Fake or Pure Test: सूंघकर करें नकली चीनी की पहचान, इन 4 चीजों को चुटकी में ऐसे करें चेक
स्वास्थ्य

fake or pure test of sugar how to identify fake food products janiye nakli chini ki pehchan samp | Fake or Pure Test: सूंघकर करें नकली चीनी की पहचान, इन 4 चीजों को चुटकी में ऐसे करें चेक

मार्केट से कोई भी फूड या खाद्य सामग्री आंख बंद करके नहीं लेनी चाहिए. क्योंकि, कुछ बुरी नीयत वाले उत्पादक या बिचौलिए नकली या मिलावटी खाद्य पदार्थों को बाजार में उतार देते हैं. जिससे उन्हें कम लागत में भारी मुनाफा हो सके. ऐसे नकली उत्पादों का सेवन करने से ना सिर्फ आपकी जेब को नुकसान पहुंचेगा, बल्कि सेहत भी खराब होगी.

लेकिन FSSAI ने कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताया है, जिन्हें अपनाकर एक ही मिनट में पता लगा जाएगा कि फूड असली है या नकली. बल्कि आप नकली चीनी की पहचान सिर्फ सूंघकर ही कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: Fake Milk Test: क्या आप खरीद रहे हैं मिलावटी दूध, घी या पनीर, चुटकी में ऐसे करें चेक

FSSAI के मुताबिक, कुछ खाद्य सामग्रियों का Sensory Evaluation Quick Tests लेकर भी असली और नकली की पहचान की जा सकती है. जैसे-

Fake milk: नकली दूध की पहचान
अगर आपको कोई सिंथेटिक मिल्क दे रहा है. तो आप इसकी चुटकी में पहचान कर सकते हैं. क्योंकि, सिंथेटिक मिल्क पीने के बाद थोड़ा कड़वा स्वाद देता है. वहीं, अगर आप सिंथेटिक मिल्क को उंगलियों के बीच में रगड़ेंगे, तो वह साबुन जैसा एहसास देगा.

fake sugar: नकली चीनी की पहचान
अगर चीनी में यूरिया मिला हुआ है, तो आप उसकी पहचान सूंघकर कर सकते हैं. थोड़ी-सी चीनी को हथेलियों के बीच रगड़ें और फिर हथेलियों को सूंघें. अगर वह मिलावटी चीनी है, तो उससे एमोनिया की गंध आएगी. वहीं, दूसरे तरीके में थोड़ी चीनी को पानी में मिलाएं और फिर सूंघें. इससे भी एमोनिया की गंध आएगी.

ये भी पढ़ें: How to cook rice : इस तरीके से बनाना शुरू करें चावल, वरना बढ़ता है कैंसर व हार्ट डिजीज का खतरा

powder spices: पाउडर वाले मसाले
हम बाजार से जो पाउडर मसाले खरीदते हैं, उसमें नमक की मिलावट की जाती है. अगर आपके मसाले में नमक मिला है, तो आप उसे स्वाद करके चेक कर सकते हैं. अगर स्वाद करने पर मसाले से नमक का स्वाद आता है, तो वह नकली हो सकता है.

fake atta: नकली आटे की पहचान
अगर आपके आटे में मैदा की मिलावट की गई है, तो उसे पहचानने का तरीका काफी आसान है. जब आटा गूंथा जाता है, तो मिलावटी आटे को बहुत कम पानी चाहिए होता है. वहीं, शुद्ध आटे से बनी रोटियां स्वाद में मीठी होती है और नकली आटे से बनी रोटियों का कोई स्वाद नहीं होता है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *