पीरियड्स के तेज दर्द से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपाय, नहीं पडेगी दवाई की जरुरत
स्वास्थ्य

पीरियड्स के तेज दर्द से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू उपाय, नहीं पडेगी दवाई की जरुरत

नई दिल्ली. हर लड़की को हर महीने पीरिएयड्स के दौरान होने वाली कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. मासिक धर्म के दौरान पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द होने की पीड़ा से हर महिला गुजरती है. ऐसे में आज हम आपको पीरियड्स में होने वाले पेट दर्द से बचने के लिए कुछ घरेलु उपाय बताने जा रहे हैं. आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि पीरियड्स डाइट (Periods Diet) में किशमिश, केसर और घी जैसी साधारण रसोई सामग्री की मदद से पीरियड्स के दर्द से निपटा जा सकता है.

ये भी पढ़ें- उत्तराखंड ने ओढ़ी बर्फ की चादर, PHOTOS देखकर घर बैठे लगने लगेगी ठंड

महिलाएं लेती हैं पेनकिलर का सहारा 
पीरियड्स में हर महिला को कई अलग तरह की शारीरिक और मानसिक समस्याएं परेशान करती हैं. लेकिन सबसे सामान्य समस्या है पेट के निचले हिस्से में तेज दर्द होना. इससे राहत पाने के लिए महिलाएं पेनकिलर का सहारा लेती हैं. जिसका आगे जाकर उन्हें नुकसान पहुंच सकता है. 

ये भी पढ़ें- संग्रहालय पर सियासत: योगी ने बदला था नाम, अखिलेश ने पहुंचकर कर दिया चुनावी एजेंडे का ऐलान

दर्द से बहुत परेशान तो करें हींग का सेवन
अगर आप भी पीरियड्स के दौरान पेट दर्द और दूसरी समस्याओं से बहुत परेशान हो जाती हैं तो आपको हींग का सेवन करना चाहिए. ऐसा आपको पीरियड्स के दौरान नहीं करना है. बल्कि पूरे महीने करना है. ये एक आयुर्वेदिक तरीका है, जो आपके पेंडू (पेट के निचले हिस्से) की मांसपेशियों को मजबूत करने, उनमें लचक बढ़ाने और पीरियड्स के दौरान दर्द पैदा करने वाले कारणों को दूर करती है.

दिन की शुरुआत किशमिश और केसर से करें
दो छोटे कटोरे लें. एक में काली किशमिश (4 या 5), और दूसरे में केसर (1-2) डालें. सुबह सबसे पहले इनका सेवन करें. ये पीरियड क्रैम्प्स और ब्लोटिंग की समस्या के लिए सबसे हैं. ये कब्ज को कम करने और आयरन की कमी को पूरा करने में भी मदद कर सकता है.

रोजाना करें केले का सेवन

रोजाना शाम को 4 या 6 बजे ताजे फल या केले का सेवन करें. यह आपको रात के खाने के लिए एक छोटे हिस्से का आकार देने में मदद करेगा. यह बदले में आपको बेहतर नींद लेने और नए सिरे से जागने में मदद करता है. केला पोटैशियम, फाइबर और विटामिन बी से भरपूर होता है.

गर्म पानी की बोतल या हीटिंग पैड
आप हॉट वॉटर बैग, हीटिंग पैड या फिर कांच की बोतल में गर्म पानी भरकर उससे पेट और कमर के निचले हिस्से की करीब 10-15 मिनट तक सिंकाई करें.  गर्म पानी की सिंकाई, पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को दूर करने के लिए ली जाने वाली दवाइयों की तरह ही काम करता है.

मेथी के बीज भी है फायदेमंद
मेथी के बीजों को वजन घटाने के गुणों के लिए जाना जाता है. ये आपके लिवर, किडनी और मेटाबॉलिज्म के लिए अच्छी मानी जाती हैं. ये आपके पीरियड के दिनों के लिए अच्छी हो सकती है. 12 घंटे पहले मेथी को पानी में भिगोना है, उसके बाद उसमें से मेथी को छान लें और उसका पानी पी लेना है.

ये भी पढ़ें- अनोखी विदाई; आसमान में उड़ी दुल्हन की डोली, देखने वालों का लगा हुजूम

इन दिक्कतों का करना पड़ता है सामना 
एसिडिटी – बदहजमी – कमर में दर्द – जांघों में दर्द होना – पिंडलियों में दर्द – सिरदर्द – ब्रेस्ट में भारीपन – वीकनेस कई महिलाओं को इतना ज्यादा दर्द होता है कि उनकी दिनचर्या बाधित हो जाती है. 

हर महीने होने वाली यह ब्‍लीडिंग आपको कमजोर भी बना सकती है. अगर आपको लगता है कि आपके पीरियड्स (Periods) बहुत हैवी होते हैं तो शायद आप एनीमिया (Anemia) की शिकार हो सकती हैं. एनीमिया तब होता है जब रक्त में पर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कणिकाएं या हीमोग्लोबिन नहीं होता है. इस बारे में अपने डॉक्टर से परामर्श कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- आगरा नगर निगम के 3 साल के कार्यकाल को BSP पार्षद नहीं मानते सफल, लगाए गंभीर आरोप

ये भी पढ़ें- VIDEO: उत्तरकाशी में बदला मौसम का मिजाज, मैदानी इलाकों में बढ़ेगी ठंड, देखिए Snowfall का शानदार नजारा

 

WATCH LIVE TV



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *