News18 हिंदी - Hindi News
स्वास्थ्य

सोते समय पसीना आना हो सकता है कम शुगर लेवल का संकेत, जानिए अन्य वजह

हाइलाइट्स

एंटीडिप्रेसेंट के सेवन से भी सोते समय पसीना आ सकता है.
घबराहट के कारण भी सोते वक्त लोगों को पसीना आता है.

Night Sweating: कई लोगों को अक्सर रात में सोते हुए पसीना आता है. गर्मी के मौसम में तापमान बढ़ने की वजह से पसीना आना नॉर्मल है लेकिन कुछ लोगों को रात में सोते हुए खास गर्मी ना होने के बावजूद भी ज्यादा पसीना आता है और जब वे सुबह सोकर उठते हैं तो खुद को पूरी तरह से पसीने में लथपथ पाते हैं. लंबे समय से हर रोज ऐसा होना सामान्य नहीं है.

सोते समय पसीना आने के कई कारण हो सकते हैं, अधिक पसीना आना कोई गंभीर बात नहीं है लेकिन फिर भी आपको सचेत रहने की आवश्यकता है. कब आपको डॉक्टर के पास जाना है, क्या वजहें हैं और क्या इलाज हो सकता है आइए इस बारे में जानते हैं.

क्या है रात में पसीना आने की वजह?

लो ब्लड शुगर
हेल्थलाइन 
के अनुसार जिन लोगों का ब्लड शुगर लेवल कम होता है उनको भी रात में सोते समय अत्यधिक पसीना आने की संभावना होती है.

यह भी पढ़ेंः सॉइल पॉल्यूशन से बढ़ रहा हार्ट डिजीज का खतरा !

दवाओं का साइड इफेक्ट
कई बार दवाओं के साइड इफेक्ट्स से भी लोग सोते समय अधिक पसीने की समस्या का सामना कर सकते हैं. इसमें कुछ एंटीडिप्रेसेंट, हार्मोन उपचार शामिल हो सकते हैं.

घबराहट
कई बार लोग रात में सोते समय बूरे या डरावने सपने देखते हैं या किसी और वजह से वह घबरा जाते हैं, तब बहुत ज्यादा पसीना आ सकता है.

यह भी पढ़ेंः डायबिटीज के रोगियों को सप्ताह में केवल 3 दिन करनी चाहिए जिम?

क्या है पसीने की समस्या का इलाज
सबसे पहले तो डॉक्टर से बात करें और सलाह के आधार पर ट्रीटमेंट लें. इसके अलावा अपनी दिनचर्या में परिवर्तन करके भी आप इससे बच सकते हैं. जैसे शराब का सेवन न करें, ठंडे कमरे में सोएं, तनाव न लें, डॉक्टर की सलाह से एंटी एंग्जायटी दवाओं का सेवन भी कर सकते हैं.

कब डॉक्टर की मदद है जरूरी?

आमतौर पर डॉक्टर इसको बहुत बड़ी समस्या नहीं मानते हैं. लगभग 50 वर्ष की उम्र पार कर चुके लोगों को पसीना आने की शिकायतें ज्यादा होती हैं. लेकिन अगर आपकी उम्र 40 साल या उससे कम है फिर भी आपको नियमित रूप से पसीने की समस्या हो रही है तो आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए.

Tags: Heath, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.