स्वास्थ्य

Attention seeing the green color of peas do not consider it real recognize it like this

Test Colour Adulteration in Green Peas : हरी मटर (Green peas) का नाम लेते ही हमारे मुंह में उसका मीठा-मीठा स्वाद आने लगता है. मानों हमने अभी हरी मटर को छीला हो और झट से उसके दाने अपने मुंह में डाल दिए. हरी मटर हमारे डाइनिंग टेबल पर सिर्फ हमारे मेनकोर्स का हिस्सा ही नहीं होती है, बल्कि इसे हम आमतौर पर भी लोग कई तरह से खाते हैं. कुछ लोग कच्ची मटर खाने के शौकीन होते हैं, वो छीलते-छीलते शुरू हो जाते हैं. वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो दुकान पर मटर का भाव पूछने से पहले ही एक मटर को तुरंत छीलकर मुंह में डाल लेते हैं.

ऐसे ही ना जाने कितने किस्से इस छोटी सी हरी मटर के साथ जुड़े हैं. कुछ लोग तो मटर को छिलके समेत धीमीं आंच पर भूनकर खाते हैं, तो वहीं कुछ लोग चाट में इसका भरपूर इस्तेमाल करते हैं. मटर विटामिन, मिनरल्स और एंटी-ऑक्सीडेंट का बड़ा स्रोत है. आज बाजार में फ्रोजन मटर का प्रचलन भी बढ़ गया है. पैकेट में छिली हुई मटर को फ्रीज किया जाता, जिससे वो काफी दिन तक चल सकती है. मटर का मौसम जाने के बाद ये मटर के चाहने वालों के लिए एक बेहतरीन विकल्प है. हालांकि इसे लेकर भी अब संशय बढ़ने लगा है.

यह भी पढ़ें- बच्चों के शरीर में वयस्कों से ज्यादा प्लास्टिक के कण, रिसर्च से सामने आई ये वजह

छीली हुई मटर के मामले में देखा गया है कि अब इन पर हरा रंग किया जा रहा है. ताकि ये बाजार में पहुंचने पर ज्यादा हरी और ताजा दिखाई दे. तो ऐसे में मटर खाने वालों के लिए बड़ा सवाल खड़ा होता है, वो ये कि असली और नकली मटर का टेस्ट कैसे करें? परेशाम मत होइये, भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI)ने हरी मटर को टेस्ट करने का एक बहुत ही आसान तरीका बताया है. आप भी जानिए.

22 सितंबर को किए अपने ट्वीट में एफएसएसएआई (FSSAI) ने लिखा है, “हरी मटर में आर्टिफिशियल रंग मिलावट का पता लगाना”. इस ट्वीट के साथ ही एक 38 सेकंड का वीडियो भी दिया गया है. जिसमें बताया गया है कि आप कैसे आर्टिफिशियल कलर वाली मटर की पहचान कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- इन 7 चीजों को खाने से बढ़ेगा ‘फीलगुड कराने वाले हार्मोन’, जानिए कैसे

कैसे करें पहचान
एफएसएसएआई (FSSAI)  द्वारा जारी किए वीडियो के अनुसार, सबसे पहले आपको एक कांच के गिलास में मटर के दाने डालने हैं. फिर इसे पानी से भरना है. आधे घंटे तक इसे छोड़ने के बाद आपको देखना है कि इसमें रंग तो नहीं आया है? यदि गिलास का पानी हरा हो गया है, तो जरूर इसमें आर्टिफिशियल कलर मिला था. और अगर गिलास के पानी का रंग वैसा ही रहा, तो मतलब कि आपके पास जो मटर है उसका रंग एकदम नेचुरल है. इससे आपके स्वास्थ्य को कोई हानि नहीं होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *