जानवरों के क्यूट वीडियोज करते हैं तनाव भी कम: स्टडी
स्वास्थ्य

जानवरों के क्यूट वीडियोज करते हैं तनाव भी कम: स्टडी | health – News in Hindi

क्यूट जानवरों के वीडियो देखने से 50 प्रतिशत तक तनाव कम हो सकता हैं. Image Credit/Pexels Anna-Shvets

एक स्‍टडी (Study) के मुताबिक अगर आप सोने से पहले अपने बिस्तर पर बैठ कर जानवरों के क्यूट वीडियोज (Cute Videos of Animals) देखना पसंद करते हैं, तो निश्चित रूप से यह आपके तनाव (Stress) को कम करने में मदद कर सकता हैं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 29, 2020, 7:15 PM IST

तनाव (Stress) के बगैर जिंदगी (Life) की कल्पना नहीं की जा सकती. एक हद तक मनोवैज्ञानिक तनाव हमारे जीवन का एक ऐसा हिस्सा होता है, जो सामान्य व्यक्तित्व विकास के लिए आवश्यक साबित हो सकता है. तनाव को किसी ऐसे शारीरिक, रासायनिक या भावनात्मक कारक के रूप में समझा जा सकता है, जो शारीरिक और मानसिक बेचैनी उत्पन्न करे और वह रोग निर्माण का एक कारक बन सकता है. क्या आप जानते हैं कि इंटरनेट स्क्रॉलिंग (Internet Scrolling) तनाव के स्तर को कम करने में मदद कर सकता हैं? जबकि ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को चिंता और अवसाद के साथ जोड़ा गया है, लेकिन इंटरनेट इस तरह से खराब नहीं माना गया है. अगर आप वीडियो के माध्यम से रात में सोते समय अपने बिस्तर पर बैठ कर जानवरों के क्यूट वीडियोज (Cute Videos of Animals) देखते हैं तो निश्चित रूप से यह आपके मस्तिष्क को शांत करने में मदद कर सकता हैं.

एक नए अध्ययन के अनुसार क्यूट जानवरों का वीडियो देखना आपके लिए उपयोगी हो सकता है. एक अध्ययन में बताया गया है कि क्यूट जानवरों का वीडियो देखना आपके तनाव के स्तर को लगभग 50 प्रतिशत तक कम कर सकता हैं. यूनाइटेड किंगडम के लीड्स विश्वविद्यालय ने वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया टूरिज्म के साथ साझेदारी करके एकअध्ययन को First Stop Singapore में प्रकाशित किया गया था. इस समूह ने अपने अध्ययन में बताया कि प्यारे जानवरों को देखने से कुछ मिनट तनाव और चिंता को कम कर सकते हैं. अध्ययन में स्वयं सेवकों को तीस मिनट तक क्यूट जानवरों के चित्र और वीडियो को दिखाया गया और इसमें पाया गया कि इसका असर उनके रक्तचाप, हृदय गति और चिंता पर पड़ता हैं.

CNN को प्रमुख वैज्ञानिकों में से एकडॉ. एंड्रिया यूटली ने बताया कि क्यूटनेस के इस तीस मिनट के वीडियो को हमने बनाया जिसमें से कुछ बिल्ली के बच्चे थे, कुछ पिल्ले थे, कुछ बच्चे गोरिल्ला थे, कुछ Quokka थे. पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया में पाए जाने वाले क्वोका को अक्सर दुनिया का सबसे खुशहाल जानवर कहा जाता है. उसके चेहरे का हिस्सा एक स्थायी मुस्कान की तरह दिखता है.

यह मूल शोध दिसंबर 2019 में आयोजित किया गया था जिसमें कुल उन्नीस स्वयं सेवक थे. इसमें पंद्रह छात्र और चार कर्मचारी शामिल हुए थे. यह दिसंबर में आयोजित किया गया था, क्योंकि सर्दियों की परीक्षा काफी तनावपूर्ण समय में होती है, खासकर मेडिकल छात्रों के लिए. हर एक मामले में इन वीडियो को देखने के तीस मिनट बाद रक्तचाप, हृदय गति और चिंता कम हो गई. हृदय की दर में औसतन 6.5% की कमी और जहां चिंता में 35% की कमी आई. सभी उम्मीदवारों का रक्तचाप “आदर्श दबाव सीमा” पर आ गया.जबकि हृदय गति और बीपी को उपकरणों की मदद से मापना आसान है, जबकि चिंता को मापना मुश्किल है. अध्ययन में यह भी पता चला कि अधिकांश लोग अभी भी विशेष रूप से जानवरों और मानव संबंधों के साथ वाले वीडियो देखना पसंद करते हैं. इसलिए, अगर आप तनाव महसूस कर रहे हैं और आपके पास तीस मिनट हैं, तो इस तरह का वीडियो देख सकते हैं.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *