प्राइवेट पार्ट में हो खुलजी तो अपनाएं ये घरेलू उपाय, मिलेगी मुक्ति
स्वास्थ्य

प्राइवेट पार्ट में हो खुलजी तो अपनाएं ये घरेलू उपाय, मिलेगी मुक्ति | health – News in Hindi

लिंग में खुजली की है समस्या तो करें ये घरेलू उपाय (pic credit: pexels/Anete Lusina)

लिंग में खुजली (Itching In Penis) की समस्या का कारण संक्रमण, सफाई का ध्यान नहीं रखना, लिंग के आसपास नमी बने रहना या टाइट कपड़े पहनना आदि हो सकते हैं…



  • Last Updated:
    October 9, 2020, 2:05 PM IST

प्राइवेट पार्ट (Private Part), लिंग में खुजली (Itching In Penis) की समस्या से अधिकतर पुरुष परेशान रहते हैं. यह कोई बीमारी तो नहीं, लेकिन यदि ध्यान नहीं दिया जाए तो यह समस्या और अधिक बढ़ जाती है, जिसके कारण लिंग में घाव भी हो सकता है. myUpchar के अनुसार, लिंग में खुजली होने का कारण दरअसल किसी भी तरह का संक्रमण, सफाई का ध्यान नहीं रखना, लिंग के आसपास नमी बने रहना या टाइट कपड़े पहनना आदि हो सकते हैं.

बेकिंग सोडा से करें घरेलू इलाज

बेकिंग सोडा सभी के किचन में होता है. बेकिंग सोडा संक्रमण को दूर करने का बढ़िया स्रोत है. इसका इस्तेमाल करने के लिए नहाने के पानी में कुछ मात्रा में बेकिंग सोडा डालें और इससे स्नान करें या फिर बेकिंग सोडा को पानी में घोलकर इसका मिश्रण तैयार कर लें. अब इसे लिंग पर खुजली वाले स्थान पर लगाएं. इससे संक्रमण दूर होगा और खुजली की समस्या ठीक हो जाएगी. इस उपाय को दिन में तीन बार किया जा सकता है. इस बात का भी खास ध्यान रखें कि पानी में जब बेकिंग सोडा डालकर नहा रहे हैं तो यह पानी आंखों में न जाए.

पिपरमिंट भी दूर करता है खुजलीपिपरमिंट में कई औषधीय गुण होते हैं, जो खुजली को दूर करने में सहायक होते हैं. पिपरमिंट ठंडक देने का कार्य भी करता है. इसका इस्तेमाल करने के लिए सरसों का तेल और नारियल के तेल में थोड़ा सा पिपरमिंट मिला लें, फिर इसे रूई की मदद से लिंग पर लगाएं, इससे खुजली ठीक होगी. इस उपाय को एक हफ्ते तक रोज दो बार अपनाएं. साथ ही इस बात का भी ध्यान भी रखें कि पिपरमिंट सीधे लिंग पर कभी नहीं लगाना चाहिए, नहीं तो इससे लिंग में तेज जलन हो सकती है.

सेब का सिरका

myUpchar के अनुसार, सेब का सिरका किसी भी तरह के संक्रमण, जलन या खुजली की समस्या को ठीक करने की अचूक औषधि है. त्वचा के संक्रमण के लिए सेब के सिरके का इस्तेमाल किया जा सकता है. इसे उपयोग करने के लिए पहले खुजली वाले हिस्से को साफ पानी से धोकर एक साफ कपड़े से पोंछ लें. अब सेब के सिरके को खुजली वाले हिस्सों पर रूई की मदद से लगाएं. इसे लगाने के बाद इसे सूखने दें और ऐसे ही लगे रहने दें. इस विधि को दिन में दो बार करना चाहिए. कुछ ही दिनों में खुजली की समस्या ठीक हो जाएगी. सेब का सिरका लगाते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि सेब के सिरके में पानी मिलाकर ही लगाना है सीधे लगाने पर तेज जलन हो सकती है.

सेंधा नमक से भी दूर होगी लिंग में खुजली की समस्या

सेंधा नमक कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है. इसमें मौजूद मैग्नीशियम और सल्फर खुजली जैसी समस्या के साथ ही अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद होते हैं. इसका इस्तेमाल करने के लिए 2 कप सेंधा नमक लेकर एक बाल्टी गर्म पानी में मिला लें. अब इस पानी से स्नान करें. इस पानी को लिंग के आसपास के हिस्सों मे भी डालें. इसके अतिरिक्त सेंधा नमक से एक और उपाय किया जा सकता है. सेंधा नमक को थोड़े से पानी में मिलाकर लिंग के आसपास वाली जगह पर लगाएं. इस उपाय को दिन में तीन बार किया जा सकता है. (अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, लिंग में खुजली क्या है, इसके कारण और जोखिम कारक, उपाय, इलाज और जटिलताएं पढ़ें।) (न्यज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।)

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *