कॉफी पीने के बाद शरीर में ऐसे बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं जो फायदा पहुंचाते हैं.
स्वास्थ्य

पाचन संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए रोज पिएं कॉफी, शोध में हुआ खुलासा

कॉफी पीने के बाद शरीर में ऐसे बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं जो फायदा पहुंचाते हैं.

कॉफी (Coffee) पीने से पित्त की पथरी और पैन्क्रियाटाइटिस यानी अग्नाशय की सूजन सहित कुछ पाचन संबंधी विकारों (Digestion Problems) के छुटकारा मिल सकता है.



  • Last Updated:
    October 21, 2020, 12:15 PM IST

रोजाना कॉफी (Coffee) पीना पाचन (Digestion) के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. ऐसा दावा एक शोध में किया गया है. इस शोध में यह बात सामने आई है कि कॉफी पीने से पित्त की पथरी और पैन्क्रियाटाइटिस यानी अग्नाशय की सूजन सहित कुछ पाचन संबंधी विकारों के छुटकारा मिल सकता है. यह भी खुलासा किया गया कि कॉफी आंत की गतिशीलता को बढ़ावा देते हुए पाचन की प्रक्रिया में सहायता कर सकती है. कॉफी पर की गई इस शोध की रिपोर्ट ‘कॉफी और पाचन पर इसका प्रभाव’ शीर्षक के साथ इंस्टीट्यूट फॉर साइंटिफिक इंफॉर्मेशन ऑन कॉफी में प्रकाशित हुई है.

इटली के यूनिवर्सिटी ऑफ मिलान के वैज्ञानिकों के अनुसार, ‘शोध बताता है कि कॉफी का सेवन पाचन की आम समस्या जैसे कब्ज में लाभ पहुंचाता है. साथ-साथ लिवर की बीमारियों में कमी के संकेत देता है.’

पित्ताशय की पथरी का रोग एक आम पाचन विकार है. myUpchar के अनुसार पित्ताशय शरीर की पित्त प्रणाली का एक हिस्सा होता है, जिसमें पित्त नलिकाएं, अग्नाशय और लिवर आदि शामिल होते हैं. पित्ताशय की पथरी क्रिस्टल जैसा पदार्थ होता है जो पित्ताशय में बनता है. यह वयस्क आबादी का लगभग 10-15 प्रतिशत प्रभावित करता है.शोधकर्ताओं ने कहा कि किस तरीके से कॉफी पित्ताशय की बीमारी से बचा सकती है, इसके बारे में अभी खुलासा नहीं हुआ है, लेकिन यह देखा गया है कि कॉफी के रोजाना सेवन से जोखिम कम होता है. शोध में इस सवाल का जवाब भी खोजने की कोशिश की गई कि कॉफी सीने में जलन या गैस्ट्रो-ओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीओआरडी) तो पैदा नहीं करती? अधिकांश अध्ययनों का सुझाव है कि कॉफी इन स्थितियों के लिए जिम्मेदार नहीं है.

अध्ययनों से पता चलता है कि कॉफी पीने के बाद शरीर में ऐसे बैक्टीरिया बढ़ जाते हैं जो फायदा पहुंचाते हैं. कॉफी में फाइबर और पॉलीफेनोल्स पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए फायदेमंद हैं. कॉफी का सेवन गैस्ट्रिक एसिड, पित्त और अग्नाशय का स्राव करके पाचन सुधारता है.

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि कॉफी में कैफीन की वजह से इसे सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है और इससे शरीर पर ऊर्जादायक प्रभाव पड़ते हैं. कॉफी पीने के अन्य कई फायदे हैं, जिसमें वजन कम करना, थकावट दूर करना, दिल की बीमारी में लाभ, डायबिटीज में फायदा, पार्किंसन की समस्या, अवसाद के लिए, त्वचा के लिए आदि शामिल हैं. कॉफी गर्म होती है, इसलिए कुछ लोगों को पेट में जलन महसूस हो सकती है. ऐसे लोग कॉफी या चाय के अधिक सेवन से बचें. वहीं डायबिटीज के मरीजों के लिए कॉफी में शामिल शुगर मुश्किल पैदा कर सकती है. इसलिए सावधानी बरतें.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, ग्रीन कॉफी के फायदे और बनाने की विधि पढ़ें.न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *