Hindi News - News18 हिंदी
स्वास्थ्य

health benefits of palash flower

Health Benefits Of Ayurvedic Herb Palash Flower: पलाश के फूल बेहद खूबसूरत लगते हैं. इनका आकर्षक रंग अनायास ही अपनी ओर ध्‍यान खींच लेता है. हालांकि इनके इसी लाल रंग के फूलों के कारण पलाश को आमतौर पर ‘जंगल की ज्वाला’ (Flame Of The Forest) या ‘ज्वाला वृक्ष’ (Flame Tree) भी कहा जाता है. इसके अलावा पलाश के फूल सेहत के लिए भी कई तरह से फायदेमंद होते हैं. यही वजह है कि इन फूलों को आयुर्वेद में एक शक्तिशाली जड़ी-बूटी माना जाता है और कई रोगों (Diseases) के इलाज में इनका इस्‍तेमाल होता है. पलाश का पौधा पूरे भारत में पाया जाता है.

पलाश के फूलों का इस्‍तेमाल कई गंभीर रोगों के इलाज में किया जाता रहा है. ट्रस्‍टहर्ब की एक रिपोर्ट में आयुर्वेदिक पुस्तक चक्र संहिता के हवाले से बताया गया है कि पलाश का पेड़, विशेष रूप से पलाश के फूल बहुत शुभ होते हैं और कई अच्छे अवसरों पर इसका उपयोग किया जाता है.

पलाश के फूलों के स्वास्थ्य लाभ
पेट के कीड़ों के लिए पलाश

पलाश के फूलों के अहम स्वास्थ्य लाभों में से एक पेट के कीड़ों को दूर करना भी शामिल है. पलाश के फूलों में मौजूद कृमिनाशक तत्‍व पेट के कीड़ों को दूर करने में अत्यधिक प्रभावी होते हैं.

ये भी पढ़ें – चीनी की जगह खाएं देसी खांड, सेहत को होंगे कई फायदे

गंभीर रोगों के इलाज में फायदेमंद

पलाश के फूलों का रस कई गंभीर रोगों में भी फायदा पहुंचाता है. इनका रस उन रोगियों को दिया जाता है, जो मूत्राशय की सूजन और पेशाब से संबंधित दिक्‍कतों से जूझ रहे हैं.

सूजन के लिए फायदेमंद

पलाश के फूल एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होते हैं, जिनका उपयोग शरीर में सूजन और मोच के इलाज के लिए भी किया जाता है. पलाश के कुचले हुए फूलों से प्राप्त पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगाने से तेजी से उपचार में मदद मिलती है.

ये भी पढ़ें – कोरोना मरीजों में 7 गुना ज्‍यादा है बेल्स पॉल्सी का खतरा

डायबिटीज के लिए पलाश के फूल

पलाश के फूल शरीर की उच्च रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में मदद करते हैं. यह डायबिटीज के कारण शरीर के अन्य भागों को होने वाले नुकसान को भी कम करने में मददगार होते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *