2021 से पहले नहीं बन पाएगी कोरोना की वैक्सीन, संसदीय पैनल को दी गई जानकारी
स्वास्थ्य

Corona vaccine will be ready only by 2021, officials gave information to parliamentary panel | 2021 से पहले नहीं बन पाएगी कोरोना की वैक्सीन, संसदीय पैनल को दी गई जानकारी

नई दिल्ली: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) की वैक्सीन (Vaccine) को लेकर कई तरह के दावे किए जा रहे हैं. लेकिन शुक्रवार को एक संसदीय पैनल के सामने पेश हुए अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस का कोई टीका (Corona Vaccine) अगले साल से पहले तैयार नहीं होगा. 

संसदीय पैनल को बताया बताया गया कि कोविड-19 की वैक्सीन अगले साल तक ही बनाई जा सकती है. बता दें कि विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन संबंधी संसदीय स्थाई समिति की एक बैठक शुक्रवार को आयोजित की गई थी जिसमें कोरोना वैक्सीन बनाने पर चर्चा की गई थी. इसमें वरिष्ठ कांग्रेस नेता जयराम रमेश की अध्यक्षता वाले पैनल में बैठक के लिए छह अन्य सदस्य भी शामिल हुए थे. 

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए 25 मार्च के देशव्यापी तालाबंदी के बाद चैनल की यह पहली बैठक थी. माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने संसदीय समिति की बैठक के फिर से शुरू होने पर खुशी जताई और विलंब पर परिस्थितियों के नियंत्रण से परे होने की बात कही. 

ये भी पढ़ें:- UP में लागू हुआ 55 घंटे का लॉकडाउन, जानें क्या खुला रहेगा और क्या रहेगा बंद

नायडू ने कहा कि हर कोई समिति के द्वारा काम को फिर से शुरू करने के लिए उत्सुक था, लेकिन परिस्थितियां हमारे नियंत्रण में नहीं थी और हम मजबूर थे. नायडू से बैठकों का आयोजन करने का आग्रह करते हुए रमेश ने ट्वीट में कहा, सर मैं आपसे अब भी अनुरोध करूंगा कि आप डिजिटल बैठकों को अनुमति दें क्योंकि संसद अगले कम से कम एक महीने तक शुरू होने की संभावना नहीं है. 

सूत्रों के अनुसार, बैठक में मौजूद अन्य सदस्यों ने भी डिजिटल विचार-विमर्श पर जोर दिया. बैठक में सरकार की कोविड-19 की तैयारियों और संचालन पर चर्चा हुई. रमेश ने ट्विटर पर लिखा कि हमारी संसदीय स्थाई समिति विज्ञान और प्रौद्योगिकी और कोविड-19 के मुद्दे पर @DBTIndia @IndiaDST @ASIR_IND और @PrinSciAdvGol के साथ अधिक जानकारी वाली और उपयोगी बैठक कर रही है. यह बुरा है कि हमें डिजिटल बैठकें करने की अनुमति नहीं है जिससे ज्यादा सांसद हो सकें.

ये भी देखें-

ये भी पढ़ें:- अब अंतरिक्ष में लगा चीन को तगड़ा झटका, उड़ान के एक मिनट बाद फेल हुआ रॉकेट
 
बताते चलें कि गृह मामलों की संसदीय स्थाई समिति की बैठक 15 जुलाई को होने वाली है. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने 2 जुलाई को एक बयान में घोषणा की थी कि वह भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड के साथ स्वदेशी कोविड-19 वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल को तेजी से ट्रैक करने के लिए साझेदारी करेगा. वहीं आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि आईसीएमआर का लक्ष्य 15 अगस्त तक स्वदेशी कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करना है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *