रहा है.
  • जिस काम में आप का मन लगे जैसे शॉपिंग मूवी वह करने की कोशिश करें.
  • अगर बच्चे को कोई देखने वाला है. तो उसके भरोसे बच्चे को छोड़कर, कुछ देर के लिए बाहर टहलने के लिए जाएं. इससे आपको अच्छा लगेगा.
  • इस दौरान शराब और दवाओं से दूर रहें. इनका असर आप के मन मस्तिष्क गलत तरीके से पड़ेगा.
  • हेल्थी खाना खाएं और थोड़ा-बहुत व्यायाम करने की कोशिश करें. इससे आपका स्ट्रेस कम होगा.

यह भी पढ़ें : जानें फर्टिलिटी ट्रीटमेंट के लिए अल्ट्रासाउंड स्कैन क्यों है जरूरी

डॉक्टर की मदद

ज्यादातर केस में डॉक्टर की मदद लेने की जरूरत नहीं होती है. लेकिन फिर भी यहां कुछ ऐसे लक्षण हैं अगर वह आप में हैं, तो आपको तत्काल हेल्थ केयर प्रोवाइडर की मदद लेनी चाहिए.

  • आप खुद को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रही हैं तो डॉक्टर के मदद जरूर लें.
  • दो हफ्ते में आपके स्थिति नहीं सुधरती तो, तो आप डॉक्टर से संपर्क करें. 
  • यदि आप अपने बच्चे का ख्याल नहीं रख पा रही हैं, तो भी डॉक्टर के पास जाने की जरूरत है. 
  • आप अपना काम खुद से नहीं कर पा रही हैं, तो आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत है. 

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.