वजन घटाने के लिए कारगर हैं किचन में रखी ये 7 औषधियां, जानिए उपयोग का तरीका
स्वास्थ्य

वजन घटाने के लिए कारगर हैं किचन में रखी ये 7 औषधियां, जानिए उपयोग का तरीका | health – News in Hindi

बिगड़ती दिनचर्या और गलत खानपान के कारण मोटापे की समस्या आज आम बात हो गई है. मोटापा आना शरीर के लिए अच्छी बात नहीं है, ये अपने साथ कई तरह की बीमारियों को लेकर आता है. मोटापा कम करने के  लिए व्यायाम सबसे कारगर तरीका है, लेकिन भागदौड़ भरी जिंदगी में कई लोग नियमित रूप से व्यायाम या योग नहीं कर पाते. ऐसे में उनके पास औषधीय जड़ी- बूटियों का सेवन कर मोटापा कम करने का तरीका बचता है. ये जड़ी बूटियां हमारे किचन में ही उपलब्ध हैं, जिनके द्वारा हम औषधि बना सकते हैं. आइए इन औषधियों के बारे में जानते हैं…

मेथी दाने से घटाएं वजन

मेथी दाने का इस्तेमाल खाने में किया जाता है, लेकिन इसके कई लाभकारी गुण होने के कारण अधिकतर लोग इसका इस्तेमाल औषधि के रूप में भी करते हैं. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, मेथी दाने में पाचन क्षमता बढ़ाने के गुण होते हैं, इसमें गैलेक्टोमेन्नन तत्व होता है. इस गुण के कारण मेथी दाना खाने से भूख कम लगती है. व्यक्ति को इसे खाने के बाद काफी देर तक पेट भरा हुआ महसूस होता है. यही नहीं इससे मेटाबॉलिज बढ़ता है और यह वसा को कम करता है.

शरीर में वसा को कम करता है पुनर्नवापुनर्नवा एक औषधीय पौधा है. शरीर का वजन कम करने के साथ-साथ पेट की चर्बी भी जल्दी कम होती है. इसे खाने से किडनी की सेहत मजबूत रहती है और पुनर्नवा शरीर को डिटॉक्सिफाई करने का भी कार्य करता है.

मालाबार इमली से भी कम होता है वजन

मालाबार इमली एक ट्रॉपिकल फल है, इसके सेवन से वजन कम होता है. यह वसा को शरीर में जमने से रोकती है और अतिरिक्त वसा को गलाने का काम करती है. इसके अलावा मानसिक तनाव को कम करती है और ब्लड शुगर व कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित करती है.

शरीर को डिटॉक्सिफाई करे त्रिफला

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, त्रिफला 3 फलों को मिलकर बनता है वे हैं – हरीतकी, बिभीतकी और अमलकी. त्रिफला खाने से शरीर की सफाई होती है. इससे पाचन क्षमता बढ़ती है. त्रिफला शरीर में मौजूद गंदगी को बाहर निकालने का काम करता है. त्रिफला के सेवन से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है, जिससे वजन काम होता है.

दालचीनी बढ़ाए मेटाबॉलिज्म

दालचीनी मसालों में मुख्य होता है. स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ इसमें कई शारीरिक समस्याओं को दूर करने के गुण भी मौजूद होते हैं. दालचीनी शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है. दालचीनी का काढ़ा पीने से पेट की चर्बी जल्दी कम होती है. ध्यान रहे कि दालचीनी का काढ़ा 2 कप से अधिक ना लें क्योंकि इस की तासीर गर्म होती है, जिससे नुकसान भी हो सकते हैं.

रोज खाएं एक लहसुन की कली और नींबू

इस सभी औषधियों के अलावा रोज अपनी डाइट में लहसुन और नींबू को जरूर शामिल करना चाहिए, क्योंकि शरीर का वजन कम करने के साथ-साथ इम्यून सिस्टम मजबूत करना और दिल को मजबूत रखना भी बेहद जरूरी है. लहसुन प्राकृतिक तौर पर खून को पतला करने में सहायक होता है. इससे दिल पर ज्यादा दबाव नहीं पड़ता है और रक्त मांसपेशियों में आसानी से प्रवाहित होता है. नींबू शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में सहायक होता है. इससे नई कोशिकाओं के निर्माण में मदद मिलती है, जिससे शरीर मजबूत होता है. जिनका वजन ज्यादा होता है, उन्हें नींबू और लहसुन विशेषतौर पर रोज खाना चाहिए.

अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, लहसुन के फायदे और नुकसान पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।<



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *