सेक्सुअल और रिप्रोडक्टिव स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं ये 9 हाइजीन की आदतें, आज से ही अपनाएं
स्वास्थ्य

सेक्सुअल और रिप्रोडक्टिव स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं ये 9 हाइजीन की आदतें, आज से ही अपनाएं

Hygiene Habits For Healthy Sexual and Reproductive Health: शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए सेक्सुअल हेल्थ (Sexual Health) पर भी ध्यान देना बहुत जरूरी है. यौन स्वास्थ्य को नजरअंदाज करने से कई तरह की गंभीर बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है. खासकर, सेक्सुअल और रिप्रोडक्टिव हेल्थ को बरकरार रखने के लिए प्राइवेट पार्ट की साफ-सफाई का भी ध्यान देना बहुत जरूरी है। यौन संचारित संक्रमणों (sexually transmitted infections) को कम करना चाहते हैं, तो फोर्टिस हॉस्पिटल (मुंबई) की सीनियर कंसल्टेंट-ऑब्सटेट्रिशियन एंड गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. सोनल कुम्ता द्वारा बताए गए पर्सनल हाइजीन की इन आदतों (Hygiene practices) को जरूर अपनाएं, ताकि आप एक स्वस्थ, सुरक्षित, यौन जीवन जी सकें:

सेक्सुअल हेल्थ को दुरुस्त रखने के लिए हाइजीन टिप्स

इंटिमेट हाइजीन

चूंकि, हम एक उष्णकटिबंधीय देश (Tropical country) में रहते हैं, इसलिए दिन में दो बार स्नान जरूर करना चाहिए. जननांग क्षेत्रों (Genital areas) को गुनगुने पानी से साफ करना चाहिए. गुदा क्षेत्र (Anal region) में हानिकारक बैक्टीरिया से संक्रमण को रोकने के लिए सुनिश्चित करें कि आप आगे से पीछे की ओर पानी से सफाई करें. स्क्रबिंग से बचें, क्योंकि यह संवेदनशील त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है. साबुन का इस्तेमाल प्राइवेट पार्ट के आसपास ना करें. चूंकि, योनि (vagina) में अम्लीय पीएच (Acidic pH) होता है, जो एल्कलाइन साबुन अंतर्जात वजाइनल फ्लोरा (endogenous vaginal flora) को नष्ट कर देता है. सुगंधित उत्पादों से योनि को धोने से बचें, क्योंकि इससे सूजन, जलन, खुजली आदि हो सकता है.

इसे भी पढ़ें: लेडीज़, वजाइनल हाइजीन पर भी करें फोकस, नहीं तो हो सकती हैं बड़ी समस्याएं!

अंडरगार्मेंट्स पहने ढीले

अंडरवियर या पैंटी ढीले, आरामदायक और कॉटन फैब्रिक के ही पहनें. कॉटन फैब्रिक से प्राइवेट की त्वचा भी खुलकर सांस ले पाती है. कॉटन नमी को भी सोख लेती है. बार-बार पेशाब करते समय जरूरी नहीं कि आप प्राइवेट भाग को पानी से साफ करें. इसके लिए आप टिशू से भी उस जगह को हल्के हाथों से पोछ सकती हैं. हमेशा सुनिश्चित करें कि योनि का भाग सूखा रहे, क्योंकि गीले अंडरवियर आपको फंगल संक्रमण से ग्रस्त कर सकते हैं.

यौन क्रियाओं से पहले नहाएं

यौन क्रियाओं में शामिल होने से पहले, जननांगों को धोने, साफ करने की सलाह दी जाती है. अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं. इसे अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं. मुंह की साफ-सफाई का भी ध्यान रखें. यह किसी भी तरह के इंफेक्शन के प्रसार को रोकने के लिए जरूरी है.

एसटीआई से बचाव

यौन गतिविधियों में संलग्न होने पर पुरुष और महिलाओं को कंडोम, डेंटल डैम्स जैसे गर्भ निरोधकों का प्रयोग करें. इससे सिफलिस, गोनोरिया (Gonorrhea), क्लैमाइडिया (Chlamydia), हेपेटाइटिस बी और एचआईवी-एड्स (HIV-AIDS) आदि जैसे यौन संचारित संक्रमणों (sexually transmitted infections) को रोक सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: वेजाइनल इन्फेक्शन को दूर करने में प्रोबायोटिक्स है फायदेमंद, जानिए कैसे करता है काम

सेक्स टॉयज को रखें साफ

यदि आप सेक्स टॉयज जैसी चीजों का इस्तेमाल यौन क्रियाओं के दौरान करते हैं, तो इन्हें व्यक्तिगत ही रखें. किसी और के साथ शेयर करने से बचें. प्रत्येक उपयोग से पहले और बाद में साफ किया जाना चाहिए. उपयोग करने से पहले इसे एक नए कंडोम के साथ कवर करने की सलाह दी जाती है.

गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन

गर्भधारण को रोकने के लिए गर्भ निरोधकों/जन्म नियंत्रण का उपयोग किया जा सकता है. गर्भनिरोधक (contraceptives) जैसे कंडोम, गर्भनिरोधक गोलियां या ओसी गोली या मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां (Oral contraceptive pills) या आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियां (emergency contraceptive pills) आईयूसीडी (इंट्रा यूटेरिन गर्भनिरोधक उपकरण) जैसे कॉपर टी और इंजेक्शन योग्य गर्भनिरोधक उपलब्ध होते हैं. आपके लिए कौन सा गर्भनिरोधक तरीका बेहतर होगा, इसके लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले लें.

सुरक्षित यौन संबंध बनाएं

सुरक्षित यौन प्रैक्टिस में शामिल होना चाहिए. शराब और नशीली दवाओं के प्रभाव में सेक्स न करें. कई लोगों के साथ सेक्स संबंध ना बनाएं, इससे आपकी सेहत को ही नुकसान पहुंच सकता है. एक ही व्यक्ति या जीवनसाथी के साथ सेक्स संबंध कायम करना ही सेहत के लिए सही होता है. कम उम्र जैसे किशोरावस्था में सेक्स करने से बचना चाहिए, क्योंकि इस उम्र में प्रजनन प्रणाली पूरी तरह से विकसित नहीं होती है.

स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं

हेल्दी डाइट लें. भरपूर मात्रा में फलों और सब्जियों को शामिल करें. नियमित रूप से एक्सरसाइज करें. अत्यधिक शराब और धूम्रपान से बचें.

सेक्सुअल और रिप्रोडक्टिव हेल्थ के लिए डॉक्टर से मिलें

सेक्सुअल हेल्थ की जांच करवाते रहें. इसके लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ पेल्विक एग्जामिनेशन, पैप स्मीयर, यौन संचारित संक्रमणों (एसटीआई) का पता लगाकर और उनका इलाज करके आपके यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रख सकती हैं. इसके लिए वैक्सीन, बेहतर गर्भनिरोधक ऑप्शन के बारे में भी वे सही सलाह देती हैं.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.