Gut Health Tips : अपनी आंत की सेहत को दुरुस्त बनाने के लिए जानें ये 5 आसान तरीके
स्वास्थ्य

Gut Health Tips : अपनी आंत की सेहत को दुरुस्त बनाने के लिए जानें ये 5 आसान तरीके

Easy Ways To Improve Gut Health : कहते हैं ‘अगर आपका पाचन ठीक है तो आपका पूरा स्वास्थ्य ठीक है…’ क्योंकि पाचन तंत्र (Digestive System) के बिगड़ने से हेल्थ में कुछ ना कुछ खराबी आ ही जाती है. और हमारे शरीर के पाचन तंत्र में आंत (Gut) एक महत्‍वपूर्ण अंग है. शरीर की पाचन क्रिया में छोटी आंत और बड़ी आंत दोनों ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं. आंत का काम हमारे खाने (Food) से हेल्‍दी और पौष्टिक चीजों को डाइजेस्ट करना है, जबकि बाकी बचे पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने का काम भी आंत ही करती हैं. ये हमारे पूरे शरीर में न्यूट्रीएंट्स (nutrients) यानी पोषक तत्वों को पहुंचाती हैं. एक हेल्दी आंत (Gut) होने से आपके इम्यून सिस्टम से लेकर ब्रेन तक बीमारी से लड़ने में मदद मिल सकती है यहां तक ​​कि ये आपके मूड को भी ठीक करने में मददगार हो सकती है. ऐसे में अगर आंतों में कोई समस्या पैदा हुई, तो हमारा पाचन तंत्र सबसे पहले प्रभावित होता है.

पाचन तंत्र कमजोर होने के कारण हमारी इम्यूनिटी कमजोर होती है और तमाम तरह के इंफेक्शन या दूसरी समस्याएं हमें घेर सकती हैं. ऐसे में हम यहां आपको बताते हैं कि खान-पान में किन चीजों को शामिल कर हम अपनी आंतों को हेल्‍दी रख सकते हैं. यूके की वेबसाइट एक्सप्रेस डॉट यूके में छपी रिपोर्ट में, ‘द् गट गो (The Gut Go)’के फाउंडर सास प्रसाद (Sas Parsad) ने आंत की सेहत को सही रखने के लिए 5 आसान स्टेप्स बताएं है. आप भी जानिए क्या हैं ये टिप्स और कैसे इनसे आपकी गट हेल्थ को फायदा हो सकता है.

पौष्टिक और वैराइटी डाइट लें
प्रसाद ने कहा: “रेशेदार, कलरफुल यानी अलग-अलग तरह के खाने से ये सुनिश्चित होगा कि आपके पेट के बैक्टीरिया को वो भोजन प्रदान किया जाए, जो उसे पनपने और पोषण देने के लिए आवश्यक है.” बीन्स, केला, हरी प्याज, पत्तेदार सब्जियां, रसभरी, क्विनोआ और दाल का वर्गीकरण अपनी डाइट में ज्यादा शामिल करने की सिफारिश की जाती है. प्रसाद ने समझाया, “फाइबर समग्र पाचन में सहायता करेगा, कब्ज और अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल तकलीफों को रोकने में मदद करेगा. अलग-अलग वैराइटी का फूड अधिक विविध माइक्रोबायोम (more diverse microbiome) के बराबर होता है.”

यह भी पढ़ें-
Relationship Tips: पुरुषों की इन 8 आदतों की वजह से महिलाएं बना लेती हैं उनसे दूरी, जरा रहें सतर्क

फर्मेंटेड फूड लें, जिनमें लाभकारी बैक्टीरिया हों
फर्मेंटेड फूड (fermented foods ) यानी किण्वित खाद्य पदार्थों को लें, क्योंकि ये आंत में अनुकूल बैक्टीरिया के संतुलन को बहाल करने में मदद करते हैं. प्रसाद सलाह देते हैं: “किण्वित खाद्य पदार्थ जो आपके आहार में शामिल किए जा सकते हैं, जैसे कि सॉकरक्राट (खट्टी पत्‍ता गोभी), केफिर (गाय के दूध से बना मलाईदार पेय), किमची (कोरियन सलाद रेसिपी), कोम्बुचा (अल्प अल्कोहलयुक्त, मीठी चाय), टेम्पेह (सोयाबीन से बनाया गया उत्पाद) और दही.”

अधिक पॉलीफेनोल युक्त खाद्य पदार्थ शामिल करें
प्रसाद के अनुसार,”पॉलीफेनोल्स पौधे के यौगिक हैं जिनके कई स्वास्थ्य लाभ हैं, सूजन को कम करने से लेकर माइक्रोबायोम में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने तक. पॉलीफेनोल्स डार्क चॉकलेट, रेड वाइन, ग्रीन टी, ब्लूबेरी और बादाम में पाए जा सकते हैं.”

यह भी पढ़ें-
आईवीएफ के जरिए पैदा हुए बच्चों में होता है जन्म दोष? जानें, इस ट्रीटमेंट से जुड़े ये 7 मिथ्स और फैक्ट्स

फिजिकल एक्टिविटी बढ़ाएं
प्रसाद ने कहा: “व्यायाम और सामान्य शारीरिक गतिविधि न केवल समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, बल्कि यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देने में भी मदद करता है.” एक स्टडी में ब्यूटायरेट नामक बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देने के लिए एक्सरसाइज को अहम पाया गया. ये ब्यूटायरेट आंत की परत को ठीक करने और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है.

प्रोबायोटिक लें
अंत में, प्रसाद एक उपयुक्त प्रोबायोटिक खोजने की सलाह देते हैं. उन्होंने कहा: “प्रोबायोटिक्स को कई तरह से आंत माइक्रोबायोम में सुधार करने के लिए जाना जाता है, जिसमें लाभकारी बैक्टीरिया के साथ आंत को हेल्दी करना, बैक्टीरिया के लाभकारी उपभेदों को बढ़ाने में मदद करना, आंत की परत को मजबूत करना, अवांछित रोगजनकों से बचाव और इम्यून सिस्टम के काम को बढ़ावा देने में मदद करना शामिल है. “

Tags: Health, Health News, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.