Home
स्वास्थ्य

रंगीन फल-सब्जियों में छिपा है अच्छी सेहत का राज, गंभीर बीमारियों का खतरा 30 फीसदी तक करती हैं कम Colored fruits and Vegetables beneficial for heart attack cancer and other chronic Disease neer– News18 Hindi

Colored Fruits and Vegetables in diet: सेहतमंद शरीर (Healthy Body) के लिए अनुशासित जीवन शैली के साथ ही बेहतर खान-पान की भी अहम भूमिका होती है. आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में बुजुर्गों के साथ ही युवा भी तेजी से गंभीर बीमारियों (Chronic Disease) की चपेट में आ रहे हैं. हालांकि, अपनी डाइट में थोड़ा बदलाव कर कई गंभीर बीमारियों से खुद को बचाया जा सकता है। स्ट़डी के मुताबिक अगर आप रोजाना की दिनचर्या में रंगीन फल-सब्जियों (Colored Fruits and Vegetables) का इस्तेमाल करते हैं तो स्ट्रोक और हार्ट अटैक (Stroke and hear attack) जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा 30 फीसदी तक कम हो जाता है.
हार्ट अटैक, स्ट्रोक का खतरा होता है कम
हार्वर्ड टी. एच. चान स्कूल (Harvard T.H. Chan School) की गई स्टडी के अनुसार दिन में लगभग 800 से 900 ग्राम फल और सब्जियां खाने वाले लोगों में कम फल सब्जियां खाने वाले लोगों के मुकाबले स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा लगभग 30 फीसदी तक कम हो जाता है. दैनिक भास्कर की ख़बर के मुताबिक न्यूरोलॉजी में पब्लिश स्टडी में 2 दर्जन से ज्यादा प्रकार के फ्लेवोनॉयड्स पर रिसर्च कर ये निष्कर्ष निकाला गया है. वैज्ञानिकों के अनुसार सेब में एंथोसियानिन, गाजर में केरोटीन और स्ट्रॉबेरी में फ्लेवोन पाया जाता है. बचपन से ही फ्लेवोनॉयड की भरपूर मात्रा लेने पर हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा 30 प्रतिशत तक कम हो जाता है.

इतना ही नहीं अमेरिकन इंस्टीट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च (American Institute for Cancer Research) के अनुसार ऐसी सब्जियां जिनमें स्टार्च नहीं होता है, जिसमें गोभी, लहसुन, प्याज, ब्रोकली और अन्य सब्जियां शामिल होती हैं उनके लगातार सेवन से पेट, गला, स्तन और मुंह के कैंसर से बचाव में भी मदद मिलती है.

यह भी पढ़ें- गंभीर बीमारियों से बचना है तो ऐसे कम करें बैली फैट

दिमाग को दुरुस्त रखती हैं रंगीन फल-सब्जियां
बढ़ती उम्र के साथ ही सामान्य तौर पर डिमेंशिया (Dementia) की बीमारी सामने आती है. रंगीन फलों और सब्जियों में चमक लाने वाले केमिकल फ्लेवोनॉयड्स से भूलने की बीमारी को रोकने में मदद मिलती है. आपको बता दें कि यह उम्रदराज लोगों में भ्रम की स्थिति दूर करने में काफी असरदार साबित होती है. फलों और सब्जियों के लगातार इस्तेमाल से पाचन तंत्र भी दुरुस्त होता है.

यह भी पढ़ें- तनाव और थकान को करना है दूर तो लगाएं चंदन का लेप, जानें इसके फायदे
इन फल-सब्जियों में होता है भरपूर फ्लेवोनॉयड
पालक, पत्तागोभी, पके हुए कद्दू और प्याज में भरपूर मात्रा में फ्लेवनॉयड पाया जाता है. गाजर, सीताफल, सेब, अंगूर सहित कई फलों में भी फ्लेवनॉयड पाए जाते हैं. इन फलों और सब्जियों के इस्तेमाल से दिमाग भी ज्यादा अलर्ट रहता है. रंगीन फल सब्जियों में मौजूद फ्लेवनॉयड्स स्ट्रोक और हार्ट अटैक जैसी बीमारियों के खतरे को 30 फीसदी तक कम करता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *