अगर डायबिटीज के मरीज हैं, तो केले का फूल रामबाण इलाज है.
स्वास्थ्य

डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है केले का फूल, ऐसे करें इस्तेमाल

अगर डायबिटीज के मरीज हैं, तो केले का फूल रामबाण इलाज है.

डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों को केले के फूल (Banana Flower) उबालकर या ऐसे ही खाने चाहिए, ताकि यह रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकें और शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाएं.



  • Last Updated:
    October 19, 2020, 1:47 PM IST

डायबिटीज (Diabetes) एक ऐसी बीमारी है, जिसमें खून में मौजूद शुगर या ग्लूकोज का स्तर बहुत बढ़ जाता है. खाना खाने से ग्लूकोज मिलता है और इन्सुलिन (Insulin) नाम का हार्मोन इस ग्लूकोज को शरीर की कोशिकाओं में जाने में मदद करता है, ताकि उन्हें ताकत मिल सके. कई बार ब्लड शुगर बढ़ने के कारण शरीर के महत्वपूर्ण अंग क्षतिग्रस्त हो जाते हैं. डायबिटीज को नियंत्रित करने में आहार की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, क्योंकि खाने और पीने से ही शरीर में शुगर का स्तर बढ़ता है. myUpchar के अनुसार समय के साथ-साथ खून में बहुत ज्यादा ग्लूकोज होने की वजह से कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं और इससे आंखों, किडनी और नसों को नुकसान हो सकता है.

हालांकि, प्रकृति में मौजूद कई पौधों में आश्चर्यजनक औषधीय गुण पाए जाते हैं. केला भी एक ऐसा ही पेड़ है, जिसका फल न केवल फायदेमंद होता है, बल्कि इसके पत्ते, तना और फूल भी बहुत काम के माने जाते हैं. शोध के अनुसार, केले के फूल में ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद हो सकते हैं. कच्चे केले का फूल भी खा सकते हैं और उससे कई तरह के व्यंजन बना सकते हैं. यहां जानिए केले का फूल डायबिटीज में किस तरह फायदेमंद है और उसे कैसे खाना चाहिए.

केले का फूल इसलिए फायदेमंद है डायबिटीज में2011 में हुए शोध के अनुसार केले के फूल को डायबिटीज में रक्त शर्करा को नियंत्रित करने में लाभकारी पाया गया है. यह शोध डायबिटीज के चूहों पर किया गया था, जिनका वजन बहुत अधिक था और उनके रक्त व मूत्र में बहुत अधिक शुगर थी. अध्ययन में पाया गया कि केले के फूलों को खाने से इन चूहों के शरीर में रक्त शर्करा का स्तर को काफी कम हो गया. इसी तरह, 2013 में किए गए एक अन्य शोध में समान नतीजे मिले. नेशनल सेंटर ने यह शोध बायो-टेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन के लिए किया था. इस शोध के अनुसार, केले के फूल के सेवन से मरीज के शरीर में एक विशेष प्रकार के प्रोटीन का निर्माण कम हो जाता है, जिसे शर्करा को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है.

दुनियाभर में डायबिटीज के 80 प्रतिशत से अधिक मामले टाइप 2 डायबिटीज के हैं. टाइप 2 डायबिटीज वाले लोग आमतौर पर गतिहीन जीवनशैली वाले होते हैं. अगर डायबिटीज के मरीज हैं, तो केले का फूल रामबाण इलाज है. इसका कारण यह है कि केले का फूल न केवल शरीर में शर्करा की मात्रा को कम करता है बल्कि वजन को कम करता है, कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और पेट को स्वस्थ रखता है.

डायबिटीज के मरीज ऐसे करें केले के फूल का सेवन

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि डायबिटीज के मरीजों को केले के फूल उबालकर या ऐसे ही खाने चाहिए, ताकि यह रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकें और शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ाएं. इसकी वजह यह है कि यह फाइबर और आयरन से भरपूर होता है जो लाल रक्त कोशिका के उत्पादन में मदद करता है. कढ़ाई में तेल गर्म करें और आधा चम्मच राई डालें. फिर उड़द दाल और चना दाल डालकर ढक दें. भूरा हो जाने तक देखें और फिर थोड़े करी पत्तियों को मिलाएं. फिर कटे हुए केले के फूल, एक चम्मच सांभर पाउडर, एक चौथाई छोटा चम्मच हल्दी पाउडर और नमक मिक्स करें. इसे ढक कर पकने दें. फिर गर्मागर्म परोसें. डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत लाभकारी है.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, इंफेक्शन से लेकर, कैंसर, चिंता और दिल के लिए केले के फूल के फायदे पढ़ें. न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *