पेट के दाहिने हिस्से में दर्द के हो सकते हैं ये 4 कारण, हो जाएं सावधान!
स्वास्थ्य

पेट के दाहिने हिस्से में दर्द के हो सकते हैं ये 4 कारण, हो जाएं सावधान! | health – News in Hindi

पेट दर्द (Stomach ache) होना किसी अंग में खराबी या समस्या का संकेत दे सकता है. पेट दर्द आखिर कहां होता है यह इस बात पर निर्भर करता है कि बीमारी क्या है. पेट में दर्द कुछ समय या लंबे समय तक हो सकता है और तेज या कम भी हो सकता है. myUpchar के अनुसार पेट में दर्द का स्थान ऊपरी हिस्से में दाएं या बाएं किनारे, निचले हिस्से में दाएं या बायां किनारे, ऊपरी, मध्य और निचले हिस्से में भी हो सकता है. पेट में दर्द कई अलग-अलग कारण से हो सकता है जो आम से लेकर गंभीर भी हो सकता है. अगर पेट के दाहिनी ओर दर्द महसूस कर रहे हैं तो इनमें से ये 4 कारण हो सकते हैं. हालांकि, इन चार कारणों के अलावा भी पेट के दाहिने हिस्से में दर्द की वजह हो सकती है, जिसके लिए डॉक्टर से सलाह लेना महत्वपूर्ण है.

कब्ज

कब्ज के कारण दर्द पेट के दाहिनी ओर हो सकता है. कब्ज होने का मतलब है मलत्याग में परेशानी होना या मल का सामान्य से कम आना. यह स्थिति तब होती है जब व्यक्ति का पाचन तंत्र खराब हो जाता है. इसका कारण है कि वह जो भी खाता है, उसे पचा नहीं पाता है. यह आमतौर पर गंभीर नहीं है. कुछ चिकित्सीय कारण जो कब्ज पैदा कर सकते हैं वे हैं हाइपोथायरायडिज्म, कोलोन और मलाशय के संक्रमण, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, बाउल कैंसर आदि.पित्ताशय की पथरी

पित्ताशय की पथरी क्रिस्टल जैसे पदार्थ होता है जो पित्ताशय में बनने लगता है. पित्ताशय एक नाशपाती जैसे दिखने वाला शरीर का वह आंतरिक अंग है जो लिवर के ठीक नीचे होता है. लिवर से स्त्रावित होने वाले द्रव यानी पित्तरस को यह संग्रहीत करता है. पित्ताशय में डाइजेस्टिव फ्लूइड के छोटे, कठोर ये डिपोजिट्स पेट के दाहिने हिस्से में दर्द को जन्म दे सकता है. पित्ताशय की पथरी के सामान्य लक्षणों में पीठ में दर्द, ऐंठन, मतली, उल्टी और अपच शामिल हैं.

पेट का अल्सर

पेट में एसिड होने के कारण अगर पेट खराब हो जाता है तो अल्सर पेट, ग्रासनली या छोटी आंत में हो सकता है. पेट के दाहिने हिस्से में दर्द के साथ अन्य लक्षणों में सीने में दर्द, मतली, अपच, सीने में जलन, उल्टी और थकान शामिल हो सकते हैं.  myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि पेट के अल्सर को गैस्ट्रिक अल्सर के नाम से भी जाना जाता है. ये कई कारकों की वजह से होता है जैसे बैक्टीरियम हेलिकोबैक्टर पाइलोरी से इन्फेक्शन हो जाना, सूजनरोधी नॉन-स्टेरॉइट दवाई का ज्यादा इस्तेमाल, शराब की लत, रेडिएशन थेरेपी, जलन और शारीरिक चोट आदि.

अपेंडिसाइटिस

यह पेट के दाहिने हिस्से में दर्द का सबसे आम कारण है. यदि अपेंडिक्स फूल जाता है, तो यह अपेंडिसाइटिस का कारण बनता है. अपेंडिसाइटिस के संकेतों को जानना महत्वपूर्ण है, क्योंकि अगर इसका इलाज समय पर नहीं किया गया तो यह बहुत गंभीर हो सकता है. दर्द के अलावा मतली, उल्टी, भूख न लगना, सूजन, बुखार हो सकता है. अपेंडिसाइटिस अपेंडिक्स के फटने का कारण बन सकता है, इलाज न होने पर घातक हो सकता है. उपचार में एंटीबायोटिक या एपेंडेक्टोमी शामिल हो सकता है, जो अपेंडिक्स को हटाने के लिए सर्जरी है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, पेट दर्द के प्रकार, कारण, लक्षण, बचाव, इलाज, परहेज और दवा पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *