हर समय शक करना भी हो सकता है पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर, जानिए लक्षण
स्वास्थ्य

हर समय शक करना भी हो सकता है पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर, जानिए लक्षण

हाइलाइट्स

पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर एक गंभीर बीमारी है.
हर समय अकेले रहना पीपीडी का लक्षण हो सकता है.
हर समय नेगेटिव विचारों से घिरे रहना हो सकता है लक्षण.

Paranoid Personality Disorder : पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर एक मानसिक बीमारी है जिससे ग्रस्त व्यक्ति हर समय छोटी-छोटी बातों पर बेकार का शक करने लगता है. लोग कई बार बेवजह अपने परिवार, बच्चों या दोस्तों पर शक करने लगते हैं जिसकी कई वजहें हो सकती है. व्यक्ति का बर्ताव बदलने या कुछ छिपाने पर शक या डाउट होना नॉर्मल है, लेकिन हर व्यक्ति पर हर वक्त शक करने की आदत को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. हर समय शक करना पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर जैसी गंभीर बीमारी का लक्षण हो सकता है.पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर यूं तो किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है लेकिन इसके शुरुआती लक्षण एडल्ट ऐज में देखने को मिल सकते हैं. पीपीडी में व्यक्ति शक करने के कारण अपने किसी भी रिलेशन में खुश नहीं रह पाते हैं.

पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर के लक्षण :
पीपीडी में व्यक्ति हमेशा बेवजह की बातों को सोचकर परेशान हो सकता है.
-वेब एमडी के मुताबिक पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर में व्यक्ति को दूसरों के द्वारा की गई हर चीज उन्हे नीचा दिखाने के लिए की गई साजिश लग सकती है.
-अपने दोस्तों और परिवार की भावनाओं को हमेशा गलत समझना
-बहुत ज्यादा इमोशनल होना
-अपने पार्टनर पर शक करना और हर समय छिपकर उनका पीछा करना

-किसी भी समय आराम से बैठकर रिलैक्स ना कर पाना
-हर समय नेगेटिव विचारों से घिरे रहना
-अपनी हर सही गलत बातों पर अड़े रहना और जिद्दी स्वभाव होना
-अपनी गलती ना मानना और हमेशा अपने को सही मानकर चलना
-दूसरों के प्रति जलन और द्वेष रखना
– अपने व्यक्तित्व के बारे में किसी को सच नहीं बताना और हर समय झूठ बोलना
-दूसरे लोगों से कम मेलजोल रखना और अकेले रहना

यह भी पढ़ेंः क्या डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है जामुन? यहां जानें

पैरानॉयड पर्सनैलिटी डिसऑर्डर के कारण :
-व्यक्ति के जीवन में ऐसी घटनाएं जिनके कारण उसके दिमाग पर बुरा असर पड़ा हो
-ऐसे व्यक्ति जिनका सारा जीवन दुख और संघर्षों में रहा हो
-किसी अपने के खोने से सदमा लगने पर पीपीडी का शिकार हो सकते हैं

यह भी पढ़ेंः युवाओं में बढ़ रही ब्रेन स्ट्रोक की समस्या, एक्सपर्ट से जानें लक्षण और बचाव

Tags: Health, Lifestyle, Mental health

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.