Home
स्वास्थ्य

पेट की दिक्कतों को दूर करने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीज़ें– News18 Hindi

Food For Stomach Health: सेहत को दुरुस्त (Healthy) रखने के लिए पेट को स्वस्थ रखना बेहद ज़रूरी हैं. अगर पेट सही नहीं रहेगा तो शरीर में कई सारी दिक्कतें होने की संभावना बनी रहती है. पेट को सही रखने के लिए ज़रूरी है आंतों (Intestines) का दुरुस्त रहना क्योंकि अगर ये सही नहीं रहेंगी तो पाचन (Digestion) से जुड़ी परेशानी सामने आ सकती है. अब पेट को दुरुस्त रखने के लिए लोग तरह-तरह की दवाएं तो खाते हैं लेकिन खान-पान पर ध्यान नहीं देते हैं. आज हम आपको उन पांच चीजों के बारे में बता रहे हैं जो आपके पेट को दुरुस्त रखने में ख़ास भूमिका निभा सकते हैं.

ये भी पढ़ें: खाली पेट कभी न खायें ये चीज़ें, बढ़ सकती हैं दिक्क्तें

लहसुन

लहसुन भी पेट को स्वस्थ रखने में खास भूमिका निभाता है. लहसुन में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-माइक्रोबायल गुण होते हैं जो खराब बैक्टीरिया को कम करते हैं और अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने में मदद करते हैं. लहसुन आपकी आंत को स्वस्थ रखता है और पाचन को बेहतर बनाता है. जिससे पेट दुरुस्त रहता है.

चॉकलेट

आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने और खराब बैक्टीरिया को कम करने में चॉकलेट भी मदद करती है. इसमें पॉलीफेनोल नाम का कार्बनिक केमिकल होता है जो आंत में बैक्टीरिया के प्रभाव को बढ़ावा देता है.इससे पेट की दिक्कत होने की संभावना कम हो जाती है.

दही

पेट के लिए दही काफी उपयोगी माना जाता है. ये प्रोबायोटिक भोजन के तहत आता है जिसमें आंत के अनुकूल बैक्टीरिया होते हैं. दही आंत में खराब बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है और अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने में मदद करता है. जिससे पाचन क्रिया बेहतर होती है और पेट सम्बन्धी दिक्कतें कम होती हैं.

आम

आम भी पेट के लिए काफी बेहतर माना जाता है क्योंकि इसमें काफी मात्रा में फाइबर होता है. ये भी आंत के बैक्टीरिया को जीवित रखता है और इनके विकास में मदद करता है. साथ ही शरीर की चर्बी को कम करने और ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करता है.

ये भी पढ़ें: जानें कच्चा पनीर देता है सेहत को कितने सारे फायदे

नारियल तेल

नारियल तेल भी पेट को दुरुस्त रखने में काफी अच्छी भूमिका निभाता है. ये आंत में खराब बैक्टीरिया को ख़त्म करता है और अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ावा देने में मदद करता है. नारियल तेल में एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं. इसमें मौजूद फैटी एसिड पेट में एसिडिटी लेवल को भी बेहतर बनाने में मदद करते हैं.जिससे पेट सम्बन्धी कई तरह की दिक्कतें कम होती हैं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *