फर्टिलिटी के साथ-साथ इम्यूनिटी को भी बूस्ट करती है शताबरी/All you need to know the Shatavri benefits its improove immunity Lak– News18 Hindi
स्वास्थ्य

फर्टिलिटी के साथ-साथ इम्यूनिटी को भी बूस्ट करती है शताबरी/All you need to know the Shatavri benefits its improove immunity Lak– News18 Hindi

Shatavari Health Benefits: हम सब शतावरी के गुणों के बारे में जानते हैं. आमतौर पर यह समझा जाता है कि शतावरी महिलाओं के प्रजनन स्वास्थ्य (Reproductive Health) को बेहतर बनाती है लेकिन यह महिला और पुरुष दोनों में इम्युनिटी (Immunity) को भी बूस्ट करती है. इसमें भरपूर विटामिन, मिनरल, एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं. शतावरी जीवन शक्ति बढ़ाने के लिए एक हेल्थ टॉनिक की तरह काम करती है. इसीलिए आयुर्वेदिक चिकित्सा में इसे एक महत्वपूर्ण जड़ी बूटी माना जाता है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक डॉ दीक्षा भावसर बताती हैं कि शतावरी एक शानदार (Herbs) जड़ी-बूटी है. इसे सौ जड़ों वाला हर्ब्स (herb with 100 roots) भी कहा जाता है. डॉ दीक्षा कहती हैं, शतावरी को महिलाओं का बेस्ट फ्रेंड माना जाता है. यह महिलाओं को पूरे जीवनकाल में उनके प्रजनन अंगों और हार्मोन को पोषक तत्व प्रदान करने के साथ-साथ इनका शुद्धिकरण भी करती है.

इसे भी पढ़ेंः माइग्रेन के असहनीय दर्द से चाहते हैं तुरंत आराम, अपनाएं ये घरेलू उपाय

शतावरी में ये तत्व हैं मौजूद
डॉ भवासर कहती हैं नई माताओं के साथ-साथ महिलाओं और पुरुषों में शतवारी हेल्दी लाइफ को बूस्ट करती है. शतावरी में मुख्य रूप से प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, डायटरी फाइबर, थियामिन, फोलेट, नियासिन, विटामिन K, विटामिन E, विटामिन C, आयरन, कैल्शियम, मैंगनीज, जिंक, सेलेनियम आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं. शतावरी का वैज्ञानिक नाम एस्परैगस रेसमोसस (Asparagus Racemosus) है.

इसे भी पढ़ेंः इम्युनिटी के लिए क्यों जरूरी है हेल्दी पेट, जानिए एक्सपर्ट की राय

इसका स्वाद कैसा है
आयुर्वेद के अनुसार शतावरी का स्वाद वैसे तो मीठा होता है लेकिन मीठी होने के साथ-साथ यह कड़वी भी होती है. डॉ दीक्षा के मुताबिक इसकी तासीर ठंडी होती है.

शतावरी के फायदे

-शतावरी के नियमित सेवन से महिलाओं में हार्मोन असंतुलन को ठीक किया जा सकता है. यह महिलाओं में प्रजनन स्वास्थ्य को बनाए रखती है. मां बनने वाली महिलाओं में दूध के उत्पादन को भी बढ़ाती है. बाजार में जितने दूध बढ़ाने के लिए प्रोडक्ट मिलते हैं, सबमें शतावरी इंग्रीडेंट के रूप में मौजूद रहती है.

-शतवारी से ब्लड सर्कुलेशन और नर्वस सिस्टम में सुधार होता है. यह पीरियड्स से पहले होने वाले दर्द (premenstrual syndrome- PMS ) को कम करती है. पीरियड्स के दौरान लगातार ब्लड सर्कुलेशन को संतुलित करती है. इसलिए इसे एक रिप्रोडक्टिव टॉनिक के रूप में भी जाना जाता है.

-यह हॉट फ्लैश, मूड स्विंग और मेनोपोज से पहले होने वाली परेशानी को कम करती है. यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन जैसी समस्याओं के उपचार में मदद कर सकती है. शतावरी को शरीर को शारीरिक और भावनात्मक तनाव से निपटने में मदद करने के लिए जाना जाता हैं.

-शतावरी का नियमित सेवन शरीर में एंडोर्फिन, सेरोटोनिन और डोपामाइन को रिलीज करता है. ये सभी हैप्पी हार्मोंस हैं जो तनाव और चिंता से निपटने में मदद करते हैं.

-यह कब्ज, मधुमेह, अल्सर आदि में भी मददगार है. इसे गट क्लीन्ज़र भी कहते हैं. यह आंतों को डिटॉक्सीफाई करती है और शरीर के पाचन एंजाइम्स की एक्टिविटी को बढ़ाती है. यह शरीर में फैट और कार्बोहाइड्रेट के पाचन को आसान बनाने में मदद करती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *