Benefits of Shashakasana: शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए बेहद लाभकारी है ये आसन, जानिए कमाल के फायदे
स्वास्थ्य

Benefits of Shashakasana know here method of doing Shashakasan brmp | Benefits of Shashakasana: शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए बेहद लाभकारी है ये आसन, जानिए कमाल के फायदे

Benefits of Shashakasana: हम देखते हैं कि जिंदगी की भागदौड़ और इसकी समस्याएं कभी-कभी आपको मानसिक रूप से बहुत थका देती है. कई लोग ऐसे हैं, जो अपने परिवार के साथ रहते हुए भी हमेशा मानसिक अंशाति का अनुभव करते हैं. ऐसे में बहुत जरूरी है कि अपना ध्यान किसी रचनात्मक कार्य में लगाने के साथ अपने करीबियों के साथ फोन पर जुड़े रहें. 

मानसिक और शारीरिक सेहत को सुधारने के लिए योग करना बहुत जरूरी है. योग करने से न सिर्फ शरीर बीमारियों से दूर होता है बल्कि इससे तनाव भी कम होता है. इसलिए इस खबर में हम आपके लिए एक ऐसा आसन लेकर आए हैं, जो शारीरिक और मानसिक समस्याओं को सुलझा सकता है. इस आसन का नाम है शशकासन नीचे जानिए इसे करने की विधि और फायदे…

शशकासन करने की विधि (method of doing Shashakasana)

  1. सबसे पहले वज्रसान की स्थिति में बैठ जाएं, मतलब घुटनों को मोड़कर पैर के पंजों पर बैठना है.
  2. अब सांस भरते हुए हाथों को ऊपर की ओर लेकर जाएं.
  3. इसके बाद सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे सामने की ओर झुकते जाएं
  4. इस दौरान आपकी गर्दन झुकी हुई रहेगी और सिर को मैट से स्पर्श करें.
  5. इस स्थिति में कम से कम 15-20 सेकेंड या अपनी क्षमतानुसार बने रह सकते हैं.

शशकासन के फायदे  (Benefits to the body from Shashakasana)

  • शरीर की स्फूर्ति बढ़ाकर उसे लचीला बनाता है.
  • तनाव, परेशान को दूर कर मन को शांत करता है.
  • पेट से संबंधित रोगों को करता है
  • डायबिटीज़ मरीजों के लिए फायदेमंद है
  • पेनक्रियाज की गतिशीलता इससे प्रभावित होती है, जो बहुत अच्छी चीज़ है.
  • रीढ की दोनों ओर की हड्डी स्टिफ है तो इस आसन को करने से वो भी लचीली हो जाती हैं.
  • हिप, थाइज और पेट का फैट कम करता है. 
  • कंधे, गर्दन और हाथ दर्द की प्रॉब्लम में आराम मिलता है.

शशकासन करते वक्त रखें ये सावधानियां (Keep these precautions while doing Shashakasana)

  1. सर्वाइकल पेशेंट इस आसन को सिर के नीचे तकिया रखकर करें.
  2. हाई बीपी और हार्ट पेशेंट्स बहुत ज्यादा देर इस स्थिति में न रहें.
  3. इस बात का ध्यान रखें कि गर्दन शरीर के लेवल से नीचे नहीं जानी चाहिए.
  4. स्लिप डिस्क वालों को ये आसन नहीं करना चाहिए।
  5. अगर आसन को करते वक्त शरीर के किसी हिस्से में दर्द बढ़ रहा है तो आसन न करें.

ये भी पढ़ें: skin care tips: यह 4 स्किन Toner चेहरे का ग्लो लाएंगे वापस, चमक उठेगी आपकी स्किन

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.​



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *