जो लोग रात में ये चीजें खाते हैं, उनकी सेहत हमेशा रहती है गड़बड़, दवाइयों पर चलती है जिंदगी!
स्वास्थ्य

avoid these foods at night know what not to eat at night samp | जो लोग रात में ये चीजें खाते हैं, उनकी सेहत हमेशा रहती है गड़बड़, दवाइयों पर चलती है जिंदगी!

भारत में खानपान के शौकीन बहुत मिलेंगे और इस शौक में वह किसी भी समय कुछ भी खा लेते हैं. लेकिन यह आदत सेहत के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है. कुछ चीजें व फूड ऐसे होते हैं, जिन्हें रात के समय या सोने से पहले खाना नुकसानदायक होता है. इस नुकसान के कारण उनकी सेहत अक्सर खराब रहती है और वह दवाइयों पर निर्भर हो जाते हैं.

आइए 5 ऐसी चीजों के बारे में जानते हैं, जिन्हें रात के समय भूलकर भी नहीं खाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: Beauty Tips: 20 से 30 साल की उम्र में अपनाएं ये टिप्स, त्वचा में जिंदगीभर रहेगी चमक

रात में फल खाना
माना जाता है कि रात में सोने से ठीक पहले फलों का सेवन नहीं करना चाहिए. क्योंकि, सोते हुए हमारा पाचन धीमा हो जाता है और अपच की समस्या हो सकती है. इसके साथ ही ज्यादा नैचुरल शुगर वाले फूड का रात में सेवन करने से ब्लड शुगर हाई हो सकता है. आप सोने से 2 घंटे पहले फल खा सकते हैं.

दही का सेवन
लोग खाने के साथ दही का सेवन करना पसंद करते हैं. लेकिन रात के खाने के साथ दही का सेवन और फिर तुरंत सो जाना नुकसानदायक हो सकता है. क्योंकि, दही की तासीर ठंडी होती है, जिससे सर्दी-जुकाम की समस्या हो सकती है. वहीं, अपच के कारण गैस और सीने में जलन हो सकती है.

ये भी पढ़ें: Work from home tips: कुर्सी पर बैठे-बैठे करें ये स्ट्रेचिंग, मिनट में दूर होगा गर्दन और पीठ का दर्द

जंक फूड
रात में पिज्जा, बर्गर व चिप्स बिल्कुल नहीं खाना चाहिए. क्योंकि, इसमें तेल, कार्ब्स, फैट और आर्टिफिशियल शुगर की मात्रा होती है. जिन्हें पचाने के लिए पाचन तंत्र को काफी मेहनत करनी पड़ती है. मगर सोते हुए डायजेशन धीमा हो जाने के कारण यह ठीक से पच नहीं पाते और शुगर व मोटापा जैसी समस्याएं पैदा करते हैं.

कैफीन
अगर आप रात के समय चाय व कॉफी जैसी कैफीन वाली ड्रिंक का सेवन करते हैं. तो तुरंत रोक दें. क्योंकि, इससे आपके दिमाग पर असर पड़ता है और आपकी नींद प्रभावित होती है. कई शोध में बताया गया है कि सोने से 2 या 3 घंटे पहले भी कैफीन का सेवन करने से नींद आने में दिक्कत हो सकती है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *