ये 3 संकेत बताते हैं आपका शरीर हो रहा है बीमार, नजरअंदाज करना पड़ सकता है सेहत पर भारी
स्वास्थ्य

ये 3 संकेत बताते हैं आपका शरीर हो रहा है बीमार, नजरअंदाज करना पड़ सकता है सेहत पर भारी

Signs which tell your body is Unhealthy: क्या आप सारा दिन थका-थका, तनाव और आलस महसूस करते हैं, तो हो सकता है कि आपको शारीरिक रूप से कोई समस्या घेर रही हो. आप बाहर से स्वस्थ दिख रहे हों, लेकिन आपका शरीर अंदर से किसी बीमारी से ग्रस्त हो रहा हो. थकान, आलस, ऊर्जा में कमी के कारण किसी भी काम को करने में मन नहीं लगता, ध्यान लगाने में मुश्किल हो सकती है. सुबह सोकर उठने के बाद भी आप फ्रेश फील नहीं करते हैं और ऐसा आपके साथ प्रतिदिन हो रहा है, तो इसे नजरअंदाज बिल्कुल न करें. जानें, कौन से हैं वे तीन संकेत जो इशारा कर रहे हैं कि आपका शरीर किसी ना किसी तरह की समास्याओं से ग्रस्त हो रहा है.

लगातार थकान होना स्ट्रेस, एंग्जायटी का संकेत

पिंकविला की खबर के अनुसार, क्या आपको कुछ दिनों से बार-बार थकान महसूस (Fatigue) होता है, अधिक मेहनत किए बिना ही थक जाते हैं, तो अलर्ट हो जाएं. थकान कई तरह की शारीरिक समस्याओं की तरफ इशारा करता है. स्ट्रेस, एंग्जायटी से ग्रस्त होने पर भी थकान महसूस होती है. थकान के कारण कई लक्षण नजर आते हैं, जैसे सिरदर्द, बुखार, वजन अधिक होना, शरीर में खून की कमी, चक्कर आना आदि. डायबिटीज होने पर भी थकान महसूस होती है. यदि आप हेल्दी, फिट और एनर्जेटिक रहना चाहते हैं तो डॉक्टर से जल्द मिलें.

इसे भी पढ़ें: तनाव और थकान को करना है दूर तो लगाएं चंदन का लेप, जानें इसके फायदे

बार-बार जी मिचलाना हो सकता है गंभीर

अगर आप मतली या जी मिचलाने (Nausea) से परेशान हैं, तो इस समस्या को बिल्कुल हल्के में न लें. शादीशुदा महिलाएं यदि उल्टी या जी मिचलाने की शिकायत करती हैं, तो यह प्रेग्नेंसी, पीरियड्स, मेनोपॉज से संबंधित समस्या के कारण हो सकता है. कई बार एसिडिटी के कारण भी उल्टी करने की इच्छा होती है. यदि आप अंदर से स्वस्थ हैं, तो बार-बार जी मिचलाने की समस्या परेशान नहीं करेगी. यदि आपको मतली की समस्या हर दूसरे-तीसरे दिन हो, तो इसके मूल कारणों का पता लगाना बेहद जरूरी है ताकि कोई बीमारी हो, तो जटिलता अधिक न हो.

मेडिसिननेट की खबर के अनुसार, मतली के लक्षणों में सिरदर्द, बुखार, डायरिया, गैस, उल्टी, सिर चकराना, चक्कर आना, पेट में दर्द, आदि शामिल हैं. उबकाई के कई कारण हो सकते हैं, बाउल ऑब्सट्रक्शन, कीमोथेरेपी, मॉर्निंग सिकनेस, रेडिएशन थेरेपी, मेडिकेशन, प्रेग्नेंसी, मस्तिष्क, गॉलब्लैडर, एसोफेगस, लिवर, पैन्क्रियाज, पेट और आंतों की बीमारी आदि.

इसे भी पढें: सिरदर्द से रहते हैं परेशान तो राहत पाने के लिए आजमाएं ये 5 आयुर्वेदिक नुस्खे

सिरदर्द से रहते हैं परेशान तो ना करें इसे इग्नोर

आजकल की लाइफस्टाइल में अक्सर सिरदर्द (Headache) की समस्या लोगों को परेशान करती है, लेकिन लगातार सिरदर्द माइग्रेन या किसी अन्य समस्या का संकेत भी हो सकता है. कई बार तनाव, एंग्जायटी, कंप्यूटर के सामने देर तक बैठकर काम करने, साइनस, टेंशन, सिर में चोट लगने के कारण भी सिर दर्द होता है. यदि आपको बार-बार सिरदर्द हो, तो विशेषज्ञ की सलाह लें. बेशक, सिरदर्द कुछ ही देर में ठीक हो जाता हो, लेकिन ऐसा हर दूसरे-तीसरे दिन हो रहा है, तो अनदेखा नहीं करना चाहिए. सिरदर्द होना मस्तिष्क से संबंधित समस्याओं की तरफ भी इशारा करता है. आपको सतर्क रहना चाहिए और किसी भी अन्य लक्षणों से सावधान रहना चाहिए जो खराब स्वास्थ्य या संभावित बीमारी का संकेत दे सकते हैं.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.