News18 हिंदी - Hindi News
स्वास्थ्य

हर समय सांस लेने में परेशानी हो सकता है चेस्ट इंफेक्शन का संकेत, जानिए लक्षण और घरेलू उपचार

हाइलाइट्स

चेस्ट इंफेक्शन में खांसी के साथ गले में बलगम फसने से सांस लेने में परेशानी हो सकती है.
खांसी के साथ गीला बलगम आना चेस्ट इंफेक्शन के लक्षण हो सकते हैं.

Chest Infection : चेस्ट में इंफेक्शन बैक्टीरिया या वायरस की वजह से हो सकता है. चेस्ट इंफेक्शन के चलते कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, जिसमें सबसे अधिक दिक्कत सांस लेने में हो सकती है. चेस्ट में इंफेक्शन का कारण अधिकतर ब्रोंकाइटिस वायरस होता है और किसी इनफेक्टेड व्यक्ति के संपर्क में आने से यह शरीर में तेजी से फैल सकता है. चेस्ट इंफेक्शन का खतरा ज्यादातर बुजुर्गों, छोटे बच्चों, धूम्रपान करने वालों, गर्भवती महिलओं या मोटापे से शिकार लोगो में ज्यादा पाया जाता है. चेस्ट इंफेक्शन में ज्यादा खांसी के साथ गले में बलगम फसने से सांस लेने में परेशानी हो सकती है. आइए जानते हैं, खांसी के साथ तेज बुखार चेस्ट इंफेक्शन का संकेत हो सकते हैं. जानें चेस्ट इंफेक्शन के लक्षण और बचाव के उपाय.

चेस्ट इंफेक्शन के लक्षण 
-खांसी के साथ गीला बलगम आना.
-बोलते समय गले में घरघराहट होना.
हेल्थ लाइन के अनुसार,  बुखार और सिर दर्द चेस्ट इन्फेक्शन के लक्षण होते हैं.
-गले में घुटन और सांस लेने में परेशानी होना.

यह भी पढ़ेंः  कार्डियक अरेस्ट की कंडीशन में CPR से कैसे बचाई जा सकती है जान? जान लीजिए

-सीने में हर समय बेचैनी होना.
-मांसपेशियों और पूरी बॉडी में पेन होना.
-हर समय कमजोरी और थका हुआ महसूस होना.
-पीला और हरा बलगम आना.

चेस्ट इंफेक्शन से बचने के घरेलू उपचार 
– बुखार या दर्द होने पर डॉक्टर से परामर्श की गई एंटीबैक्टीरियल दवाई ले सकते हैं.
-ठीक प्रकार से अपनी बॉडी को रिलैक्स करें और जितना हो सके आराम करें.
-गले से बलगम निकालने के लिए ओटीसी डिकॉन्गेस्टेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं.
-ज्यादा से ज्यादा लिक्विड चीजों का सेवन करें और खुद को हाइड्रेटेड रखें. इससे बलगम गले में नहीं फंसेगा और सांस लेने में आसानी होगी.

ये भी पढ़ें: हीमोग्लोबिन की कमी से जूझ रहे हैं तो खाएं जामुन, मिलेंगे ये भी फायदे

-दिन में दो से तीन बार इनहेलर या स्टीम ज़रूर लें.
-रात में सोते वक्त सीधे लेटने से बचें. ऐसा करने से चेस्ट में बलगम जमा हो सकता है. सोते समय सिर के नीचे तकिया रख सकते हैं.
-गले में तकलीफ होने पर हल्का गर्म पानी में शहद और नींबू डालकर पीने से राहत मिलती है.
-स्मोकिंग करने से बचें और धुएं वाली जगह पर न जाएं.

Tags: Health, Infection, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.