मोतियाबिंद ऑपरेशन के लिए जून से देशव्यापी अभियान की होगी शुरुआत, इतने करोड़ लोगों को मुफ्त में मिलेगा इलाज
स्वास्थ्य

मोतियाबिंद ऑपरेशन के लिए जून से देशव्यापी अभियान की होगी शुरुआत, इतने करोड़ लोगों को मुफ्त में मिलेगा इलाज

नई दिल्ली. कोरोना काल में मोतियाबिंद (Cataract) की सर्जरी का इंतजार कर रहे करोड़ों मरीजों को मोदी सरकार (Modi Government) बहुत बड़ी खुशखबरी देने जा रही है. पिछले दो सालों से आंख (Eye) सही होने के इंतजार में बैठे लगभग डेढ़ करोड़ गरीब लोगों को मोदी सरकार अब मुफ्त में मोतियाबिंद का ऑपरेशन (Free Cataract Operations) करवाएगी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय जून के पहले सप्ताह से देश के हर हिस्से में बैठे लोगों को यह सुवधा प्रदान करेगी. इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) ने देश के सभी बड़े सरकारी अस्पतालों (Hospitals) से लेकर निजी अस्पतालों (Private Hospitals) को भी तैयार रहने को कहा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, ‘कोरोना के कारण मोतियाबिंद के लगभग डेढ़ करोड़ मरीजों का अभी तक आंखों का ऑपरेशन नहीं हो सका है. इसलिए अगले दो-तीन सालों के अंदर तकरीबन 3 करोड़ लोगों का आंख का ऑपरेशन करवाया जाएगा.

बता दें कि देश के सरकारी और निजी अस्पतालों में हर साल मोतियाबिंद के 50-60 लाख आपरेशन किए जाते रहे हैं, लेकिन मार्च 2020 में कोरोना महामारी आने के बाद आपरेशन लगभग बंद कर दिया गया. इसका परिणाम यह हुआ कि अब देश में लगभग डेढ़ करोड़ लोगों को मोतियाबिंद का ऑपरेशन कराना अनिवार्य हो गया है. ये लोग पिछले दो सालों से भी ज्यादा समय से मोतियाबिंद के ऑपरेशन का इंतजार कर रहे हैं. अब, जब कोरोना के मामले में काफी कमी आई है और देश में वैक्सीनेशन ड्राइव भी सफल रहा तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की पहल पर यह मुहिम शुरू की शुरुआत होगी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने मंकीपॉक्स को लेकर हवाई अड्डों पर सर्तकता बरतने के निर्देश दिए हैं. (File Photo)

जून से शुरू होगा मोतियबिंद के खिलाफ देशव्यापी अभियान
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय पिछले कुछ दिनों से राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ मिलकर विशेष अभियान की रूपरेखा तैयार कर रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक, इसके लिए सभी सरकारी अस्पतालों में विशेष व्यवस्था की जा रही है. इसके तहत केंद्र सरकार राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों के सरकारों को मदद देगी.

इन लोगों को निजी अस्पतालों में भी फ्री में इलाज
बता दें कि जो मरीज आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी सूची में शामिल हैं, उन्हें निजी अस्पतालों में भी मुफ्त में ऑपरेशन किया जाएगा. स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा है कि अगले दो-तीन सालों में 2.50 करोड़ लोगों का मोतियाबिंद का आपरेशन किया जाना है.

Free cataract operation, cataract operation, modi government, mansukh mandaviya, health minister, cataract news, cataracts News, Eyes Operation, Health Ministry, Special arrangements, government hospitals, Cataract operation special campaign, मोतियाबिंद आपरेशन, देशव्यापी मोतियाबिंद आपरेशन, स्वास्थ्य मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया, मोदी सरकार, अस्पताल, प्राइवेट अस्पताल, मुफ्त ऑपरेशन, मुफ्त इलाज,

आंखों के गंभीर रोगों में शुमार मोतियाबिंद का अगर समय पर ऑपरेशन नहीं होता है तो रौशनी जाने का खतरा बन जता है.

ये भी पढ़ें: कौन बनेगा राजेंद्र नगर का सिकंदर? उपचुनाव में AAP-BJP का क्या है प्लान, जानें सभी सियासी समीकरण

गौरतलब है कि आंखों के गंभीर रोगों में शुमार मोतियाबिंद का अगर समय पर ऑपरेशन नहीं होता है तो रौशनी जाने का खतरा बन जता है. अमूमन 40 साल के बाद लोगों को यह बीमारी होती है. हालांकि, अब छोटे उम्र के बच्चों में भी यह बीमारी नजर आने लगी है. लेकिन, उम्र बढ़ने के साथ यह बीमारी ज्यादा होती है. इसके साथ ही डायबिटीज, शराब का बहुतायत मात्रा में सेवन करने से, अनुवांशिक कारण, बहुत अधिक सूरज की रौशनी में रहने से, हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों सहित बहुत ज्यादा स्मोकिंग की आदत से यह बीमारी हो जाती है.

Tags: Cataract Operation Negligence, Corona period, Free Treatment, Health Minister Mansukh Mandaviya, Modi government

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.