Health News Dead butt syndrome or Gluteal Amnesia and its symptoms, causes and treatment
स्वास्थ्य

Health News Dead butt syndrome or Gluteal Amnesia and its symptoms, causes and treatment

Gluteal Amnesia: केवल हमारा दिमाग ही नहीं है जिसे भूलने की आदत हो, बट्स (कूल्हे) भी भूलने की बीमारी से पीड़ित हो सकते हैं. दरअसल, यह एक मेडिकल कंडीशन है, जिसे डेड बट सिंड्रोम (Dead Butt Syndrome) या ग्लूटेल एम्नेसिया (Gluteal Amnesia) कहा जाता है. जैसा कि नाम से पता चलता है, यह मूल रूप से आपके ग्लूट्स (कूल्हे) से जुड़ा है, जो अपने मुख्य कार्य को भूल रहे हैं.

ग्लूटल एम्नेसिया (Gluteal Amnesia) का मूल कारण निश्चित रूप से लंबे समय तक बैठे रहना और एक गतिहीन लाइफस्टाइल को बनाए रखना है, जिसका नतीजा होता है कि ग्लूटल मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं. उदाहरण के लिए, यदि आप लंबे समय तक काम कर रहे हैं, बिना ब्रेक लिए कंप्यूटर के सामने बैठे हैं, या लंबे समय तक गाड़ी चला रहे हैं, तो आपको डेड बट सिंड्रोम होने का खतरा हो सकता है.

क्या है ये बीमारी?
इस प्रोब्लम के दौरान व्यक्ति के ग्लूटस मेडियस (कूल्हे की हड्डी) में सूजन आ जाती है और सामान्य रूप से काम करना मुश्किल हो जाता है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब हम लंबे समय तक एक ही तरह से बैठते हैं तो ब्लड सर्कुलेशन रुक जाता है. इससे न सिर्फ कूल्हों के सुन्न पड़ने और उनमें दर्द होने की समस्या होती है. बल्कि इसके कुछ और साइड इफैक्ट्स भी देखने को मिल जाते हैं, जैसे ये कैंसर, हार्ट डिजीज, और डायबिटीज का भी कारण बन सकता है.

यदि आपके हिप फ्लेक्सर्स (Hip flexors) पर्याप्त रूप से स्ट्रेच नहीं हो पाते हैं, तो यह डेड बट सिंड्रोम को भी जन्म दे सकता है. गलत तरीके से दौड़ने वाले लोग भी इस सिंड्रोम से ग्रस्त हो सकते हैं. इसके अलावा, जो लोग मोटापे से ग्रस्त हैं या उनमें विटामिन डी, या विटामिन बी 12 की कमी है, शराब पीते हैं, वे भी इस बीमारी की चपेट में आ सकते हैं.

लक्षण
डेड बट सिंड्रोम के प्राथमिक लक्षण पैल्विक और पीठ के निचले हिस्से में दर्द है. इस कंडीशन को मैनेज करने का सबसे अच्छा तरीका है, बैठने से नियमित ब्रेक लेना और हल्का स्ट्रेच करना या थोड़ा चलना. गुड न्यूट्रिशन भी इसे रोकने में मदद करता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *