वायरस से लड़ने में मदद करता है जिंक और कॉपर से भरपूर फूड सप्लीमेंट - स्टडी
स्वास्थ्य

वायरस से लड़ने में मदद करता है जिंक और कॉपर से भरपूर फूड सप्लीमेंट – स्टडी

इजरायली साइंटिस्टों का दावा है कि जिंक, कॉपर और फलों में पाए जाने वाले कैमिकल्स से भरपूर एक विशेष प्रकार का फूड सप्लीमेंट वायरस से लड़ने में मदद करता है. टाइम्स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के अनुसार, तेल अवीव यूनिवर्सिटी की टीम ने बताया कि अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) द्वारा एप्रूव्ड तीन फूड सप्लीमेंट आरएनए वायरस के प्रसार को प्रभावी तरीके से रोकने में सक्षम हैं. ‘फार्मोस्युटिकल्स’ जर्नल में प्रकाशित इस स्टडी में रिसर्चर्स ने लैब में आरएनए वायरस से संक्रमित मनुष्य के फेफड़े और अन्य जगह के सेल्स पर इस मिश्रण के इफेक्ट का टेस्ट किया. स्टडी में वो वायरस भी शामिल रहे, जिनकी वजह से फ्लू और सामान्य खांसी जैसी बीमारियां होती हैं.

साइंटिस्टों ने पाया कि सामान्य परिस्थितयों की तुलना में वायरस के रेप्लीकेशन (प्रतिरूप) बनने की प्रोसेस में कम से कम 50% की कमी आई है.

स्टडी में क्या निकला
तेल अवीव यूनिवर्सिटी के बायोमेडिसिन स्कूल के प्रोफेसर डैनियल सेगल ने कहा, ‘ये खास फूड सप्लीमेंट आरएनए वायरस के रेप्लिकेशन (प्रतिरूप) बनने के प्रोसेस यानी उसके प्रसार को उल्लेखनीय तरीके से रोक सकता है.’ हालांकि, उन्होंने स्वीकार किया कि स्टडी में अब तक इस बात का कोई पुख्ता संकेत नहीं मिला है कि फूड सप्लीमेंट का मनुष्यों पर क्या प्रभाव पड़ सकता है. इस फूड सप्लीमेंट में जिंक व कॉपर के अलावा फ्लेवोनाइड नाम का एक कंपाउंड शामिल है, जो कुछ फलों और सब्जियों में पाया जाता है.

यह भी पढ़ें-
गर्मियों से जुड़ी कई समस्याओं में फायदा पहुंचाती है ‘समर कूल टी’, जानिए कैसे घर में बनाएं

प्रोफेसर सेगल ने कहा, जिंक को एंटी-वायरल गुणों के लिए जाना जाता है, लेकिन इसके अलावा इसे सेल्स में एंटर करने के लिए संघर्ष करने वाले तत्व के रूप में भी जाना जाता है. नए सप्लीमेंट में अन्य अवयव (इंग्रीडेंट) ऐसा करने की क्षमता को बढ़ाते हैं.

यह भी पढ़ें-
इन संकेतों और लक्षणों से जानें आप सही तरीके से नहीं पचा पा रहे हैं फैट

क्या कहते हैं जानकार
वहीं तेल अवीव यूनिवर्सिटी में ब्लावात्निक सेंटर फॉर ड्रग डिस्कवरी के प्रमुख और इस स्टडी के रिसर्चर्स में से एक प्रोफेसर एहुद गाज़िट ने कहा,”ये नतीजे बहुत ही आशाजनक हैं, संभवत: ये ओरल एडमिनिस्ट्रेटेड ट्रीटमेंट यानी मुंह से दी जाने वाली खुराक द्वारा इलाज के विकास को सक्षम करते हैं.” उन्होंने कहा कि ऐसा प्रोडक्ट एक आगे की तरफ बढ़ने के महत्वपूर्ण कदम का मार्ग दर्शाएगा. क्योंकि ये सुरक्षित, प्राकृतिक और संभावित रूप से कई प्रकार के वायरस और वेरिएंट के खिलाफ प्रभावी होगा.

Tags: Health, Health News, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.