हड्डियों की सेहत को नुकसान पहुंचाती हैं ये 3 चीजें, आज ही छोड़ें
स्वास्थ्य

हड्डियों की सेहत को नुकसान पहुंचाती हैं ये 3 चीजें, आज ही छोड़ें

बचपन में हम में से ़बहुत लोगों ने कम से कम एक बार तो दूध न पीने के लिए डांट खाई ही होगी. हमारे बड़ों का सुझाव है कि हम चाहे कितने ही बड़े क्यों ना हो जाएं लेकिन हमारी डेली डाइट में दूध हमेशा शामिल रहना चाहिए. क्या आपने कभी सोचा है कि दूध की इतनी ज्यादा पैरवी करने के पीछे क्या वजह है? असल में इसकी वजह है कैल्शियम (Calcium). कहने की जरूरत नहीं है कि समय के साथ हमारी हड्डियों की हेल्थ बिगड़ती जाती है और आजकल के बिजी लाइफस्टाइल में हम अक्सर हड्डियों की सेहत (Bone Health) को नजरअंदाज कर देते हैं. इससे ऑर्थराइटिस, न्यूरोमेटिस, जोड़ों में दर्द की परेशानी बढ़ जाती है.

इससे पहले कि बहुत देर हो जाए, अब समय आ गया है कि हम कुछ बदलाव लाएं. यहां कुछ चीजें बताई गई हैं, जिन्हें जानना बोन हेल्थ को बनाए रखने के लिए बहुत जरूरी है.

स्मोकिंग और शराब
नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (NCBI) के अनुसार, स्मोकिंग हड्डियों को नुकसान पहुंचाती है और फ्रैक्चर को बढ़ावा देती है और ये संभवतः एस्ट्रोजेन, कैल्शियम और विटामिन डी के हस्तक्षेप की वजह से होता है. कमजोर हड्डियों के संतुलन के लिए स्मोकिंग जिम्मेदार है और हड्डियों के नुकसान के लिए एक प्रमुख जोखिम कारक है. दूसरी तरफ, अगर आप ज्यादा शराब पीते हैं, तो आपके शरीर में कैल्शियम, विटामिन डी और हार्मोन को अवशोषित और कंट्रोल करने की क्षमता बाधित होती है. इसके अलावा, इससे हड्डियों का घनत्व कम होने और हड्डी टूटने की संभावना हो सकती है.

यह भी पढ़ें-
Yoga Session: शरीर को फिट रखने के लिए सूक्ष्म आयाम अधिक फायदेमंद, बिना इंजरी के बनाता है मजबूत

बहुत ज्यादा नमक
शायद ही किसी ने हमें यह जानकारी दी हो कि हम जितना ज्यादा नमक खाते हैं, उतना ही ज्यादा कैल्शियम हमारी बॉडी से निकल जाता है. एनसीबीआई के अनुसार, ज्यादा नमक खाना ना केवल ऑस्टियोपोरोसिस और मूत्र कैल्शियम (urinary calcium) की हानि से संबंधित है, बल्कि हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट डिजीज और किडनी स्टोन जैसी कई बीमारियों से भी जुड़ा है. अक्सर, सिनेमा या टीवी देखते वक्त हम चिप्स, पॉपकॉर्न, जैसे फूड पसंद करते हैं, हो सकता है कि उनमें नमक की मात्रा सबसे अधिक हो. संतुलन बनाए रखने के लिए, आपको नमक को पूरी तरह से काटने की ज़रूरत नहीं है, लेकिन प्रति दिन आपके खाने में कुल सोडियम की मात्रा 2,300 मिलीग्राम से कम होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें-
प्रेग्नेंसी के दौरान मां के मोटापे से बच्चों में हार्ट डिजीज का खतरा- स्टडी

डिब्बाबंद/प्रोसेस्ड फूड
येरुशलम की हिब्रू यूनिवर्सिटी (Hebrew University) के रिसर्चर्स ने अपनी स्टडी द्वारा अल्ट्रा-प्रोसेस्ड फूड आइटम्स और हड्डियों की गुणवत्ता में कमी के बीच की कड़ी को साबित किया है. जहां डिब्बाबंद फूड हमारे समय की बचत कर हमारी लाइफ को आसान बनाता है, वहीं रोजाना इसके इस्तेमाल से हड्डियों में सूजन (inflammation) भी हो सकती है. इसके अलावा, कुछ पैकेज्ड फूड आइटम हड्डियों की सूजन के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार होते हैं. शायद ही हमें पता होगा कि हेल्थ को फायदा पहुंचाने वाली कुछ सब्जियां जैसे मशरूम, शकरकंद, टमाटर और बैंगन भी हड्डियों में सूजन पैदा कर सकते हैं.

Tags: Health, Health News, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.