भांग से बनी दवा दिलाएगी कैंसर के दर्द से निजात
स्वास्थ्य

भांग से बनी दवा दिलाएगी कैंसर के दर्द से निजात | health – News in Hindi

भांग के पौधों से कैंसर के इलाज के लिए दवा तैयार की गई है.

इस दवा पर कई जगह शोध (Research) भी किए जा रहे हैं. इन्‍हीं शोध के जरिये सामने आया है कि कैंसर के मरीजों के लिए भांग से बनी दवा बेहद प्रभावी और दर्द निवारक (Pain killer) है.

कैंसर (Cancer) तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है. मगर अब इसके इलाज के लिए एक उम्‍मीद नजर आई है. जिस भांग (Cannabis) को अभी एक नशीले पदार्थ के तौर पर जाना जाता रहा है, वही भांग अब कैंसर से पीड़ित मरीजों को राहत पहुंचाएगी. एयू की खबर के मुताबिक काउंसिल ऑफ साइंटिफिक इंडस्ट्रियल रिसर्च (CSIR) और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंटेग्रेटिव मेडिसन (IIIM) ने भांग के पौधों से कैंसर के इलाज के लिए दवा तैयार की है. अब इसका ट्रायल किया जा रहा है. इसके अलावा इस दवा पर कई जगह शोध (Research) भी किए जा रहे हैं. इन्‍हीं शोध के जरिये सामने आया है कि कैंसर के मरीजों के लिए भांग से बनी दवा बेहद प्रभावी और दर्द निवारक (Pain killer) है. इस बारे में भांग से बनी इस दवा पर रिसर्च कर रहे डॉ. दिलीप मांडे की ओर से कहा गया है कि रिसर्च लगभग अपने अंतिम चरण में है. जानवरों पर इसका सफल परीक्षण किया गया और अब इंसानों पर इसका इस्‍तेमाल किया जा रहा है.

कैंसर के इलाज में कारगर बताई जा रही इस दवा को इंजेक्शन, टैबलेट और तेल तीनों रूप में लाया जाएगा. बताया जा रहा है कि कैंसर के मरीजों को इस दवा से काफी आराम मिला है. आईआईआईएम के सूत्रों से मिली जानकारी के हवाले से बताया है कि भांग के पौधों के अगले हिस्से का इस्‍तेमाल जहां नशे के लिए होता रहा है, वहीं इसी पौधे के कई अन्य अंश को बीमारियों की दवा के तौर पर काम में लिया जा रहा है. बताया गया है कि दवा के तौर पर सेवन करने से इस दवा का कोई साइड इफेक्ट अभी तक सामने नहीं आया है.

ये भी पढ़ें – मॉनसून डायट: बारिश के मौसम में न करें खाने-पीने से जुड़ी ये गलतियां

भारत में कैंसर की चपेट में आने वालों की संख्‍या बढ़ती जा रही है. cancerindia.org के आंकड़ों के मुताबिक देश में कैंसर से पीड़ित लोगों की अनुमानित संख्या 25 लाख है और प्रतिवर्ष कैंसर के 7 लाख से ज्‍यादा नए मरीज सामने आ रहे हैं.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *