Effects of Stress on Your Face
स्वास्थ्य

Effects of Stress on Your Face

Effects Of Stress On Your Face : स्‍ट्रेस आज के लाइफ स्‍टाइल (Lifestyle) का हिस्‍सा बन चुका है. लेकिन जब ये क्रॉनिक लेवल पर चला जाता है तो ये हमारे मानसिक सेहत के साथ साथ शारीरिक सेहत पर भी असर करने लगता है. इसकी वजह से हमारी त्‍वचा (Skin) भी तेजी से प्रभावित होती है और उम्र से पहले ही ये एजिंग की शिकार होने लगती है. लगातार स्‍ट्रेस की वजह से चेहरे पर तमाम तरह की प्रॉब्‍लम नजर आने लगती है.स्‍ट्रेस वेबसाइट के मुताबिक, अगर तनाव (Stress) क्रॉनिक लेवल पर आ जाए तो इसकी वजह से चेहरे पर ड्राइनेस, रिंकल्‍स, एक्‍ने, पिंपल्‍स आदि आने लगते हैं.

ये है वजह

दरअसल जब क्रॉनिक स्‍ट्रेस से कोई गुजरता है तो चेहरे पर दो असर नजर आते हैं. पहला, स्‍ट्रेस के दौरान शरीर से कुछ ऐसे हार्मोन्‍स निकलते हैं जो स्किन को प्रभावित करते हैं. जबकि दूसरा असर ये होता है कि हम कुछ गलत आदतों जैसे चेहरा ना धोना, नेल बाइटिंग, लिप्‍स बाइटिंग आदि करने लगते हैं. जिसकी वजह से स्किन प्रभावित होती है.

स्‍ट्रेस का स्किन पर ये पड़ता है प्रभाव

1.एक्‍ने

जब हम स्‍ट्रेस में होते हैं तो शरीर कॉटिजोल नाम का हार्मोन रिलीज करता है जिससे हेयर पोर्स में एक्‍सेस ऑयल रिलीज होने लगता है और जिससे एक्‍ने होने की संभावना बढ जाती है.

2.बैग अंडर आई

शोधों में यह पाया गया कि जब हम तनाव में होते हैं तो हमारी नींद प्रभावित होती है और इससे आंखों के नीचे के मसल्‍स कमजोर हो जाते हैं और सैगी आइज, फाइन लाइन्‍स,स्किन में स्टिफनेस, पिगमेंटेशन जैसी समस्‍या आती है. इन सब वजहों से यहां अंडर आई बैग बनने लगते हैं.

इसे भी पढ़ें : बॉडी वैक्सिंग के लिए इस्तेमाल करें ये नेचुरल चीजें, अनचाहे बाल मिनटों में होंगे गायब

3.ड्राई स्किन

स्‍ट्रेस का असर स्किन के हाइड्रेशन और नेचुरल नैरिशमेंट पर भी पड़ता है. स्किन की फ्लक्सिबिलिटी जाने लगती है और स्किन ड्राई और डल होने लगता है.

4.रैश

स्‍ट्रेस इम्‍यून सिस्‍टम को प्रभावित करता है जिससे स्किन पर रैश आदि होने की संभावना बन जाती है.

5.रिंकल्‍स

स्‍ट्रेस स्किन में प्रोटीन के अवशोषण को कम कर देता है जिससे चेहरे पर फाइन लाइन और रिंकल्‍स बनने लगते हैं.

इसे भी पढ़ें : बरसात में अपने स्किन केयर रूटीन में शामिल करें मुल्तानी मिट्टी फेस पैक, ऐसे करें इस्तेमाल

6.बाल पर प्रभाव

स्‍ट्रेस की वजह से बाल सफेद होने और झड़ने की समस्‍या भी शुरू हो सकती है.

7.ये भी पड़ता है असर

अगर इंसान क्रोनिक स्‍ट्रेस झेल रहा है तो उसके दांत, ज्‍वाइंट रिसऑर्डर, सांस की समस्‍या, होठों का फूलना आदि समस्‍या भी होने लगती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *