ये 6 लक्षण नजर आएं तो समझ लें शरीर में हो गई है आयोडीन की कमी
स्वास्थ्य

ये 6 लक्षण नजर आएं तो समझ लें शरीर में हो गई है आयोडीन की कमी

आयोडीन एक प्रकार का मिनरल होता है, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद और आवश्यक है. आयोडीन पानी में घुलनशील होता है. यह कुछ खाद्य पदार्थों और आयोडीन युक्त टेबल सॉल्ट में भी पाया जाता है. आप इसे सप्लीमेंट के तौर पर भी ले सकते हैं. हेल्दी थायरॉएड फंक्शन के लिए आयोडीन बेहद जरूरी होता है. थायरॉयड ग्लैंड आयोडीन का उपयोग थायरॉयड हार्मोन बनाने के लिए करता है. इससे मस्तिष्क में वृद्धि, विकास, घाव भरने में मदद मिलने के साथ ही ऊर्जा देने वाला चयापचय में सुधार होता है. आयोडीन की कमी से थायरॉएड की हार्मोन बनाने की क्षमता सीमित हो जाती है, जिससे हाइपोथायरॉएडिज्म होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है. शरीर में जब आयोडीन की कमी हो जाती है, तो क्या-क्या लक्षण नजर आते हैं जानें.

आयोडीन की कमी के लक्षण

वजन बढ़ना
मेडिकलन्यूजटुडे डॉट कॉम  में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, जब शरीर में आयोडीन की कमी हो जाती है, तो अचानक से ही बिना किसी कारण के आपका वजन बढ़ने लगता है. जब किसी व्यक्ति का मेटाबॉलिज्म स्वस्थ होता है, तो वह उसे ऊर्जा देने के लिए कैलोरी बर्न करता है. हाइपोथायरॉएडिज्म या थायरॉएड हार्मोन की कमी, किसी व्यक्ति के मेटाबॉलिज्म को धीमा कर देती है. जब किसी व्यक्ति का चयापचय धीमा हो जाता है, तो कैलोरी वसा के रूप में जमा होने की अधिक संभावना होती है, जिससे वजन बढ़ने लगता है.

इसे भी पढ़ें : आयोडीन की कमी होने पर शरीर देता है यह 5 संकेत, पहचानें और इलाज लें

कमजोरी महसूस होना
जब शरीर में आयोडिन की कमी हो जाती है, तो आपको कमजोरी महसूस होने लगती है. आपको किसी भी भारी सामान को उठाने में दिक्कत महसूस होगी, जिसे आप पहले आसानी से उठा लिया करते थे. ऐसा शरीर में कम एनर्जी, ताकत के कारण हो सकता है.

हर समय थका-थका रहना
चयापचय रेट में गिरावट भी व्यक्ति को थका हुआ महसूस कराती है, इसलिए, थकान महसूस करना आयोडीन की कमी का एक और संकेत है. जब वजन बढ़ता है, तब भी आपको थकान महसूस होने लगती है. हालांकि, जरूरी नहीं कि जब भी आपको थकान महसूस हो, आपके शरीर में आयोडीन की कमी हो ही. कई बार पर्याप्त ना सोने, आराम ना लेने से भी थकान होने लगती है.

इसे भी पढ़ें :  ऐसे 10 खाद्य पदार्थ जो थाइरॉइय हॉर्मोन को नियंत्रण में रख, शरीर में आयोडीन की कमी को करते हैं पूरा

बालों का गिरना
यदि आपके बाल अधिक गिरने लगे हैं, तो यह भी आयोडीन की कमी का संकेत हो सकता है. थायराइड हार्मोन बालों के फॉलिकल्स को नई जान, पुनरनिर्माण करने में मदद करता है. जब किसी व्यक्ति को हाइपोथायरॉएडिज्म होता है, तो थायरॉएड हार्मोन की कमी के कारण फॉलिकल्स का पुनरनिर्माण होना बंद हो जाता है. कई अन्य कारणों से भी आपके बाल गिर सकते हैं, जैसे डैंड्रफ, हेल्दी डाइट ना लेना, प्रॉपर हेयर केयर ना करना आदि.

रूखी त्वचा होना
ड्राई स्किन, पपड़ीनुमा स्किन हाइपोथायरॉएडिज्म का संकेत हो सकता है, क्योंकि यह आयोडीन की कमी के कारण ही होता है. थायरॉएड हार्मोन नई कोशिकाओं के निर्माण में मदद करते हैं. इन हार्मोन की कमी से डेड स्किन सेल्स का निर्माण हो सकता है, जिसके परिणामस्वरूप कभी-कभी त्वचा ड्राई और परतदार हो सकती है.

हार्ट रेट हो सकती है कम
आयोडीन की कमी होने से व्यक्ति के दिल की धड़कन धीमी हो सकती है. जब किसी व्यक्ति की हृदय गति धीमी हो जाती है, तो उसे चक्कर आ सकता है. बेहोश भी हो सकता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.